UPSC Exam   »   SDG Urban Index 2021-22   »   Atal Ranking of Institutions on Innovation...

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) 2021

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) – यूपीएससी परीक्षा हेतु प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 2: शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकार की नीतियां एवं अंतःक्षेप तथा उनकी अभिकल्पना एवं कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे।

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) 2021_40.1

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए)- संदर्भ

  • हाल ही में, शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल ने इनोवेशन अचीवमेंट्स (एआरआईआईए) 2021 पर संस्थानों की अटल रैंकिंग जारी की।

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग – प्रमुख बिंदु

  • नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग के बारे में: नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) भारत में सभी प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थानों एवं विश्वविद्यालयों को व्यवस्थित रूप से रैंक करने हेतु शिक्षा मंत्रालय की एक पहल है।
  • रैंकिंग संकेतक: एआरआईआईए छात्रों एवं संकायों के मध्य “नवाचार एवं उद्यमिता विकास” से संबंधित संकेतकों पर संस्थानों को रैंक करता है।
  • संस्थानों का वर्गीकरण: नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) ने भाग लेने वाले संस्थानों को पांच प्रमुख श्रेणियों में वर्गीकृत करता है-
    • तकनीकी एवं
    • गैर तकनीकी।
  • विचार हेतु प्रमुख संकेतक: समग्र स्कोर का अधिकतम मान 100 हो सकता है। एआरआईआईए संस्थानों की रैंकिंग तैयार करने हेतु निम्नलिखित संकेतकों का उपयोग करता है-
    • बजट एवं वित्तपोषण सहायता।
    • अवसंरचना एवं सुविधाएं।
    • आइडिया जनरेशन एवं नवाचार हेतु जागरूकता, प्रचार तथा समर्थन।
    • उद्यमिता विकास के लिए प्रोत्साहन एवं सहयोग।
    • अभिनव अधिगम पद्धतियां एवं पाठ्यक्रम।
    • बौद्धिक संपदा सृजन, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण एवं व्यवसायीकरण।
    • संस्थान के शासन में नवाचार।
  • वर्गीकरण हेतु श्रेणीबद्ध करना: नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) संस्थानों को छह श्रेणियों में वर्गीकृत करती है-
  1. गैर-तकनीकी उच्च शिक्षण संस्थान,
  2. केंद्र द्वारा वित्त पोषित संस्थान,
  3. राज्य द्वारा वित्त पोषित विश्वविद्यालय,
  4. राज्य द्वारा वित्त पोषित स्वायत्त संस्थान
  5. निजी/मानित विश्वविद्यालय,
  6. निजी संस्थान

एआरआईआईए 2021- प्रमुख विशेषताएं 

  • एआरआईआईए रैंकिंग भारतीय संस्थानों को उच्च गुणवत्ता वाले अनुसंधान, नवाचार एवं उद्यमिता को प्रोत्साहित करने हेतु अपनी मानसिकता को पुनःअभिमुखीकृत करने एवं पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करने हेतु प्रेरित करेगी।
  • एआरआईआईए नवाचारों की गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करेगा एवं राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इन नवाचारों द्वारा निर्मित किए गए वास्तविक प्रभाव को मापने का प्रयास करेगा।
  • एआरआईआईए भविष्य के विकास के लिए संस्थानों को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी एवं नवाचार के मामले में सर्वाधिक अग्रणी बनाने हेतु स्वर एवं दिशा निर्धारित करेगा।

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) 2021_50.1

नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग (एआरआईआईए) 2021 रैंकिंग सूची

  • राष्ट्रीय महत्व के संस्थान, केंद्रीय विश्वविद्यालय एवं सीएफटीआई
    • रैंक 1: आईआईटी-मद्रास
    • रैंक 2: आईआईटी-बॉम्बे
    • रैंक 3: आईआईटी-दिल्ली
    • रैंक 4: आईआईटी, कानपुर
    • रैंक 5: आईआईटी-रुड़की
    • रैंक 6: आईआईएससी
    • रैंक 7: आईआईटी-हैदराबाद
    • रैंक 8: आईआईटी-खड़गपुर
    • रैंक 9: एनआईटी-कालीकट
    • रैंक 10: मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान
  • सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त विश्वविद्यालयों में, रैंक-धारक थे –
    • रैंक 1: पंजाब विश्वविद्यालय
    • रैंक 2: दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
    • रैंक 3: नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
    • रैंक 4: चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय
    • रैंक 5: अविनाशिलिंगम इंस्टिट्यूट फॉर होम साइंस एंड हायर एजुकेशन फॉर वूमेन
    • रैंक 6: रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान
    • रैंक 7: गुजरात टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी
  • सरकारी एवं सरकारी सहायता प्राप्त महाविद्यालय / संस्थान
    • रैंक 1: इंजीनियरिंग कॉलेज पुणे
    • रैंक 2: पीएसजी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी
    • रैंक 3: एल. डी. कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग
    • रैंक 4: थियागराजर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग
    • रैंक 5: वीरमाता जीजाबाई प्रौद्योगिकी संस्थान
  • निजी अथवा स्व-वित्तपोषित विश्वविद्यालय
    • रैंक 1: कलिंग औद्योगिक प्रौद्योगिकी संस्थान खोरधा
    • रैंक 2: चितकारा विश्वविद्यालय
    • रैंक 3: लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी
    • रैंक 4: एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी
    • रैंक 5: पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय
  • निजी अथवा स्व-वित्तपोषित महाविद्यालय / संस्थान
    • रैंक 1: जी. एच. रायसोनी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, नागपुर
    • रैंक 2: आर. एम. के. इंजीनियरिंग कॉलेज
    • रैंक 3: केआईईटी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस
    • रैंक 4: श्रीकृष्ण कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी
    • रैंक 5: नीति मीनाक्षी प्रौद्योगिकी संस्थान
  • राष्ट्रीय महत्व के संस्थान, केंद्रीय विश्वविद्यालय एवं सीएफटीआई (गैर-तकनीकी)
    • रैंक 1: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
    • रैंक 2: भारतीय प्रबंधन संस्थान कोझीकोड
  • सामान्य (गैर-तकनीकी): शीर्ष 5 रैंक
    • रैंक 1: भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान
    • रैंक 2: श्री नारायण कॉलेज
    • रैंक 3: महात्मा गांधी विश्वविद्यालय
    • रैंक 4: पीएसजी कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंस
    • रैंक 5: होली क्रॉस कॉलेज, तिरुचिरापल्ली
उपभोक्ता संरक्षण (प्रत्यक्ष बिक्री) नियम, 2021 संपादकीय विश्लेषण: नॉर्ड स्ट्रीम पाइपलाइन में परेशानी की एक झलक  एआईएम नीति आयोग ने ‘इनोवेशन फॉर यू’ एवं ‘द इनजेनियस टिंकरर्स’ जारी किए भारत में प्रमुख एवं लघु बंदरगाह
पीएम-किसान योजना स्टेट ऑफ इंडियाज लाइवलीहुड (सॉयल) रिपोर्ट 2021 नीति आयोग ने यूएनडब्ल्यूएफपी के साथ एक स्टेटमेंट ऑफ इंटेंट पर हस्ताक्षर किए- जलवायु प्रतिस्कंदी कृषि का सुदृढ़ीकरण खाद्य तेल पर राष्ट्रीय मिशन- ऑयल पाम बिजनेस समिट
जेम्स वेब टेलीस्कोप संपादकीय विश्लेषण- राजनीतिक इच्छाशक्ति का अभाव विदेशी अंशदान विनियमन अधिनियम नीति आयोग का राज्य स्वास्थ्य सूचकांक

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.
Was this page helpful?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *