Home   »   Kashi Vishwanath Temple   »   Amritsar-Jamnagar Corridor

अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर

अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 3: भारतीय अर्थव्यवस्था– आधारिक अवसंरचना: ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, हवाई अड्डे, रेलवे  इत्यादि।

अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर_40.1

अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर

  • हाल ही में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा है कि अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर का निर्माण पूरी क्षमता से किया जा रहा है।
  • बीकानेर से जोधपुर के 277 किलोमीटर के खंड को इस वर्ष के अंत तक पूरा करने एवं  जनता के लिए खोलने का लक्ष्य है।

 

अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर के बारे में प्रमुख बिंदु

  • अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर के बारे में: अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया/NHAI) द्वारा विकसित किए जा रहे सर्वाधिक महत्वपूर्ण ग्रीन फील्ड कॉरिडोर में से एक है।
    • संपूर्ण अमृतसर-जामनगर ग्रीनफील्ड कॉरिडोर सितंबर 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य है।
  • लंबाई: अमृतसर-जामनगर ग्रीनफील्ड कॉरिडोर 1,224 किमी लंबा है तथा अमृतसर-भटिंडा-जामनगर को जोड़ता है। इसे अमृतसर-भटिंडा-जामनगर कॉरिडोर भी कहा जाता है।
  • लागत: अमृतसर-भटिंडा-जामनगर कॉरिडोर 26,000 करोड़ रुपये की कुल पूंजीगत लागत से विकसित किया जा रहा है।
  • महत्वपूर्ण शहरों, कस्बों तथा राज्यों को जोड़ा जाएगा: अमृतसर-भटिंडा-जामनगर कॉरिडोर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान एवं गुजरात के चार राज्यों में अमृतसर, बठिंडा, संगरिया, बीकानेर, सांचौर, समाख्याली तथा जामनगर के आर्थिक शहरों को जोड़ेगा।
    • अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर देश के उत्तरी औद्योगिक एवं कृषि केंद्रों को जामनगर  तथा कांडला जैसे पश्चिमी भारत के प्रमुख बंदरगाहों से जोड़ेगा।
  • महत्व: अमृतसर-जामनगर ग्रीनफील्ड कॉरिडोर औद्योगिक क्रांति को प्रोत्साहित करने में सहायता करेगा जो बद्दी, बठिंडा एवं लुधियाना के औद्योगिक क्षेत्र को सहायक मार्गों के माध्यम से  एवं जम्मू  तथा कश्मीर राज्य को दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस वे के माध्यम से जोड़ता है।
    • ट्रांस-राजस्थान कॉरिडोर ईंधन के लिए पारगमन समय एवं  रसद लागत को उल्लेखनीय रूप से कम कर देगा तथा प्रतिस्पर्धी वैश्विक निर्यात बाजार में गौरवान्वित एवं आत्मविश्वास पूर्ण होने में सहायता करेगा।

 

ग्रीन फील्ड परियोजना क्या है?

  • एक ग्रीनफील्ड परियोजना शून्य से प्रारंभ की गई होती है एवं परियोजना स्थल पर पूर्ववर्ती कार्य की बाधाओं का अभाव होता है।
    • इसका तात्पर्य है कि कोई वर्तमान भवन अथवा बुनियादी ढांचा उपलब्ध नहीं होता है।
  • ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट में बिना किसी मौजूदा विकास के ग्रीनफील्ड भूमि पर निर्मित ढांचागत, औद्योगिक, विनिर्माण एवं शहरी विकास परियोजनाएं सम्मिलित हो सकती हैं।

अमृतसर-जामनगर ग्रीन फील्ड कॉरिडोर_50.1

ब्राउनफील्ड परियोजना क्या है?

  • “ब्राउन फील्ड” परियोजना आम तौर पर वाणिज्यिक/औद्योगिक भूमि को संदर्भित करती है जिसे शीघ्र ही उन्नत किया जाएगा।
  • ब्राउनफील्ड की संपत्तियां बड़ी हो सकती हैं (उदाहरण के लिए, निर्माण स्थल तथा औद्योगिक संयंत्र)  अथवा छोटे (परित्यक्त ड्राई क्लीनर, गैस स्टेशन)एवं आवश्यक नहीं कि वे दूषित हों।

 

भारत में चावल का प्रबलीकरण: कार्यकर्ताओं ने उठाई स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं भारत के सकल घरेलू उत्पाद पर प्रदूषण का प्रभाव- लैंसेट आयोग की रिपोर्ट संपादकीय विश्लेषण: मारियुपोल का पतन हंसा-एनजी | भारत का प्रथम उड्डयन प्रशिक्षक 
भारत में असमानता की स्थिति की रिपोर्ट महापरिनिर्वाण मंदिर संपादकीय विश्लेषण- सिंबॉलिज्म एंड बियोंड कैबिनेट ने जैव ईंधन पर राष्ट्रीय नीति 2018 में संशोधन को स्वीकृति दी
वैवाहिक बलात्कार की व्याख्या – वैवाहिक बलात्कार पर कानून एवं वैवाहिक बलात्कार पर न्यायिक निर्णय  गगनयान कार्यक्रम: इसरो ने सॉलिड रॉकेट बूस्टर  का सफल परीक्षण किया गति शक्ति संचार पोर्टल एसोसिएशन ऑफ एशियन इलेक्शन अथॉरिटीज (एएईए) – भारत एएईए के अध्यक्ष के रूप में निर्वाचित
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.