Home   »   ‘विश्व के वृक्षों का शहर’ विश्व...

‘विश्व के वृक्षों का शहर’ विश्व का टैग

ट्री सिटी यूपीएससी: प्रासंगिकता

  • जीएस 2: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण एवं क्षरण, पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन।

‘विश्व के वृक्षों का शहर’ विश्व का टैग_40.1

विश्व का वृक्ष शहर: संदर्भ

  • हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन ( यूनाइटेड नेशंस- फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन/-यूएन-एफएओ)  एवं आर्बर डे फाउंडेशन ने संयुक्त रूप से मुंबई तथा हैदराबाद को ‘2021 ट्री सिटी ऑफ द वर्ल्ड’ के रूप में मान्यता प्रदान की है।

 

विश्व का वृक्ष शहर: प्रमुख बिंदु

  • दो भारतीय शहरों को स्वस्थ, लोचशील एवं खुशहाल शहरों के निर्माण में शहरी वृक्षों एवं हरियाली को उगाने एवं बनाए रखने की उनकी प्रतिबद्धता के लिए यह मान्यता प्राप्त हुई है।
  • गौरतलब है कि मुंबई ने जहां प्रथम बार इस सूची में जगह बनाई है, वहीं हैदराबाद ने लगातार दूसरे वर्ष इस सूची में स्थान बनाई है।
  • अधिकतम वृक्ष शहरों वाले देशों में क्रमशः 37, 19 एवं 18 शहरों के साथ अमेरिका, ब्रिटेन एवं कनाडा  सम्मिलित हैं।

 

विश्व के वृक्ष नगर कौन से हैं?

  • ‘ट्री सिटीज ऑफ द वर्ल्ड’ संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (यूएन एफएओ) तथा अमेरिकी गैर-लाभकारी संगठन आर्बर डे फाउंडेशन द्वारा प्रारंभ की गई एक पहल है।
  • यह एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त प्रयास है “उन शहरों तथा कस्बों को पहचानने के लिए जो यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि उनके शहरी वनों एवं वृक्षों को उचित प्रकार से बनाए रखा जाए,  सतत रूप से प्रबंधित किया जाए एवं विधिवत मनाया जाए”।
  • कार्यक्रम शहरी वन के प्रति समुदाय के समर्पण के लिए दिशा, सहायता एवं विश्वव्यापी मान्यता प्रदान करता है।
  • इसके अतिरिक्त, कार्यक्रम एक शहर अथवा नगर में एक स्वस्थ, सतत शहरी वानिकी कार्यक्रम के लिए एक रूपरेखा प्रदान करता है।

 

एक शहर को ट्री सिटी के रूप में किस प्रकार मान्यता प्रदान की जाती है?

  • एक शहर को ‘ट्री सिटी’ के रूप में मान्यता दी जाती है यदि वह अपने वृक्षों एवं वनों की देखभाल के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित करने हेतु पांच मुख्य मानकों को पूरा करता है।
  • ट्री सिटी के रूप में नामित होने के लिए,
    • एक शहर के पास एक लिखित वक्तव्य होना चाहिए जो नगर पालिका सीमा के भीतर वृक्षों की देखभाल के लिए एक स्टाफ सदस्य, एक शहर विभाग अथवा नागरिकों के समूह को उत्तरदायित्व सौंपता है – जिसे ट्री बोर्ड कहा जाता है।
    • वनों एवं वृक्षों के प्रबंधन को नियंत्रित करने के लिए शहर में एक कानून होना चाहिए।
    • शहर में स्थानीय वृक्ष संसाधनों की अद्यतन सूची या मूल्यांकन होना चाहिए ताकि शहर के वृक्षों को लगाने, देखभाल करने तथा हटाने के लिए एक प्रभावी दीर्घकालिक योजना स्थापित की जा सके।
    • वृक्ष प्रबंधन योजना के कार्यान्वयन के लिए शहर के पास एक समर्पित वार्षिक बजट होना चाहिए।
    • लोगों के मध्य जागरूकता में वृद्धि करने तथा वृक्ष कार्यक्रम को क्रियान्वित करने वाले नागरिकों के प्रति आभार प्रकट करने के लिए शहर को वृक्षों के वार्षिकोत्सव का आयोजन करना चाहिए।

‘विश्व के वृक्षों का शहर’ विश्व का टैग_50.1

हैदराबाद एवं मुंबई क्यों?

  • ‘विश्व के वृक्ष शहर’ कार्यक्रम के तहत वर्ष 2021 के लिए कुल 138 शहरों को मान्यता प्रदान की गई है
  • हैदराबाद ने 500 स्वयंसेवक घंटों में 3.5 करोड़ से अधिक वृक्ष लगाए तथा मुंबई ने 25,000 स्वयंसेवक घंटों में 42,5000 वृक्ष लगाए।

 

सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज: परिभाषा, वर्तमान स्थिति एवं सिफारिशें राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान (आरजीएसए) | आरजीएसए विस्तारित की संशोधित योजना संपादकीय विश्लेषण- विकास की पीड़ा  गैर संक्राम्य रोगों (एनसीडी) पर वैश्विक समझौता
भारत 300 GW सौर ऊर्जा लक्ष्य प्राप्ति में विफल हो सकता है सहकारिता नीति पर राष्ट्रीय सम्मेलन ऑक्सफैम ने ‘फर्स्ट  क्राइसिस, दैन कैटास्ट्रोफे’ रिपोर्ट जारी की यूनिवर्सल बेसिक इनकम: परिभाषा, लाभ एवं हानि 
भारत-जापान संबंध | विकेन्द्रीकृत घरेलू अपशिष्ट जल प्रबंधन भारत में शुष्क भूमि कृषि ऊर्जा के पारंपरिक तथा गैर-पारंपरिक स्रोत भाग 2  वित्त वर्ष 2022 के लिए परिसंपत्ति मुद्रीकरण लक्ष्य  को पार कर गया

Sharing is caring!