Home   »   Animal Husbandry Startup Grand Challenge

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज 2.0

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज- यूपीएससी परीक्षा हेतु प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 2: शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकार की नीतियां एवं अंतः क्षेप तथा उनकी अभिकल्पना एवं कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे।

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज- संदर्भ

  • हाल ही में पशुपालन एवं डेयरी विभाग ने स्टार्टअप इंडिया के साथ साझेदारी मेंपशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंजके दूसरे संस्करण का विमोचन किया।
  • गुजरात के आणंद में राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम मेंपशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज का दूसरा संस्करण विमोचित किया गया।
    • राष्ट्रीय दुग्ध दिवस डॉ. वर्गीज कुरियन की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज 2.0_40.1

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज- प्रमुख बिंदु

  • पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज के बारे में: पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज का पहला संस्करण 2019 में भारत के प्रधान मंत्री द्वारा विमोचित किया गया था।
  • उद्देश्य: पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज का उद्देश्य पशुपालन एवं डेयरी क्षेत्र के समक्ष उत्पन्न होने वाली छह समस्याओं के समाधान के लिए नव प्रवर्तक एवं व्यावसायिक रूप से व्यवहार्य समाधान खोजना है।
  • कार्यान्वयन मंत्रालय: केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय द्वारा पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज का आयोजन किया जा रहा है।

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज 2.0- फोकस क्षेत्र

  • पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज 0 स्टार्टअप इंडिया पोर्टल www.startupindia.gov.in – पर आवेदन के लिए खुला है – निम्नलिखित समस्या विवरण हेतु सभी स्टार्टअप के लिए-
    • वीर्य खुराक के भंडारण एवं आपूर्ति के लिए लागत प्रभावी, दीर्घकालिक एवं उपयोगकर्ता के अनुकूल विकल्प
    • लागत प्रभावी पशु पहचान (आरएफआईडी) एवं ट्रेसेब्लिटी टेक्नोलॉजी का विकास
    • हीट डिटेक्शन किट का विकास
    • डेयरी पशुओं के लिए गर्भावस्था निदान किट का विकास
    • ग्राम संग्रहण केंद्र से डेयरी संयंत्र तक वर्तमान दुग्ध आपूर्ति-श्रृंखला में सुधार
    • कम लागत वाली शीतलन एवं दुग्ध संरक्षण प्रणाली एवं एक डेटा लॉगर का विकास

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज 2.0_50.1

पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज- विजेताओं के लिए प्रोत्साहन

  • नकद पुरस्कार: उपरोक्त 6 समस्या क्षेत्रों में से प्रत्येक के लिए, एक विजेता को 10 लाख रुपये एवं उपविजेता को 7 लाख रुपये के नकद पुरस्कार के रूप में सम्मानित किया जाएगा।
  • इनक्यूबेशन: पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज 0 के 12 विजेताओं को इनक्यूबेशन सुविधा प्राप्त होगी।
    • इनक्यूबेटर इन स्टार्टअप्स के 3 माह तक वर्चुअल इनक्यूबेशन, अनुभवी परामर्शदाता (मेंटर) मैचमेकिंग, पीओसी विकास के लिए प्रयोगशाला की सुविधा एवं  जांच (टेस्टिंग) सुविधाओं की उपलब्धता हेतु उत्तरदायी होगा।
  • उपरोक्त के साथ, प्रोत्साहन में वर्चुअल मास्टरक्लास, मेंटरशिप, प्रदर्शन अवसर एवं समस्या क्षेत्रों में आवेदक समुच्चय से चयनित किए गए शीर्ष 30 स्टार्टअप के लिए एक आभासी प्रदर्शन (वर्चुअल डेमो) दिवस भी शामिल है।
भारत में कृषि में महिलाएं: कृषि में लैंगिक मुख्यधारा भारत में कुक्कुट पालन हेतु दिशानिर्देश डेयरी सहकार योजना: सहकारिता मंत्रालय की एक पहल पशुपालन अवसंरचना विकास कोष
ए-हेल्प: डीओआरडी एवं डीएएचडी के मध्य समझौता ज्ञापन भारत की सर्वोच्च चोटी: उन राज्यों के नाम जहाँ सर्वाधिक ऊँची चोटियाँ स्थित हैं भारत में हरित हाइड्रोजन उत्पादन: क्षारीय इलेक्ट्रोलाइजर प्रौद्योगिकी का आमाप वर्धन भारत ने जलवायु परिवर्तन के संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव के विरुद्ध मतदान किया
संपादकीय विश्लेषण: जलवायु परिवर्तन पर घरेलू वास्तविकता प्रमुख संवैधानिक संशोधन अधिनियमों की सूची- भाग 3 बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना : 80% राशि विज्ञापन पर खर्च अल्प उपयोग किया गया पोषण परिव्यय
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.