UPSC Exam   »   Har Ghar Tiranga Campaign   »   22nd Bharat Rang Mahotsav 2022

22 वां भारत रंग महोत्सव 2022 (आजादी खंड)

भारत रंग महोत्सव 2022- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 1: भारतीय इतिहास- भारतीय संस्कृति प्राचीन से आधुनिक समय तक कला रूपों, साहित्य एवं वास्तुकला के मुख्य पहलुओं को समाहित करेगी।

22 वां भारत रंग महोत्सव 2022 (आजादी खंड)_40.1

भारत रंग महोत्सव 2022 चर्चा में क्यों है?

  • हाल ही में, महाराष्ट्र के राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी ने मुंबई के रवींद्र नाट्य मंदिर में 22वें ‘भारत रंग महोत्सव’ का उद्घाटन किया।

 

भारत रंग महोत्सव 2022

  • भारत रंग महोत्सव 2022 के बारे में: “आजादी का अमृत महोत्सव – भारत रंग महोत्सव 2022” हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करने हेतु आजादी का अमृत महोत्सव के तहत मनाया जा रहा है।
    • कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के निदेशक प्रोफेसर रमेश चंद्र गौड़ करेंगे।
  • आयोजन निकाय: 
    • आजादी का अमृत महोत्सव के तहत राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय द्वारा राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय का आयोजन किया जा रहा है।
    • मुंबई में भारत रंग महोत्सव कार्यक्रमों का आयोजन सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय तथा पी.एल. देशपांडे महाराष्ट्र कला अकादमी द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।
  • भागीदारी: भारत रंग महोत्सव 2022 उत्सव जनता के लिए खुला है।

 

भारत रंग महोत्सव 2022- प्रमुख गतिविधियां

  • 22वें भारत रंग महोत्सव, 2022 (आजादी खंड) के एक भाग के रूप में, 16 जुलाई से 14 अगस्त, 2022 तक दिल्ली, भुवनेश्वर, वाराणसी, अमृतसर, बेंगलुरु एवं मुंबई में 30 नाटकों का प्रदर्शन किया जाएगा।
  • यह महोत्सव हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन तथा उनके बलिदान पर आधारित प्रसिद्ध थिएटर निर्देशकों के नाटकों को प्रदर्शित करेगा।
  • महोत्सव के प्रथम दिन चंद्रकांत तिवारी द्वारा निर्देशित नाटक ‘मैं हूं सुभाष’ का विमोचन किया जाएगा।
  • 22वें भारत रंग महोत्सव 2022 महोत्सव का समापन 13 अगस्त को मोहम्मद नजीर कुरैशी द्वारा निर्देशित नाटक ‘रंग दे बसंती चोला’ के साथ होगा।

22 वां भारत रंग महोत्सव 2022 (आजादी खंड)_50.1

आज़ादी का अमृत महोत्सव (AKAM) के बारे में प्रमुख तथ्य

  • आजादी का अमृत महोत्सव के बारे में: आजादी का अमृत महोत्सव प्रगतिशील भारत के 75 वर्ष एवं इसके लोगों, संस्कृति  तथा उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास का उत्सव मनाने तथा स्मरण करने की एक पहल है।
    • आजादी का अमृत महोत्सव भारत की सामाजिक-सांस्कृतिक, राजनीतिक तथा आर्थिक पहचान के बारे में जो भी प्रगतिशील उसका एक मूर्त रूप है।
  • भारत के लोगों का उत्सव: आजादी का अमृत महोत्सव भारत के उन लोगों को समर्पित है, जिन्होंने भारत को उसकी विकास यात्रा में यहां तक लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
    • भारत के लोग भी अपने भीतर शक्ति तथा क्षमता रखते हैं, जो भारत 2.0 को सक्रिय करने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को सक्षम बनाता है, जो आत्मनिर्भर भारत की भावना से प्रेरित है।
  • आज़ादी का अमृत महोत्सव का प्रारंभ: “आज़ादी का अमृत महोत्सव” की आधिकारिक यात्रा 12 मार्च 2021 को आरंभ हुई, जो हमारी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के लिए 75-सप्ताह की उलटी गिनती आरंभ करती है।
  • श्रेणीबद्ध करें: आजादी का अमृत महोत्सव को पांच श्रेणियों में मनाए जाने की कल्पना की गई है –
    • स्वतंत्रता संग्राम (फ्रीडम स्ट्रगल),
    • विचार (आइडिया) @ 75,
    • उपलब्धियां (अचीवमेंट्स) @ 75,
    • कार्रवाई (एक्शन) @ 75 तथा
    • समाधान (रिसॉल्व) @75

 

भारत में आर्द्रभूमियां- सरकार द्वारा उठाए गए कदम संपादकीय विश्लेषण-रैंकिंग दैट मेक नो सेंस पीएम आदि आदर्श ग्राम योजना (पीएमएजीवाई) सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम का कार्य संचालन 
सब्जियों के लिए भारत-इजरायल उत्कृष्टता केंद्र  भारतीय चिकित्सा एवं होम्योपैथी के लिए भेषज आयोग (फार्माकोपिया कमीशन फॉर इंडियन मेडिसिन एंड होम्योपैथी) संपादकीय विश्लेषण- कूलिंग द टेंपरेचर्स ग्रैंड ओनियन चैलेंज
हर घर तिरंगा अभियान रामसर स्थल- 10 नई भारतीय आर्द्रभूमि सूची में जोड़ी गईं  महाद्वीपीय अपवाह सिद्धांत (कॉन्टिनेंटल ड्रिफ्ट थ्योरी)  भारत की उड़ान: संस्कृति मंत्रालय एवं गूगल की एक पहल 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.