Home   »   National Startup Advisory Council   »   States' Startup Ranking 2021

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021- प्रमुख निष्कर्ष

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021: राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग DPIIT द्वारा जारी की जाती है जो राज्य में स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र को प्रोत्साहन देने के लिए विभिन्न राज्यों द्वारा प्रदान किए गए समर्थन एवं सुविधा का आकलन करती है। राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021 यूपीएससी की मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन के पेपर 2 (शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- सरकार की नीतियां तथा विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए अंतक्षेप तथा उनकी अभिकल्पना एवं कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दों) का हिस्सा है।

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021- प्रमुख निष्कर्ष -_3.1

समाचारों में राज्यों की स्टार्ट-अप रैंकिंग 2021 

  • राज्यों की स्टार्ट-अप रैंकिंग 2021 हाल ही में केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग, कपड़ा तथा उपभोक्ता मामलों के मंत्री द्वारा जारी की गई थी।

 

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग के बारे में प्रमुख तथ्य

  • राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग  के बारे में: राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग अभ्यास 2018 में प्रारंभ किया गया था जो उदीयमान उद्यमियों के लिए स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को सुदृढ़ करने हेतु एक  सरल नियामक वातावरण प्रदान करने के मामले में राज्यों  एवं केंद्र शासित प्रदेशों को श्रेणीकृत (रैंक) करता है।
  • अधिदेश: राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग का उद्देश्य राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को स्टार्टअप के विकास के लिए नियमों को सरल बनाने एवं स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के समर्थन को मजबूत करने की दिशा में  कार्य करने हेतु प्रोत्साहित करना है।
  • जारीकर्ता मंत्रालय: वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड/DPIIT) द्वारा राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग जारी की जाती है।
  • महत्व: राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग प्रतिस्पर्धी एवं सहकारी संघवाद के भारत के दृष्टिकोण को प्रोत्साहन देने में सहायता करती है।
  • मूल्यांकन मापदंड: प्रतिभागियों का मूल्यांकन 7 व्यापक सुधार क्षेत्रों में किया गया था जिसमें 26 कार्य बिंदु सम्मिलित थे जैसे-
    • संस्थागत समर्थन,
    • नवाचार एवं उद्यमिता को बढ़ावा देना,
    • बाजार तक पहुंच,
    • ऊष्मायन समर्थन,
    • अनुदान सहायता,
    • मेंटरशिप सहायता,
    • सक्षमकर्ताओं का क्षमता निर्माण।
  • भागीदारी: कुल 24 राज्यों एवं 7 केंद्र शासित प्रदेशों ने राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021 अभ्यास में भाग लिया।
    • राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2020 अभ्यास में, मात्र 25 राज्यों  एवं केंद्र शासित प्रदेशों ने भाग लिया था।
  • वर्गीकरण: राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग के प्रयोजनों के लिए, राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को 5 श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है, अर्थात
    • बेस्ट परफॉमर्स,
    • टॉप परफॉमर्स,
    • लीडर्स,
    • एस्पायरिंग लीडर्स एवं
    • इमर्जिंग स्टार्टअप इकोसिस्टम्स।

 

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021- प्रमुख निष्कर्ष -_4.1

राज्यों की स्टार्टअप रैंकिंग 2021 के परिणाम

  • गुजरात एवं कर्नाटक राज्यों की एक श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनकर्ता के रूप में उभरे, जिसमें राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली भी सम्मिलित थी।
  • मेघालय ने केंद्र शासित प्रदेशों एवं उत्तर-पूर्वी (नॉर्थ ईस्टर्न/एनई) राज्यों में शीर्ष सम्मान जीता।
  • जबकि केरल, महाराष्ट्र, उड़ीसा  एवं तेलंगाना को राज्यों के मध्य शीर्ष प्रदर्शनकर्ता का पुरस्कार प्राप्त हुआ, जम्मू  एवं कश्मीर केंद्र शासित प्रदेशों तथा पूर्वोत्तर राज्यों में शीर्ष प्रदर्शनकर्ता के रूप में उभरा।
  • असम, पंजाब, तमिलनाडु, उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश को राज्यों के मध्य नेतृत्वकर्ता श्रेणी में विजेता घोषित किया गया;
  • अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश एवं गोवा ने केंद्र शासित प्रदेशों तथा पूर्वोत्तर राज्यों में नेतृत्वकर्ताओं का सम्मान प्राप्त किया।
  • राज्यों के मध्य छत्तीसगढ़, दिल्ली, मध्य प्रदेश एवं राजस्थान को आकांक्षी नेतृत्वकर्ता घोषित किया गया।
  • चंडीगढ़, दादरा एवं नगर हवेली तथा दमन एवं दीव, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, नागालैंड, पुडुचेरी  तथा त्रिपुरा केंद्र शासित प्रदेशों  एवं पूर्वोत्तर राज्यों के आकांक्षी नेतृत्वकर्ता थे।
  • राज्यों की श्रेणी से आंध्र प्रदेश एवं बिहार तथा केंद्र शासित प्रदेशों/पूर्वोत्तर राज्यों से मिजोरम एवं लद्दाख को  उदीयमान स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र (इमर्जिंग स्टार्ट-अप इकोसिस्टम) के तहत एकत्रित (क्लब) किया गया था।

 

अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस 2022: इतिहास, विषय एवं महत्व 2022 में रुपये का मूल्यह्रास: भारतीय रुपया रिकॉर्ड न्यूनतम पर नीति आयोग ने जारी किया टेक होम राशन रिपोर्ट राष्ट्रीय जांच एजेंसी: एनआईए ने उदयपुर हत्याकांड के कार्यभार को संभाला
वित्तीय सेवा संस्थान ब्यूरो संपादकीय विश्लेषण- वेक-अप कॉल चीन की एक देश, दो प्रणाली नीति वृतिका शोध प्रशिक्षुता
भारत में पुलिस सुधार: मुद्दे, सिफारिशें, सामुदायिक पुलिसिंग उद्यमी भारत कार्यक्रम भारत-आईआरईएनए सामरिक साझेदारी समझौता हीट वेव्स 2022: परिभाषा, कारण, प्रभाव एवं आगे की राह

Sharing is caring!