UPSC Exam   »   SBM (Urban) 2.0   »   NAMASTE Scheme

मशीनीकृत स्वच्छता पारिस्थितिकी तंत्र के लिए राष्ट्रीय कार्रवाई (नमस्ते) योजना

नमस्ते योजना- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता 

  • जीएस पेपर 2: शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- केंद्र एवं राज्यों द्वारा आबादी के कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं तथा इन योजनाओं का प्रदर्शन।

मशीनीकृत स्वच्छता पारिस्थितिकी तंत्र के लिए राष्ट्रीय कार्रवाई (नमस्ते) योजना_40.1

नमस्ते योजना चर्चा में क्यों है?

  • हाल ही में, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय (मिनिस्ट्री ऑफ सोशल जस्टिस एंड एंपावरमेंट/MoSJE) द्वारा मशीनीकृत स्वच्छता पारिस्थितिकी तंत्र के लिए राष्ट्रीय कार्रवाई (नेशनल एक्शन फॉर मैकेनाइज्ड सैनिटेशन इकोसिस्टम/नमस्ते) योजना प्रारंभ की गई थी।

 

नमस्ते योजना

  • नमस्ते योजना के बारे में: नमस्ते एक सक्षम पारिस्थितिकी तंत्र निर्मित कर शहरी भारत में स्वच्छता श्रमिकों की सुरक्षा एवं सम्मान की परिकल्पना करता है जो स्वच्छता संबंधी आधारिक संरचना के संचालन  एवं रखरखाव में प्रमुख योगदानकर्ताओं में से एक के रूप में स्वच्छता श्रमिकों को मान्यता प्रदान करता है।
  • अधिदेश: शहरी भारत में सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा एवं सम्मान सुनिश्चित करना तथा स्थायी आजीविका प्रदान करना एवं क्षमता निर्माण तथा सुरक्षा उपकरण एवं मशीनों तक बेहतर पहुंच के माध्यम से उनकी व्यावसायिक सुरक्षा को बढ़ाना।
  • मूल मंत्रालय:  नेशनल एक्शन फॉर मैकेनाइज्ड सैनिटेशन इकोसिस्टम (नमस्ते) योजना सामाजिक न्याय  एवं अधिकारिता मंत्रालय (मिनिस्ट्री ऑफ सोशल जस्टिस एंड एंपावरमेंट/MoSJE) की एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है।
    • इसे सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय तथा आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय (मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स/MoHUA) द्वारा संयुक्त रूप से लागू किया जा रहा है।
  • कवरेज: नमस्ते योजना के इस चरण के तहत पांच सौ शहरों (अमृत शहरों के साथ अभिसरण) को लिया जाएगा। अर्ह होने वाले पात्र शहरों की श्रेणी नीचे दी गई है:
    • छावनी बोर्डों (नागरिक क्षेत्रों) सहित अधिसूचित नगर पालिकाओं वाले एक लाख से अधिक आबादी वाले सभी शहर एवं कस्बे
    • सभी राजधानी शहर/राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों (अर्बन टेरिटरीज/यूटी) के शहर, जो 4(i) में सम्मिलित नहीं हैं,
    • पहाड़ी राज्यों, द्वीपों एवं पर्यटन स्थलों के दस शहर (प्रत्येक राज्य से एक से अधिक नहीं)।
  • वित्त पोषण: NAMASTE योजना को 2022-23 से 2025-26 तक चार वर्षों के लिए 360 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ अनुमोदित किया गया है।

 

नमस्ते योजना के प्रमुख उद्देश्य 

  • नमस्ते योजना का लक्ष्य होगा-
    • स्वच्छता कार्यकर्ताओं की संवेदनशीलताओं को कम करने हेतु वैकल्पिक आजीविका सहायता एवं पात्रता तक पहुंच प्रदान करना एवं
    • उन्हें स्व-रोजगार एवं कुशल मजदूरी रोजगार के अवसरों तक पहुंच स्थापित करने एवं स्वच्छता कार्य में अंतर-पीढ़ी को तोड़ने में सक्षम बनाना।
    • इसके अतिरिक्त, नमस्ते  योजना स्वच्छता कार्यकर्ताओं के प्रति नागरिकों के व्यवहार में परिवर्तन लाएगा  एवं सुरक्षित स्वच्छता सेवाओं की मांग में वृद्धि करेगा।

 

नमस्ते योजना- अपेक्षित परिणाम

नमस्ते योजना का उद्देश्य निम्नलिखित परिणामों को प्राप्त करना है:

  • भारत में स्वच्छता कार्यों में शून्य मृत्यु
  • समस्त स्वच्छता कार्य कुशल श्रमिकों द्वारा संपादित किए जाएं
  • कोई भी सफाई कर्मचारी मानव मल के प्रत्यक्ष संपर्क में नहीं आए
  • स्वच्छता कार्यकर्ताओं को स्वयं सहायता समूहों में एकत्रित किया जाता है एवं उन्हें स्वच्छता प्रतिष्ठानों को संचालित करने का अधिकार प्रदान किया जाता है
  • सभी सीवर एवं सेप्टिक टैंक सफाई कर्मचारियों (एसएसडब्ल्यू) के पास वैकल्पिक आजीविका तक पहुंच  उपलब्ध है
  • सुरक्षित स्वच्छता कार्य के प्रवर्तन एवं अनुश्रवण को सुनिश्चित करने हेतु राष्ट्रीय, राज्य तथा शहरी स्थानीय निकायों (अर्बन लोकल बॉडीज/यूएलबी) स्तरों पर दृढ़ पर्यवेक्षी एवं अनुश्रवण प्रणाली
  • पंजीकृत एवं कुशल स्वच्छता कर्मकारों से सेवाएं लेने के लिए स्वच्छता सेवा चाहने वालों (व्यक्तियों तथा संस्थानों) के मध्य जागरूकता में वृद्धि करना।

मशीनीकृत स्वच्छता पारिस्थितिकी तंत्र के लिए राष्ट्रीय कार्रवाई (नमस्ते) योजना_50.1

नमस्ते योजना का क्रियान्वयन

  • राष्ट्रीय नमस्ते प्रबंधन इकाई: राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्तीय विकास निगम (नेशनल सफाई कर्मचारी फाइनेंशियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन/एनएसकेएफडीसी) नमस्ते के लिए कार्यान्वयन एजेंसी होगी।
    • संरचना के शीर्ष पर एनएसकेएफडीसी के प्रबंध निदेशक के अधीन राष्ट्रीय नमस्ते अनुश्रवण इकाई (नेशनल नमस्ते मॉनिटरिंग यूनिट/एनएनएमयू) होगी, जो भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय (एमओएसजेई) में संबंधित डिवीजन प्रमुख को रिपोर्ट करेगी।
    • मोबाइल ऐप एवं समर्पित वेबसाइटों के माध्यम से अधिकतम अनुश्रवण तथा रिपोर्टिंग वास्तविक समय के आधार पर होगी।
  • राज्य नमस्ते प्रबंधन इकाई: राज्य सरकार, राज्य नमस्ते प्रबंधन इकाई (एसएनएमयू) के प्रमुख के रूप में राज्य नमस्ते निदेशक के रूप में नामित होने के लिए एक उपयुक्त अधिकारी का निर्णय करेगी।
    • अधिकारी एसबीएम, एनयूएलएम, अमृत  अथवा  शहरी स्थानीय निकायों या राज्य के किसी अन्य संबंधित विभाग से हो सकता है।
    • उन्हें आवश्यकता के अनुसार योजना के तहत तैनात किए जाने वाले पीएमयू संसाधन (राज्य नमस्ते प्रबंधक) द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी।
    • शहर के स्तर पर, सिटी नमस्ते मॉनिटरिंग यूनिट (सीएनएमयू) में संबंधित शहरी स्थानीय निकाय द्वारा नामित शहर का एक नमस्ते नोडल अधिकारी शामिल होगा, जिसे योजना के तहत तैनात पीएमयू संसाधन (सिटी नमस्ते प्रबंधक) द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी।
  • सिटी नमस्ते मॉनिटरिंग यूनिट: पीएमयू का आयोजन नगर पालिकाओं के समूहों में किया जाएगा ताकि सिटी नमस्ते मॉनिटरिंग यूनिट (सीएनएमयू) के रूप में कार्य किया जा सके ताकि एसबीएम संकुल (क्लस्टर्स) के साथ अनुरूप किया जा सके।
    • सिटी नमस्ते मॉनिटरिंग यूनिट (CNMU) शहर में सीवरेज संचालन से संबंधित किसी भी अन्य शहरी निकाय जैसे सीवरेज बोर्ड / जल बोर्ड, छावनी बोर्ड इत्यादि को सम्मिलित करना सुनिश्चित करेगी।
  • आईईसी अभियान:  शहरी स्थानीय निकायों एवं राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्तीय विकास निगम द्वारा संयुक्त रूप से अभियान चलाया जाएगा ताकि लक्षित स्वच्छता कार्यकर्ताओं की गणना एवं नमस्ते के अन्य  अंतःक्षेपों के बारे में जागरूकता का प्रसार किया जा सके।
    • अभियान के लिए प्रमुख स्थानों पर इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया तथा होर्डिंग्स का प्रयोग स्थानीय भाषा एवं अंग्रेजी/हिंदी में किया जाएगा।

 

प्रशासनिक सुधारों पर क्षेत्रीय सम्मेलन 2022 उड़ान योजना- विगत पांच वर्षों में प्रदर्शन पारंपरिक ज्ञान डिजिटल लाइब्रेरी (टीकेडीएल) संपादकीय विश्लेषण- मूविंग पॉलिसी अवे  फ्रॉम पापुलेशन कंट्रोल 
आवश्यक वस्तु अधिनियम संपादकीय विश्लेषण- द कमिंग 75 इयर्स मंथन प्लेटफॉर्म विमोचित पालन ​​1000 राष्ट्रीय अभियान एवं पेरेंटिंग ऐप
इथेनॉल सम्मिश्रण को समझना बाल आधार पहल संपादकीय विश्लेषण- ए ट्रिस्ट विद द पास्ट पोलियो वायरस: लंदन, न्यूयॉर्क और जेरूसलम में मिला 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.