UPSC Exam   »   विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022: यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस 2: महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, एजेंसियां​​​​ एवं मंच – उनकी संरचना, अधिदेश।

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022_40.1

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022: संदर्भ

  • हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (यूनाइटेड नेशंस पॉपुलेशन फंड/UNFPA) ने अपनी प्रमुख रिपोर्ट स्टेट ऑफ़ वर्ल्ड पॉपुलेशन रिपोर्ट 2022 जारी की, जिसका शीर्षक है “सीन द अनसीन:  द केस फॉर एक्शन इन द नेगलेक्टेड क्राइसिस अनइंटेंडेड प्रेगनेंसी” है।

 

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022: प्रमुख निष्कर्ष

  • अनपेक्षित गर्भधारण: रिपोर्ट में पाया गया है कि 2015 तथा 2019 के मध्य, वैश्विक स्तर पर प्रत्येक वर्ष 120 मिलियन से अधिक अनपेक्षित गर्भधारण हुए।
  • बलात्कार से संबंधित गर्भधारण: रिपोर्ट में पाया गया है कि सहमति से यौन संबंध से गर्भधारण की तुलना में बलात्कार से संबंधित गर्भधारण समान रूप से या अधिक होने की संभावना है। साथ ही, लगभग एक चौथाई महिलाएं सेक्स को ना नहीं कह पाती हैं।
  • गर्भपात: 60% से अधिक अनपेक्षित गर्भधारण एवं सभी गर्भधारण के लगभग 30% का परिणाम गर्भपात होता है। विकासशील देशों में, असुरक्षित गर्भपात के उपचार में प्रति वर्ष 500 मिलियन अमरीकी डालर से अधिक का खर्च आता है।
  • आपात स्थिति का प्रभाव: यूक्रेन में युद्ध तथा कोविड-19 महामारी जैसी आपात स्थिति, अनेक महिलाओं को गर्भनिरोधक अथवा यौन हिंसा का अनुभव नहीं हो सका।

 

अनपेक्षित गर्भधारण: योगदान कर्ता कारक

  • यौन जानकारी तथा प्रजनन  संबंधी स्वास्थ्य देखभाल का अभाव।
  • महिलाओं के अपने प्रजनन क्षमता तथा शरीर को नियंत्रित करने वाले हानिकारक मानदंड एवं कलंक।
  • यौन हिंसा एवं प्रजनन संबंधी बल प्रयोग
  • न्यायिक दृष्टिकोण
  • निर्धनता एवं अवरुद्ध आर्थिक विकास

 

 अनपेक्षित गर्भधारण: मुद्दे

  • स्वास्थ्य जोखिम: अनपेक्षित गर्भधारण स्वास्थ्य जोखिम उत्पन्न कर सकते हैं  एवं बच्चे और परिणाम दोनों के लिए प्रतिकूल परिणाम हो सकते हैं।
  • समय पूर्व जन्म: अनपेक्षित गर्भधारण को समय पूर्व जन्म एवं कम वजन वाले जन्म से जोड़ा गया है।
  • बच्चों का भविष्य: जो बच्चे अनियोजित गर्भावस्था के परिणामस्वरूप पैदा होते हैं, उनके जीवन में खराब प्रदर्शन की संभावना अधिक हो सकती है, जिसमें विद्यालय, भावनात्मक विकास इत्यादि सम्मिलित हैं।
  • अनपेक्षित गर्भधारण अन्य मुद्दों के अतिरिक्त विघटनकारी शैक्षिक लक्ष्यों, आय सृजन तथा बचत क्षमता में बाधा को भी जन्म दे सकता है।

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022_50.1

विश्व जनसंख्या की स्थिति 2022: सुझाव

  • नीति निर्माताओं को पहुंच में सुधार, गर्भनिरोधक की स्वीकार्यता तथा गुणवत्तापूर्ण यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य देखभाल तथा जानकारी का विस्तार करके अनचाहे गर्भधारण की रोकथाम को प्राथमिकता देनी चाहिए।
  • महिला सशक्तिकरण के लिए कदम उठाए जाने चाहिए ताकि वे सेक्स एवं अपने शरीर के बारे में निर्णय ले सकें।
  • एक ऐसे समाज को प्रोत्साहित करना जो महिलाओं के अधिकारों के पूर्ण मूल्य को पहचानता हो।

 

डिजी यात्रा पहल | चेहरे की पहचान प्रणाली (एफआरएस) को लागू किया जाना संपादकीय विश्लेषण: प्रवासी सहायता के लिए नीति की कड़ी को आगे बढ़ाएं विश्व व्यापार संगठन एवं भारत: भारत ने तीसरी बार विश्व व्यापार संगठन के शांति खंड का आह्वान किया पारिवारिक वानिकी | यूनेस्को का लैंड फॉर लाइफ अवार्ड
भारत में भौगोलिक संकेतक टैग की अद्यतन सूची  भारत के उपराष्ट्रपतियों की सूची मुस्लिम समुदाय के लिए आवासीय सिविल सेवा परीक्षा कोचिंग कार्यक्रम भारतीय अंटार्कटिक विधेयक 2022
इमरान खान अविश्वास मत | इमरान खान पाकिस्तान के पीएम पद से बर्खास्त भारत में असंगठित क्षेत्र अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) | भारत में अपने नेतृत्व की स्थिति सुरक्षित की डाउन टू अर्थ पत्रिका का विश्लेषण: ”द 6त्थ मास एक्सटिंक्शन!”

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.