UPSC Exam   »   RBI Sets Up a Fintech Department   »   भारत में फिनटेक उद्योग: फिनटेक ओपन...

भारत में फिनटेक उद्योग: फिनटेक ओपन समिट

फिनटेक ओपन समिट: प्रासंगिकता

  • जीएस 3: विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां; प्रौद्योगिकी का स्वदेशीकरण तथा नवीन तकनीक का विकास।

भारत में फिनटेक उद्योग: फिनटेक ओपन समिट_40.1

फिनटेक ओपन समिट: प्रसंग

  • हाल ही में, नीति आयोग ने भारत में फिनटेक उद्योग के महत्व को प्रदर्शित करने के लिए तीन सप्ताह तक चलने वाले ‘फिनटेक ओपन समिट’ का आयोजन किया है।

यूपीएससी एवं राज्य लोक सेवा आयोगों की परीक्षाओं हेतु नि शुल्क अध्ययन सामग्री प्राप्त करें

फिनटेक ओपन समिट: प्रमुख बिंदु

  • फिनटेक ओपन समिट का आयोजन फोन पे (Phone Pe), एडब्ल्यूएस (AWS)  तथा इवाई (EY) के सहयोग से किया गया है।
  • फिनटेक ओपन अपनी तरह की प्रथम पहल है, जो नियामकों, फिनटेक पेशेवरों तथा उत्साही व्यक्तियों, उद्योग जगत के प्रमुखों, स्टार्ट-अप समुदाय तथा डेवलपर्स को  आपस में सहयोग करने, विचारों का आदान-प्रदान करने  तथा नव प्रवर्तन हेतु एक साथ लाएगा।

 

फिनटेक ओपन समिट का उद्देश्य

  • फिनटेक उद्योग में एक मुक्त पारिस्थितिकी तंत्र को प्रोत्साहित करना
  • नवाचार एवं विकास को बढ़ावा देना
  • वित्तीय समावेशन सुनिश्चित करना तथा फिनटेक इनोवेशन की अगली लहर लाने के लिए खाता समूहक (अकाउंट एग्रीगेटर) जैसे नए मॉडल का लाभ उठाना।

 

 मुक्त मंच (ओपन प्लेटफार्म) के बारे में

  • सार्वजनिक निवेश का उपयोग करके एक मुक्त मंच का निर्माण किया गया है, जिसमें अनेक निजी उद्यमी, स्टार्ट-अप्स तथा डेवलपर्स नए समाधान निर्मित करने हेतु जुड़ सकते हैं। उदाहरण: कोविन, यूपीआई  इत्यादि।
  • 270 बैंक यूपीआई से जुड़े हुए हैंएवं अनेक उद्यमियों तथा स्टार्ट-अप्स ने ऐसे समाधान प्रदान किए हैं, जिन्होंने देश की फिनटेक को अपनाने की दर में वृद्धि करने में सहायता की है – जो कि विश्व स्तर पर सर्वाधिक-87 प्रतिशत पर है।

 

फिनटेक क्या है?

  • फिनटेक को आम तौर पर एक ऐसे उद्योग के रूप में वर्णित किया जाता है जो वित्तीय प्रणालियों तथा वित्तीय सेवाओं के वितरण को अधिक कुशल बनाने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करता है।
  • सूचना प्रौद्योगिकी पर निरंतर बढ़ती निर्भरता के साथ वित्तीय सेवा क्षेत्र में उभरते तकनीकी नवाचारों का वर्णन करने के लिए फिनटेक का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

 

फिनटेक सेवाओं का महत्व

  • डिजिटलीकरण में वृद्धि: भारत में डिजिटलीकरण में वृद्धि देखी जा रही है क्योंकि लोगों को वित्तीय सेवाओं तक व्यापक एवं सुगम पहुंच प्राप्त हो रही है।
  • बेहतर सुरक्षा प्रदान करना: उपभोक्ताओं के वित्तीय व्यवहार में स्थानांतरण – नकद से ई-वॉलेट एवं यूपीआई ने नकद लेनदेन से जुड़े मुद्दों को दूर कर दिया है।
  • अधिक न्यायसंगत: अधिक न्यायसंगत, समृद्ध एवं वित्तीय रूप से समावेशी भारत निर्मित करने हेतु डिजिटल भुगतान का विस्तार एक महत्वपूर्ण धुरी है।
  • त्वरित वित्तीय समावेशन: फिनटेक उद्योग देश भर में वित्तीय समावेशन को सुविधाजनक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

भारत में फिनटेक उद्योग: फिनटेक ओपन समिट_50.1

भारत में फिनटेक उद्योग

  • भारत में, फिनटेक तथा डिजिटल प्रतिभागी भारतीय वित्तीय प्रणाली के चौथे खंड के रूप में कार्य कर सकते हैं, जिसमें बड़े बैंक, मध्यम आकार के बैंक, विशिष्ट बैंक, लघु वित्त बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक तथा सहकारी बैंक शामिल हैं।
  • इसमें वित्तीय परिदृश्य को मौलिक रूप से रूपांतरित करने की क्षमता है जहां उपभोक्ता प्रतिस्पर्धी कीमतों पर विकल्पों के व्यापक समुच्चय में से चयन करने में सक्षम होंगे तथा वित्तीय संस्थान कम लागत के माध्यम से दक्षता में सुधार कर सकते हैं।
  • भारत सर्वाधिक तीव्र गति से वृद्धि करते फिनटेक बाजार एवं विश्व में तीसरे सर्वाधिक वृहद फिनटेक पारिस्थितिकी तंत्र के रूप में उभरा है।
  • वित्तीय सेवाओं में फिनटेक द्वारा लाए गए तीव्र एवं परिवर्तनकारी परिवर्तनों का निरंतर अनुश्रवण तथा मूल्यांकन किए जाने की आवश्यकता है।
  • नियामकों को अपने दृष्टिकोण में रचनात्मक, कुशाग्र एवं तकनीक का अच्छा जानकार होना चाहिए।

 

विनिमय दर के प्रकार: भारत में विनिमय दर प्रणाली भारतीय फुटवियर एवं चमड़ा विकास कार्यक्रम पर्वतमाला योजना: राष्ट्रीय रोपवे विकास कार्यक्रम विनिमय दर: अवमूल्यन, पुनर्मूल्यन, मूल्यह्रास, अधिमूल्यन
उड़ान योजना: 3 वर्ष पूर्ण होने पर 4 में से मात्र 1 ही शेष है सघन मिशन इंद्रधनुष (आईएमआई) 4.0 भारत में शैल तंत्र भाग -2 बैटरी स्वैपिंग योजना
नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में वित्तीय बाधाएं: ऊर्जा पर संसदीय स्थायी समिति की एक रिपोर्ट भारत में शैल तंत्र भाग -1 भारत में बौद्धिक संपदा अधिकार: इतिहास, अधिनियम एवं अनिवार्य अनुज्ञप्ति धन शोधन हत्या से अधिक जघन्य: सर्वोच्च न्यायालय

 

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.