UPSC Exam   »   गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (NBFC) 

गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (NBFC) 

NBFC क्या है?

  • NBFC का अर्थ: NBFC, कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत पंजीकृत एक कंपनी है जो विभिन्न बैंकिंग सेवाएं प्रदान करती है किंतु उसके पास बैंकिंग लाइसेंस नहीं है।
  • एनबीएफसी पारंपरिक बैंकों द्वारा अनुपालन किए जाने वाले बैंकिंग नियमों एवं राज्य के अधिकारियों द्वारा किए जाने वाले निरीक्षण के अधीन नहीं हैं
  • एनबीएफसी के उदाहरण: निवेश बैंक, बंधक ऋणदाता, मुद्रा बाजार निधि, बीमा कंपनियां, हेज फंड, निजी इक्विटी फंड एवं पी2पी ऋणदाता।
  • 2008 की महान मंदी के बाद से, NBFC की संख्या एवं प्रारूपों में वृद्धि हुई है तथा पारंपरिक बैंकों द्वारा अतृप्त ऋण की मांग को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  • आरबीआई द्वारा एनबीएफसी को पीसीए के अंतर्गत लाया गया है, इसके बारे में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

बैंकों एवं एनबीएफसी के मध्य अंतर

बैंक एनबीएफसी
बैंक मांग एवं सावधि जमा दोनों को स्वीकार कर सकते हैं। एनबीएफसी मांग जमा स्वीकार नहीं कर सकते हैं।
बैंक भुगतान तथा निपटान प्रणाली का हिस्सा बनते हैं  एवं स्वयं पर आहरित चेक जारी कर सकते हैं। गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां भुगतान तथा निपटान प्रणाली का हिस्सा नहीं होती हैं एवं वे स्वयं पर आहरित चेक जारी नहीं कर सकती हैं।
जमा बीमा तथा ऋण गारंटी निगम की जमा बीमा सुविधा गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के जमाकर्ताओं के लिए उपलब्ध है। जमा बीमा एवं ऋण गारंटी निगम की जमा बीमा सुविधा जमाकर्ताओं को उपलब्ध नहीं है।

 

एनबीएफसी

एनबीएफसी को वर्गीकृत किया गया है

  • जमा एवं गैर-जमा स्वीकार करने वाली एनबीएफसी में देनदारियों के प्रकार के संदर्भ में,
  • गैर जमा लेने वाली एनबीएफसी अपने आकार के अनुसार व्यवस्थित रूप से महत्वपूर्ण  तथा अन्य गैर-जमा होल्डिंग कंपनियों (एनबीएफसी-एनडीएसआई और एनबीएफसी-एनडी) में  एवं
  • वे जिस तरह की गतिविधि का संचालन करते हैं।

 

यूपीएससी एवं राज्य पीसीएस परीक्षाओं के लिए  निशुल्क अध्ययन सामग्री प्राप्त करें

एनबीएफसी का विनियमन

  • एनबीएफसी को उनके कार्य क्षेत्र के आधार पर नियामक प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित किया जाता है
  • रिजर्व बैंक को आरबीआई अधिनियम 1934 के तहत मूल कार्य के 50-50 मानदंडों को पूरा करने वाली एनबीएफसी पर पंजीकरण, नीति निर्धारित करने, निर्देश जारी करने, निरीक्षण, विनियमन, पर्यवेक्षण  एवं  निगरानी करने का अधिकार प्रदान किया गया है।
  • हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों को नेशनल हाउसिंग बैंक द्वारा नियंत्रित किया जाता है
  • मर्चेंट बैंकर / वेंचर कैपिटल फंड कंपनी / स्टॉक-एक्सचेंज / स्टॉक ब्रोकर / सब-ब्रोकर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड द्वारा विनियमित होते हैं,  तथा
  • बीमा कंपनियों को बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) द्वारा नियंत्रित किया जाता है।
  • इसी तरह, चिट फंड कंपनियों को संबंधित राज्य सरकारों द्वारा नियंत्रित किया जाता है  एवं निधि कंपनियों को कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (NBFC) _40.1

एनबीएफसी के लाभ 

  • वित्त पोषण एवं साख का वैकल्पिक स्रोत
  • ग्राहकों के साथ प्रत्यक्ष संपर्क, बिचौलियों को समाप्त करना
  • निवेशकों के लिए उच्च प्रतिफल
  • वित्त प्रणाली के लिए तरलता

 

गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी – माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन (एनबीएफसी-एमएफआई)

  • सूक्ष्म वित्त (माइक्रो फाइनेंस) संस्थान या एमएफआई वित्तीय संस्थान हैं जो समाज के निर्धन वर्गों को ऋण  एवं अन्य वित्तीय सेवाएं प्रदान करते हैं।
  • आमतौर पर, छोटे ऋण देने के उनके संचालन का क्षेत्र ग्रामीण क्षेत्र एवं शहरी क्षेत्रों में कम आय वाले लोगों के  मध्य होता है।
  • इन्हें आरबीआई के तहत कवर करने का उद्देश्य इन एनबीएफसी एमएफआई को स्वस्थ एवं जवाबदेह बनाना था।

 

एनबीएफसी एमएफआई की शर्तें

  • 5 करोड़ रुपये की न्यूनतम निवल स्वामित्व वाली निधि (एनओएफ)। (देश के उत्तर पूर्वी क्षेत्र में पंजीकृत एमएफआई के लिए न्यूनतम एनओएफ के रूप में 2 करोड़ रुपये की आवश्यकता है)।
  • इसकी कुल निवल परिसंपत्ति का कम से कम 85%अर्ह परिसंपत्तिकी प्रकृति में हो।

 

एनबीएफसी एवं एमएफआई के मध्य अंतर

  • एनबीएफसी एमएफआई तथा अन्य एनबीएफ के मध्य एकमात्र अंतर यह है कि जहां अन्य एनबीएफसी बहुत उच्च स्तर पर कार्य कर सकते हैं, वहीं एमएफआई केवल छोटे स्तर के सामाजिक स्तर को  सेवाएं प्रदान करते हैं, जिसमें ऋण के रूप में छोटी राशियों की आवश्यकता होती है।

 

गोबर धन योजना: प्रधानमंत्री ने एशिया के सबसे बड़े बायोगैस संयंत्र का उद्घाटन किया संपादकीय विश्लेषण: एक नए संविधान का प्रारूप तैयार करना असंभव है जल जीवन मिशन | 2024 तक हर घर जल मिलन 2022
एनुअल फ्रंटियर रिपोर्ट 2022 वित्तीय स्थिरता एवं विकास परिषद ड्राफ्ट इंडिया डेटा एक्सेसिबिलिटी एंड यूज पॉलिसी 2022 युवा गणितज्ञों के लिए रामानुजन पुरस्कार
संपादकीय विश्लेषण- रूसी मान्यता सीमा अवसंरचना एवं प्रबंधन योजना रूस-यूक्रेन संघर्ष पर भारत का रुख पर्यावरणीय प्रभाव आकलन

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.