Home   »   Vande Bharatam Competition

वंदे भारतम नृत्य उत्सव

वंदे भारतम नृत्य उत्सव- यूपीएससी परीक्षा हेतु प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 1: भारतीय इतिहास- भारतीय संस्कृति प्राचीन से आधुनिक काल तक कला रूपों, साहित्य एवं वास्तुकला के मुख्य पहलुओं को सम्मिलित करेगी।

वंदे भारतम नृत्य उत्सव_40.1

 

वंदे भारतम नृत्य उत्सव- प्रसंग

  • हाल ही में, अखिल भारतीय वंदे भारतम, नृत्य उत्सव का भव्य समापन (ग्रैंड फिनाले) 19 दिसंबर को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम सभागार में आयोजित किया गया था।
  • 4 क्षेत्रों के 949 नर्तकों के 73 समूहों ने वंदे भारतम नृत्य उत्सव के ग्रैंड फिनाले में अपना स्थान बनाया है।

वंदे भारतम नृत्य उत्सव- प्रमुख बिंदु

  • वंदे भारतम नृत्य उत्सव के बारे में: वंदे भारतम एक अखिल भारतीय नृत्य प्रतियोगिता है जिसका आयोजन भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में किया जा रहा है।
  • आयोजन मंत्रालय: वंदे भारतम रक्षा मंत्रालय एवं संस्कृति मंत्रालय की एक विशिष्ट पहल है।
  • प्रमुख उद्देश्य: वंदे भारतम प्रतियोगिता का उद्देश्य देश भर से शीर्ष नृत्य प्रतिभाओं का चयन करना एवं उन्हें गणतंत्र दिवस परेड 2022 के दौरान प्रदर्शन करने का अवसर प्रदान करना है।
  • भागीदारी: वंदे भारतम नृत्य उत्सव के तहत क्षेत्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए 200 से अधिक दलों (टीमों) के 2,400 से अधिक प्रतिभागियों को लघु सूचीबद्ध (शॉर्टलिस्ट) किया गया था।
    • भाग लेने वाले समूहों ने विभिन्न नृत्य श्रेणियों जैसे शास्त्रीय, लोक, आदिवासी एवं फ्यूजन में विशेष रूप से नृत्य संयोजित (कोरियोग्राफ) किए गए कृत्यों का प्रदर्शन किया।
  • पुरस्कार: वंदे भारतम नृत्य उत्सव के विजेताओं को गणतंत्र दिवस परेड में अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का एक बार का अवसर प्राप्त होगा, जिसे न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में देखा जाता है।

वंदे भारतम नृत्य उत्सव_50.1

वंदे भारतम नृत्य उत्सव- चयन प्रक्रिया

  • चरण 1: वंदे भारतम प्रतियोगिता जिला स्तर पर प्रारंभ हुई एवं इसमें 323 समूहों में 3,870 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।
  • चरण 2: जिला स्तर पर स्क्रीनिंग पास करने वालों ने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लिया। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए 20 से अधिक आभासी कार्यक्रम आयोजित किए गए।
  • चरण 3: राज्य स्तर के लिए 300 से अधिक समूहों का चयन किया गया जिसमें 3,000 से अधिक नर्तक/प्रतिभागी शामिल थे। इस प्रकार, इस आयोजन ने सभी उम्मीदवारों को राष्ट्रीय स्तर पर एक निर्धारित स्थान (स्लॉट) जीतने हेतु अपनी प्रतिभा  के प्रदर्शन का अवसर प्रदान किया।
जलवायु परिवर्तन पर राष्ट्रीय कार्य योजना (एनएपीसीसी) एकीकृत श्रम कानून के लिए पीएम-ईएसी का आह्वान अनुच्छेद 32 एवं अनुच्छेद 226: भारतीय संविधान में रिट के प्रकार और उनका विस्तार क्षेत्र  संपादकीय विश्लेषण – आयु एवं विवाह
गोल्डन पीकॉक पर्यावरण प्रबंधन पुरस्कार 2021 कोलकाता दुर्गा पूजा यूनेस्को की अमूर्त विरासत सूची में अंकित एल्गोरिथ्म ट्रेडिंग: सेबी ने एल्गोरिथ्म ट्रेडिंग को विनियमित करने हेतु कहा विश्व व्यापार संगठन समझौते
विश्व व्यापार संगठन तीसरा भारत-मध्य एशिया संवाद: अफगानिस्तान बैठक िस्मृति का अधिकार |व्याख्यायित| चीनी सब्सिडी पर डब्ल्यूटीओ विवाद में भारत हारा
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.