UPSC Exam   »   आईसीडीएस योजना: महाराष्ट्र ने प्रवासन ट्रैकिंग...

आईसीडीएस योजना: महाराष्ट्र ने प्रवासन ट्रैकिंग प्रणाली विकसित की

आईसीडीएस योजना यूपीएससी: प्रासंगिकता

  • जीएस 2: केंद्र एवं राज्यों द्वारा आबादी के कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं

आईसीडीएस योजना: महाराष्ट्र ने प्रवासन ट्रैकिंग प्रणाली विकसित की_40.1

आईसीडीएस योजना: संदर्भ

  • हाल ही में, महाराष्ट्र ने एकीकृत बाल विकास सेवाओं (इंटीग्रेटेड चाइल्ड डेवलपमेंट सर्विसेज/ICDS) की निरंतरता को बनाए रखने के लिए एक वेबसाइट-आधारित माइग्रेशन ट्रैकिंग सिस्टम (MTS) एप्लिकेशन विकसित किया है।

 

प्रवासन ट्रैकिंग प्रणाली: प्रमुख बिंदु

  • एप्लिकेशन व्यक्तिगत विशिष्ट पहचान संख्या के माध्यम से संवेदनशील मौसमी प्रवासी श्रमिकों के आवागमन का मानचित्रण करेगा।
  • राज्य सरकार ने उच्च जनजातीय आबादी वाले छह जिलों में नवंबर 2021 में प्रायोगिक परियोजना (पायलट प्रोजेक्ट) के रूप में एप्लिकेशन का विमोचन किया था।
  • यह आंगनबाड़ी केंद्रों में पंजीकृत 18 वर्ष तक के बच्चों, स्तनपान कराने वाली माताओं एवं गर्भवती महिलाओं सहित प्रवासी लाभार्थियों को एकीकृत बाल विकास सेवा (आईसीडीएस) पोषण आपूर्ति, टीकाकरण  एवं स्वास्थ्य जांच इत्यादि के कार्यान्वयन को वर्धित करेगा
  • राज्य के भीतर या बाहर अपने गंतव्य जिलों में अपने मूल स्थानों पर लौटने तक उनके परिवारों के लिए आईसीडीएस की सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) सुनिश्चित करने हेतु उनके प्रवास को ट्रैक किया जाएगा
  • इस पहल के माध्यम से, महाराष्ट्र ने ऐसे श्रमिकों के अंतर-जिला, अंतरा-जिला कथा अंतरराज्यीय प्रवास के आंकड़ों को प्रग्रहित करने की मांग की है।

 

आईसीडीएस योजना क्या है?

  • 1975 में आरंभ की गई, एकीकृत बाल विकास योजना (ICDS) आरंभिक बाल्यावस्था से संबंधित एक विकास कार्यक्रम है, जिसका उद्देश्य कुपोषण, स्वास्थ्य एवं छोटे बच्चों, गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली माताओं की विकास आवश्यकताओं को संबोधित करना है।
  • यह विश्व के सर्वाधिक वृहद कार्यक्रमों में से एक है जो बच्चे के समग्र विकास के लिए सेवाओं का एक एकीकृत पैकेज प्रदान करता है।
  • ICDS एक केंद्र प्रायोजित योजना है तथा यह महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (मिनिस्ट्री ऑफ वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट/MoWCD) द्वारा संचालित है।
  • इस योजना का वित्तपोषण पैटर्न पूर्वोत्तर राज्यों एवं हिमालयी राज्यों के लिए 90:10 तथा अन्य राज्यों के लिए 60:40 है।
  • यह देश के सभी जिलों को कवर करने वाली सार्वभौमिक योजना है।
  • इस योजना का नाम परिवर्तित कर आंगनवाड़ी सेवाएं कर दिया गया है।
  • ICDS में 4 अलग-अलग घटक होते हैं, अर्थात्:
    • आरंभिक बाल्यावस्था देखभाल शिक्षा एवं विकास (अर्ली चाइल्डहुड केयर एजुकेशन एंड डेवलपमेंट/ईसीसीईडी)
    • देखभाल तथा पोषण परामर्श
    • स्वास्थ्य सेवाएं
    • सामुदायिक लामबंदी जागरूकता, पक्षपोषण एवं सूचना, शिक्षा तथा संचार

आईसीडीएस योजना: महाराष्ट्र ने प्रवासन ट्रैकिंग प्रणाली विकसित की_50.1

आईसीडीएस के उद्देश्य

  • 0-6 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के पोषण तथा स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार करना;
  • बच्चे के उचित मनोवैज्ञानिक, शारीरिक तथा सामाजिक विकास की नींव रखना;
  • मृत्यु दर, रुग्णता, कुपोषण एवं विद्यालय का  परित्याग करने की घटनाओं को कम करना;
  • बाल विकास को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न विभागों के मध्य मध्य नीति  एवं कार्यान्वयन का प्रभावी समन्वय प्राप्त करना; तथा
  • उचित पोषण एवं स्वास्थ्य शिक्षा के माध्यम से बच्चे के सामान्य स्वास्थ्य तथा पोषण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मां की क्षमता को बढ़ाना।

 

आईसीडीएस सेवाएं

आईसीडीएस योजना छह सेवाओं का पैकेज प्रदान करती है, अर्थात।

  • अनुपूरक पोषाहार
  • विद्यालय-पूर्व अनौपचारिक शिक्षा
  • पोषण एवं स्वास्थ्य शिक्षा
  • प्रतिरक्षण
  • स्वास्थ्य जांच तथा
  • रेफरल सेवाएं

 

सिंगापुर अंतर्राष्ट्रीय जल सप्ताह (एसआईडब्ल्यूडब्ल्यू) 2022 | जल सम्मेलन 2022 एमएसएमई उद्यमियों को क्रेडिट कार्ड प्रदान करना अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (IDY) 2022: थीम, प्रमुख विशेषताएं एवं विगत अंतरराष्ट्रीय योग दिवस दूरसंचार क्षेत्र में आईपीआर को प्रोत्साहित करने हेतु रोडमैप
संपादकीय विश्लेषण: फूड वैक्सीन सही है, टीबी के मरीजों के लिए और भी बहुत कुछ रक्षा उत्कृष्टता के लिए नवाचार (iDEX) पहल प्रधानमंत्री संग्रहालय | प्राइम मिनिस्टर म्यूजियम ‘विश्व के वृक्षों का शहर’ विश्व का टैग
सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज: परिभाषा, वर्तमान स्थिति एवं सिफारिशें राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान (आरजीएसए) | आरजीएसए विस्तारित की संशोधित योजना संपादकीय विश्लेषण- विकास की पीड़ा  गैर संक्राम्य रोगों (एनसीडी) पर वैश्विक समझौता

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.