UPSC Exam   »   5G Technology: Everything You Need to Know   »   5जी बनाम विमानन सुरक्षा

5जी बनाम विमानन सुरक्षा

5जी बनाम विमानन सुरक्षा: प्रासंगिकता

  • जीएस 3: विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- दैनिक जीवन में विकास तथा उनके अनुप्रयोग एवं प्रभाव।

5जी बनाम विमानन सुरक्षा_40.1

5जी बनाम विमानन सुरक्षा: प्रसंग

  • हाल ही में, अमेरिका-आधारित प्रमुख एयरलाइनों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों ने संयुक्त राज्य अमेरिका में  नवीन 5जी सेवा परिनियोजन की पृष्ठभूमि में एकविनाशकारीविमानन संकट की चेतावनी दी है।

 

क्या 5जी  विमानन सुरक्षा के लिए खतरा है? पृष्ठभूमि

  • लगभग एक वर्ष पूर्व, संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) की सरकार ने सी बैंड के नाम से जाने जाने वाले स्पेक्ट्रम पर 7-3.98 गीगाहर्ट्ज़ रेंज में मोबाइल फोन कंपनियों को मध्यम परिसर (मिड-रेंज) 5 जी बैंडविड्थ की नीलामी की थी।
  • यूएस फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) ने चेतावनी दी है कि नवीन 5जी तकनीक अल्टीमीटर जैसे उपकरणों में हस्तक्षेप कर सकती है एवं विमानन सेवाओं को बाधित कर सकती है।

 

अल्टीमीटर के बारे में

  • अल्टीमीटर एक उपकरण है जो मापता है कि एक वायुयान जमीन से कितनी ऊंचाई पर यात्रा कर रहा है।
  • यह2-4.4 गीगाहर्ट्ज़ परिसर में कार्य करता है एवं विशेषज्ञ चिंतित हैं कि नीलाम की गई रेंज (3.7-3.98 गीगाहर्ट्ज़) अल्टीमीटर की सीमा के अत्यंत निकट है।
  • इसके अतिरिक्त, स्वचालित लैंडिंग की सुविधा हेतु एवं विंड शीयर नामक खतरनाक धाराओं का पता लगाने में सहायता करने हेतु अल्टीमीटर पठन दर्श युक्ति (रीडआउट) का भी उपयोग किया जाता है।
  • अमेरिकी विमानन कंपनियां चिंतित हैं कि एफएए के नए निर्देश से अमेरिका के लगभग 40 सबसे बड़े हवाई अड्डों पर रेडियो अल्टीमीटर के उपयोग पर रोक लगेगी, जो दैनिक उड़ानों के 4 प्रतिशत तक को बाधित कर सकता है

6जी तकनीक

आवृत्ति का महत्व

  • आवृत्ति जितनी अधिक होगी, सेवा उतनी ही तीव्र होगी। अतः, 5जी सेवाओं से पूर्ण उपयोगिता प्राप्त करने हेतु, ऑपरेटर उच्च आवृत्तियों पर कार्य करना चाहते हैं।
  • नीलाम किए गए कुछ सी बैंड स्पेक्ट्रम का उपयोग सैटेलाइट रेडियो के लिए किया गया था, अतः चिंता की बात यह है कि 5जी में परिवर्तन का अर्थ है कि इसमें ट्रैफिक बहुत अधिक होगा।

5जी बनाम विमानन सुरक्षा_50.1

क्या 5जी विमानन सुरक्षा के लिए खतरनाक है? दूरसंचार कंपनियों के तर्क

  • वेरिज़ॉन एवं एटीएंडटी, दो कंपनियां जिन्होंने 5जी सेवाओं को परिनियोजित किया है, ने तर्क दिया है कि सी बैंड 5जी को विमानन हस्तक्षेप की समस्याओं के बिना लगभग 40 अन्य देशों में परिनियोजित किया गया है।
  • यद्यपि, वे हस्तक्षेप के जोखिम को कम करने के लिए छह माह हेतु संयुक्त राज्य अमेरिका में लगभग 50 हवाई अड्डों को बफर जोन के लिए सहमत हुए हैं, जैसे बफर जोन फ्रांस में उपयोग किए जाते हैं।

 

5जी बनाम विमानन सुरक्षा: कहीं और समस्या क्यों नहीं?

  • यूरोपीय संघ (ईयू) में, मध्य-श्रेणी 5जी आवृत्तियों के लिए निर्धारित मानक4-3.8 गीगाहर्ट्ज़ परिसर में हैं, जो अमेरिका में रोलआउट से कम है।
  • फ्रांस द्वारा उपयोग किया जाने वाला स्पेक्ट्रम (3.6-3.8 गीगाहर्ट्ज़) संयुक्त राज्य अमेरिका में अल्टीमीटर के लिए उपयोग किए जाने वाले स्पेक्ट्रम (2-4.4 गीगाहर्ट्ज़) से अधिक दूर है एवं 5 जी के लिए फ़्रांस का शक्ति स्तर संयुक्त राज्य अमेरिका में अधिकृत  परिसर की तुलना में बहुत कम है।
  • दक्षिण कोरिया में, 5जी मोबाइल संचार आवृत्ति42-3.7 गीगाहर्ट्ज आवृत्ति की सीमा में है एवं 2019 के पश्चात से रेडियो तरंगों के साथ हस्तक्षेप की कोई रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है।

 

5जी बनाम विमानन सुरक्षा: आगे क्या होगा?

  • वेरिज़ॉन एवं एटीएंडटी ने कुछ हवाई अड्डों के समीप 5जी के प्रारंभ में विलंब किया है क्योंकि एयरलाइंस ने परिवहन तथा अर्थव्यवस्था के लिए गंभीर परिणामों की चेतावनी दी है।
आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर | ब्रह्म कुमारियों की सात पहल संपादकीय विश्लेषण: नगरीय सरकारों का लोकतंत्रीकरण एवं उन्हें सशक्त बनाना आईएएस (संवर्ग) नियम 1954 | केंद्र आईएएस (कैडर) नियमों में संशोधन करेगा वैश्विक साइबर सुरक्षा दृष्टिकोण 2022
भारत-मॉरीशस संबंध महासागरीय धाराएँ: गर्म और ठंडी धाराओं की सूची-1 न्यूज़ ऑन एयर रेडियो लाइव-स्ट्रीम वैश्विक रैंकिंग भारत में पक्षी अभ्यारण्यों की सूची
संपादकीय विश्लेषण- नरसंहार की रोकथाम आरबीआई ने कृषि को धारणीय बनाने हेतु हरित क्रांति 2.0 की वकालत की स्टार्टअप इंडिया इनोवेशन वीक |राष्ट्रीय स्टार्ट-अप दिवस जिसे प्रत्येक वर्ष मनाया जाना है  इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) | आईपीपीबी के उद्देश्य, विशेषताएं एवं प्रदर्शन

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.
Was this page helpful?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *