Home   »   How to Prepare for UPSC CSE Mains Examination: Step-by-Step Guide for Beginners   »   जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार...

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: प्रासंगिकता

  • जीएस 2: भारत के हितों, भारतीय प्रवासियों पर विकसित एवं विकासशील देशों की नीतियों एवं राजनीति का प्रभाव।

 

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: प्रसंग

  • हाल ही में जी 7 देशों-कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूनाइटेड किंगडम एवं संयुक्त राज्य अमेरिका ने सीमा पारीय डेटा उपयोग एवं डिजिटल व्यापार को नियंत्रित करने के लिए डिजिटल व्यापार सिद्धांतों पर सहमति व्यक्त की।

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत_40.1

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी हेतु निशुल्क वीडियो प्राप्त कीजिए एवं आईएएस/ आईपीएस/ आईआरएस बनने के अपने सपने को साकार कीजिए

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: प्रमुख बिंदु

डिजिटल बाजार खोलना

  • जी 7 व्यापार मंत्रियों ने सहमति व्यक्त की है कि डिजिटल एवं दूरसंचार बाजार प्रतिस्पर्धी, पारदर्शी, निष्पक्ष एवं अंतर्राष्ट्रीय व्यापार तथा निवेश के लिए सुलभ होना चाहिए।
  • डिजिटल व्यापार का उपयोग रोजगार का समर्थन करने, जीवन स्तर के उन्नयन एवं श्रमिकों, नवप्रवर्तकों एवं उपभोक्ताओं के आवश्यकताओं की पूर्ति करने हेतु किया जाना चाहिए।
  • डिजिटल व्यापार को उद्यमशीलता, विशेष रूप से महिला उद्यमियों एवं सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम आकार के उद्यमों (एमएसएमई) का समर्थन करना चाहिए।

व्यापार एवं विकास रिपोर्ट 2021

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: विश्वास के साथ डेटा मुक्त प्रवाह

  • डिजिटल व्यापार के अवसर का लाभ उठाने के लिए व्यक्तियों एवं व्यवसायों के विश्वास सहित, डेटा को विश्वास के साथ सीमाओं के पार स्वतंत्र रूप से प्रवाहित करने में सक्षम होना चाहिए।
  • डेटा स्थानीयकरण आवश्यकताओं का उपयोग संरक्षणवादी एवं भेदभावपूर्ण उद्देश्यों के लिए नहीं किया जाना चाहिए
  • व्यक्तिगत डेटा को उच्च प्रवर्तन योग्य मानकों द्वारा संरक्षित किया जाना चाहिए, जिसमें इसके सीमाओं के पार स्थानांतरित किया जाना भी सम्मिलित है।
  • मुक्त सरकारी डेटा डिजिटल व्यापार में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। जहां उपयुक्त हो, सार्वजनिक क्षेत्र के डेटासेट को गुप्त, मुक्त, अंतर-संचालित (इंटर ऑपरेबल) एवं सुलभ रूपों में प्रकाशित किया जाना चाहिए।

वैश्विक कृषि उत्पादकता रिपोर्ट 2021

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: श्रमिकों, उपभोक्ताओं और व्यवसायों के लिए सुरक्षा उपाय

  • कार्य की उचित दशाएं प्रदान करते हुए, डिजिटल व्यापार में प्रत्यक्ष रूप से आयोजित या सहयोग करने वाले श्रमिकों के लिए श्रम सुरक्षा होनी चाहिए।
  • वस्तुओं एवं सेवाओं का ऑनलाइन क्रय करते समय उच्च स्तर की उपभोक्ता सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी उपाय किए जाने चाहिए।
  • व्यवसायों के पास एक सुरक्षित डिजिटल व्यापारिक वातावरण होना चाहिए, साइबर सुरक्षा के उच्चतम मानकों एवं अवैध या दुर्भावनापूर्ण गतिविधि के प्रति लोचशीलता होनी चाहिए।
  • व्यवसायों को बाजार अधिगम (पहुंच) की शर्त के रूप में प्रौद्योगिकी हस्तांतरण या स्रोत कूट (सोर्स कोड) अथवा कूट लेखन (एन्क्रिप्शन) कुंजी तक अधिगम प्रदान करने की आवश्यकता या बाध्यता नहीं होना चाहिए

 

उपभोक्ता विश्वास सर्वेक्षण (सीसीएस)

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: डिजिटल व्यापार प्रणाली

  • लालफीताशाही को कम करने एवं अधिक व्यवसायों को व्यापार करने में सक्षम बनाने के लिए, सरकारों एवं उद्योग जगत को व्यापार से संबंधित दस्तावेजों के डिजिटलीकरण को आगे बढ़ाना चाहिए।
  • सीमा अभिकरणों के साथ हितधारकों की अंतः क्रिया को धारारेखित करने (सरल एवं कारगर बनाने) हेतु एकल व्यापारिक खिड़की (सिंगल ट्रेड विंडो) विकसित की जानी चाहिए।

 

जी 7 द्वारा प्रतिपादित डिजिटल व्यापार सिद्धांत: निष्पक्ष एवं समावेशी वैश्विक शासन

  • विश्व व्यापार संगठन में डिजिटल व्यापार के लिए सामान्य नियमों पर सहमति एवं समर्थन किया जाना चाहिए। इन नियमों से विकासशील अर्थव्यवस्थाओं के साथ-साथ विकसित अर्थव्यवस्थाओं में श्रमिकों, उपभोक्ताओं एवं व्यवसायों को लाभ प्राप्त होना चाहिए।
  • समावेशी विकास को प्रोत्साहन प्रदान करने हेतु देशों के मध्य एवं देशों के भीतर डिजिटल अंतराल से निपटने के प्रयास और गहन किए जाने चाहिए।
  • सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकियों के लिए अंतर्राष्ट्रीय मानकों को इस प्रकार से विकसित किया जाना चाहिए जो विश्व व्यापार संगठन तकनीकी बाधाओं के व्यापार समिति के छह सिद्धांतों का अनुपालन करते हों, नामतः
    • पारदर्शिता,
    • खुलापन,
    • निष्पक्षता एवं आम सहमति,
    • प्रभावशीलता एवं प्रासंगिकता,
    • सुसंगतता, एवं
    • विकास के आयाम।

कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी इन)

 

Sharing is caring!