UPSC Exam   »   Food Processing Industry in India   »   Grand Onion Challenge

ग्रैंड ओनियन चैलेंज

ग्रैंड ओनियन चैलेंज- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 2: शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकार की नीतियां एवं अंतः क्षेप तथा उनकी अभिकल्पना एवं कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे।

ग्रैंड ओनियन चैलेंज_40.1

ग्रैंड ओनियन चैलेंज चर्चा में क्यों है?

  • हाल ही में, उपभोक्ता मामलों के विभाग ने “ग्रैंड ओनियन चैलेंज” के संबंध में एक वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित की।

ग्रैंड ओनियन चैलेंज_50.1

ग्रैंड ओनियन चैलेंज

  • ग्रैंड ओनियन चैलेंज के बारे में: ग्रैंड ओनियन चैलेंज देश में कटाई के पश्चात प्याज की कटाई पूर्व तकनीकों, प्राथमिक प्रसंस्करण, भंडारण एवं परिवहन में सुधार के लिए उत्पाद डिजाइन तथा प्रोटोटाइप में युवा पेशेवरों, प्रोफेसरों, वैज्ञानिकों से विचार आमंत्रित करता है।
    • चुनौती निर्जलीकरण, प्याज के मूल्य निर्धारण एवं प्याज खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के आधुनिकीकरण के लिए विचारों की भी तलाश करती है।
  • उद्देश्य: देश में कटाई के पश्चात प्याज की क्षति को कम करने के लिए कम लागत एवं सरलता से अनुकरणीय प्रौद्योगिकी समाधान का विकास करना।
  • संबंधित विभाग: ग्रैंड ओनियन चैलेंज का प्रारंभ उपभोक्ता मामलों के विभाग द्वारा किया गया है ।
  • आवेदन के लिए समय अवधि: देश में सर्वोत्तम मस्तिष्क से उपरोक्त सभी डोमेन में विचारों की तलाश में चुनौती 20.7.2022-15.10.2022 से खुली हुई है।
  • चयन प्रक्रिया: विभाग चार कार्यक्षेत्रों में 40 उत्तम विचारों का चयन करेगा जिसमें सुधार एवं प्रौद्योगिकी नवाचारों की मांग की जाती है।
    • देश में संबंधित विभागों तथा संगठनों से विचार प्रस्तुत करने का आग्रह किया जाता है ताकि प्याज की कटाई पूर्व, प्राथमिक प्रसंस्करण, भंडारण एवं परिवहन में होने वाली क्षति को बचाने के लिए लागत प्रभावी समाधान विकसित किया जा सके।
    • इस प्रक्रिया में आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम का भी समर्थन किया जाता है।
  • महत्व: यह अपेक्षा की जाती है कि ग्रैंड ओनियन चैलेंज के पश्चात, नवीन विचारों के कारण प्याज के भंडारण में होने वाले नुकसान को 5-10% तक कम किया जा सकता है।

 

हर घर तिरंगा अभियान रामसर स्थल- 10 नई भारतीय आर्द्रभूमि सूची में जोड़ी गईं  महाद्वीपीय अपवाह सिद्धांत (कॉन्टिनेंटल ड्रिफ्ट थ्योरी)  भारत की उड़ान: संस्कृति मंत्रालय एवं गूगल की एक पहल 
तंग मौद्रिक नीति भारत-मॉरीशस सीईसीपीए संपादकीय विश्लेषण- स्टीकिंग टू कमिटमेंट्स, बैलेंसिंग एनर्जी यूज एंड क्लाइमेट चेंज इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेरिटेज’ (आईआईएच)
संपादकीय विश्लेषण- सोप और वेलफेयर डिबेट उत्तर पूर्वी अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (एनईएसएसी) आसियान एवं भारत यूएनएफसीसीसी में भारत का अद्यतन राष्ट्रीय रूप से निर्धारित योगदान (एनडीसी)

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.