UPSC Exam   »   National Gallery of Modern Art (NGMA)...   »   Prime Minister Museum

प्रधानमंत्री संग्रहालय | प्राइम मिनिस्टर म्यूजियम 

प्रधानमंत्री संग्रहालय- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 1: अठारहवीं शताब्दी के मध्य से लेकर वर्तमान तक का आधुनिक भारतीय इतिहास- महत्वपूर्ण घटनाएँ, व्यक्तित्व, मुद्दे।

प्रधानमंत्री संग्रहालय | प्राइम मिनिस्टर म्यूजियम _40.1

समाचारों में प्रधानमंत्री संग्रहालय

  • हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन किया।
  • प्रधानमंत्री संग्रहालय (प्राइम मिनिस्टर म्यूजियम) देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों को समर्पित है।

 

प्रधानमंत्री संग्रहालय के बारे में प्रमुख बिंदु

  • पृष्ठभूमि: प्रधानमंत्रियों को समर्पित नवीन संग्रहालय की आधारशिला अक्टूबर 2018 में परिसर में रखी गई थी।
    • महामारी के कारण विलंब के पश्चात, परियोजना ने अप्रैल 2022 में अपने द्वार खोल दिए।
  • प्रधानमंत्री संग्रहालय के बारे में: प्रधानमंत्री संग्रहालय (प्राइम मिनिस्टर म्यूजियम) देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों को समर्पित है।
    • आजादी के अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन किया गया – आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर  75 सप्ताह का उत्सव आरंभ किया गया।
  • स्थान: प्रधानमंत्री संग्रहालय प्रतिष्ठित तीन मूर्ति परिसर, नई दिल्ली में स्थित है।
  • महत्व: प्रधानमंत्री संग्रहालय उन युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बनेगा जो प्रत्येक प्रधान मंत्री द्वारा सामना की जाने वाली कठिनाइयों को देखने में सक्षम होंगे एवं एक नवीन भारत की नींव रखने के लिए उन्होंने उन्हें कैसे पार किया।
    • प्रधानमंत्री संग्रहालय प्रत्येक सरकार की साझा विरासत को भी प्रतिबिंबित करेगा।

 

प्रधानमंत्री संग्रहालय की विशेषताएं 

  • निर्माण: प्रधान मंत्री संग्रहालय भवन नई दिल्ली में तीन मूर्ति भवन को एकीकृत करता है, जिसे ब्लॉक I के रूप में, नव-निर्मित ब्लॉक II के साथ नामित किया गया है।
    • दो ब्लॉकों का कुल क्षेत्रफल 15,600 वर्ग मीटर से अधिक है।
    • प्रधानमंत्री संग्रहालय में 43 दीर्घाएं (गैलरी) हैं।
  • प्रधानमंत्री संग्रहालय का लोगो: संग्रहालय का लोगो हाथ में धर्म चक्र पकड़े हुए है, जो राष्ट्र एवं लोकतंत्र का प्रतीक है।
  • प्रधानमंत्री संग्रहालय की क्षमता: प्रधानमंत्री संग्रहालय की क्षमता करीब 4,000 है।
  • प्रधानमंत्री संग्रहालय के टिकट की लागत: भारतीयों के लिए, एक प्रवेश टिकट की कीमत ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से 100 रुपए तथा ऑफ़लाइन के लिए 110 रुपए होगी। विदेशियों से 750 रुपए का शुल्क लिया जाएगा।

प्रधानमंत्री संग्रहालय | प्राइम मिनिस्टर म्यूजियम _50.1

प्रधानमंत्री संग्रहालय में क्या प्रदर्शित होगा?

  • व्यक्तिगत वस्तुएं, उपहार तथा स्मृति चिन्ह जैसे पदक, स्मारक टिकट, प्रधान मंत्री के भाषण एवं विचारधाराओं के उपाख्यानात्मक प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री संग्रहालय में प्रदर्शित होंगे।
    • पूर्व प्रधानमंत्रियों के परिवारों से उनकी जानकारी के लिए संपर्क किया गया।
  • नेहरू संग्रहालय का समावेश: संग्रहालय में नेहरू संग्रहालय भी सम्मिलित होगा।
    • इसे देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जीवन एवं योगदान को प्रदर्शित करने के लिए तकनीकी रूप से उन्नत प्रदर्शन के साथ उन्नत किया गया है।
    • संपूर्ण विश्व से उनके द्वारा प्राप्त अनेक उपहार प्रथम बार प्रदर्शन के लिए रखे गए हैं।
  • संग्रहालय प्रदर्शनी सामग्री को अन्योन्य क्रियात्मक (इंटरैक्टिव) बनाने के लिए होलोग्राम, आभासी वास्तविकता, संवर्धित वास्तविकता, मल्टी-टच, मल्टीमीडिया, इंटरेक्टिव कियोस्क, कम्प्यूटरीकृत गतिज मूर्तियां, स्मार्टफोन अनुप्रयोग, इंटरैक्टिव स्क्रीन, अनुभवात्मक स्थापना इत्यादि का उपयोग करेगा।

 

प्रधानमंत्री संग्रहालय से संबंधित विवाद

  • नेहरू की विरासत को धूमिल करना: नेहरू स्मारक संग्रहालय तथा पुस्तकालय ( नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी/NMML) की स्थापना केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संस्थान के रूप में तीन मूर्ति भवन परिसर में उनकी स्मृति में की गई थी।
  • कांग्रेस नेताओं ने सरकार  के इस निर्णय का विरोध किया एवं इसे जवाहरलाल नेहरू की विरासत को कमजोर करने का प्रयास बताया।
  • पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने सरकार से तीन मूर्ति परिसर को “अबाधित” छोड़ने का आग्रह किया।
  • यद्यपि, केंद्र ने कहा कि यह कदम प्रथम प्रधानमंत्री की विरासत को कमजोर करने के लिए नहीं है।

 

‘विश्व के वृक्षों का शहर’ विश्व का टैग सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज: परिभाषा, वर्तमान स्थिति एवं सिफारिशें राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान (आरजीएसए) | आरजीएसए विस्तारित की संशोधित योजना संपादकीय विश्लेषण- विकास की पीड़ा 
गैर संक्राम्य रोगों (एनसीडी) पर वैश्विक समझौता भारत 300 GW सौर ऊर्जा लक्ष्य प्राप्ति में विफल हो सकता है सहकारिता नीति पर राष्ट्रीय सम्मेलन ऑक्सफैम ने ‘फर्स्ट  क्राइसिस, दैन कैटास्ट्रोफे’ रिपोर्ट जारी की
यूनिवर्सल बेसिक इनकम: परिभाषा, लाभ एवं हानि  भारत-जापान संबंध | विकेन्द्रीकृत घरेलू अपशिष्ट जल प्रबंधन भारत में शुष्क भूमि कृषि ऊर्जा के पारंपरिक तथा गैर-पारंपरिक स्रोत भाग 2 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.