UPSC Exam   »   भारत में प्रमुख एवं लघु बंदरगाह

भारत में प्रमुख एवं लघु बंदरगाह

भारत में प्रमुख एवं लघु बंदरगाह

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के लिए भारत के प्रमुख एवं छोटे बंदरगाह अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। इसके अतिरिक्त, यह अन्य  प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए भी महत्वपूर्ण है एवं यदि इसे ठीक से किया जाए, तो यह भूगोल में अधिक प्रयास किए बिना करने योग्य खंडों में से एक है।

भारत में बंदरगाह क्षेत्र बाह्य व्यापार में उच्च वृद्धि से प्रेरित है। वित्त वर्ष 2012 में, विगत वर्ष की तुलना में भारत के प्रमुख बंदरगाहों द्वारा नियंत्रित कार्गो यातायात में 14% की वृद्धि हुई थी।

भारत में प्रमुख एवं लघु बंदरगाह_40.1

भारतीय बंदरगाह उद्योग

  • जहाजरानी (शिपिंग) मंत्रालय के अनुसार, भारत का लगभग 95% व्यापार मात्रा के हिसाब से एवं 70% मूल्य के हिसाब से समुद्री परिवहन के माध्यम से किया जाता है।
  • भारत में 13 प्रमुख बंदरगाह हैं एवं 200 से अधिक अधिसूचित लघु एवं मध्यवर्ती बंदरगाह हैं।
  • केंद्र सरकार ने बंदरगाह एवं बंदरगाह निर्माण तथा रखरखाव परियोजनाओं के लिए स्वचालित मार्ग के तहत 100% तक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की अनुमति प्रदान की है।
  • सरकार ने बंदरगाहों, अंतर्देशीय जलमार्गों एवं अंतर्देशीय बंदरगाहों का विकास, रखरखाव एवं संचालन करने वाले उद्यमों को 10 वर्ष के कर अवकाश की भी सुविधा प्रदान की है।

 

प्रमुख एवं छोटे बंदरगाहों के मध्य अंतर

प्रमुख बंदरगाह लघु बंदरगाह
केंद्रीय जहाजरानी मंत्रालय द्वारा प्रबंधित राज्य सरकार द्वारा प्रबंधित
अंतरराष्ट्रीय व्यापार तटीय एवं मत्स्यन (मछली पकड़ने का) व्यापार संभालता है
10 लाख से अधिक यातायात  10 लाख से कम यातायात

 

भारत में प्रमुख एवं लघु बंदरगाह_50.1

भारत में प्रमुख बंदरगाह

 

बंदरगाह राज्य महत्वपूर्ण बिंदु
कोलकाता बंदरगाह पश्चिम बंगाल इसे श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंदरगाह भी कहा जाता है। भारत में एकमात्र नदी तटीय प्रमुख बंदरगाह।
पारादीप बंदरगाह ओडिशा भारत के पूर्वी तट पर पहला प्रमुख बंदरगाह।
न्यू मंगलौर पोर्ट कर्नाटक लौह अयस्क का निर्यात करता है।
विशाखापत्तनम बंदरगाह आंध्र प्रदेश भारत का सबसे गहरा स्थल रुद्ध (लैंडलॉक) बंदरगाह। यह कच्चे तेल एवं पेट्रोलियम उत्पादों से संबंधित है।
जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह महाराष्ट्र भारत में सर्वाधिक वृहद कंटेनर पोर्ट। भारत में सर्वश्रेष्ठ वैश्विक बंदरगाह।
मुंबई पोर्ट महाराष्ट्र भारत का सर्वाधिक पुराना एवं  सर्वाधिक वृहद बंदरगाह। भारत में सबसे ज्यादा यातायात को हैंडल करता है।
कांडला बंदरगाह गुजरात ज्वारीय बंदरगाह एवं मुक्त व्यापार क्षेत्र। खाद्य तेल, कच्चा तेल, नमक, कपास, खाद्यान्न के व्यापार से संबंधित है।
कोच्चि बंदरगाह केरल इसे प्राकृतिक प्रवेश द्वार कहा जाता है। यह भारत का एक प्राकृतिक बंदरगाह भी है। चाय, कॉफी एवं मसालों के व्यापार से संबंधित है।
चेन्नई बंदरगाह तमिलनाडु भारत के पूर्वी तट का सर्वाधिक वृहद बंदरगाह। यह भारत का दूसरा सर्वाधिक वृहद बंदरगाह भी है।
तूतीकोरिन बंदरगाह तमिलनाडु इसका नाम परिवर्तित कर वी. ओ. चिदंबरनार बंदरगाह कर दिया गया।
एन्नोर बंदरगाह तमिलनाडु भारत में पहला कॉर्पोरेट बंदरगाह।
पोर्ट ब्लेयर बंदरगाह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह भारत का सबसे छोटा प्रमुख बंदरगाह।
मोरमुगाओ बंदरगाह गोवा भारत से लौह अयस्क के निर्यात में अग्रणी है।

 

पीएम-किसान योजना स्टेट ऑफ इंडियाज लाइवलीहुड (सॉयल) रिपोर्ट 2021 नीति आयोग ने यूएनडब्ल्यूएफपी के साथ एक स्टेटमेंट ऑफ इंटेंट पर हस्ताक्षर किए- जलवायु प्रतिस्कंदी कृषि का सुदृढ़ीकरण खाद्य तेल पर राष्ट्रीय मिशन- ऑयल पाम बिजनेस समिट
जेम्स वेब टेलीस्कोप संपादकीय विश्लेषण- राजनीतिक इच्छाशक्ति का अभाव विदेशी अंशदान विनियमन अधिनियम नीति आयोग का राज्य स्वास्थ्य सूचकांक
शहरी भारत को ‘कचरा मुक्त’ बनाने हेतु रोडमैप विमोचित प्रमुख बंदरगाहों में पीपीपी परियोजनाओं हेतु टैरिफ दिशा निर्देश संपादकीय विश्लेषण: प्लास्टिक अपशिष्ट से निपटने की योजना में खामियां विश्व व्यापार संगठन मंत्रिस्तरीय सम्मेलन

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *