Home   »   यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 अध्ययन...   »   यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 अध्ययन...

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 अध्ययन योजना | शुरुआती / फ्रेशर्स के लिए परीक्षा रणनीति

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022-अध्ययन योजना | शुरुआती / फ्रेशर्स के लिए तैयारी रणनीति

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा (सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन) देश की सर्वाधिक प्रतिष्ठित सरकारी परीक्षा है।  आईएएस अधिकारी बनना प्रत्येक उम्मीदवार एवं उसके परिवार का सपना होता है। इसके लिए, उम्मीदवारों, विशेष रूप से फ्रेशर्स /  प्रथम बार सम्मिलित होने वाले उम्मीदवारों को यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 के लिए अध्ययन योजना तैयार करनी चाहिए। यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा  2022 की तैयारी हेतु रणनीति न केवल निर्धारित समय अवधि के भीतर पाठ्यक्रम को पूर्ण करने में सहायता करती है, बल्कि यह भी सुनिश्चित करती है कि परीक्षा हॉल में प्रवेश करने से पहले सभी आवश्यक चीजों को व्यवस्थित कर दिया जाए।

इस संदर्भ में,  यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 2022 के विभिन्न पहलुओं को यूपीएससी 2022 के पाठ्यक्रम से लेकर  यूपीएससी परीक्षा पैटर्न तक प्रत्येक स्तर पर परीक्षा की आवश्यकता के बारे में जानना अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाता है।  अनेक उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के बुनियादी पहलुओं की पर्याप्त समझ के बिना इस यूपीएससी तैयारी  के मैराथन में कूदने की गलती करते हैं।

आज, हम परीक्षा की तैयारी प्रारंभ करने वाले शुरुआती लोगों के लिए यूपीएससी आईएएस परीक्षा 2022 की तैयारी  हेतु रणनीति पर चर्चा करने जा रहे हैं। हम शुरुआती लोगों के लिए  यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 फ्रेशर स्टडी प्लान प्रदान करेंगे। यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा 2022 सिविल सेवा परीक्षा का प्रथम एवं सर्वाधिक महत्वपूर्ण चरण होगा। हम  यूपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा के निम्नलिखित पहलुओं पर चर्चा करने जा रहे हैं-

  • परीक्षा प्रारूप
  • प्रारंभिक परीक्षा का पाठ्यक्रम
  • अपनी तैयारी आरंभ करने हेतु चरण-दर-चरण मार्गदर्शिका

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 अध्ययन योजना | शुरुआती / फ्रेशर्स के लिए परीक्षा रणनीति_30.1

शुरुआती अभ्यर्थियों के लिए आईएएस परीक्षा की तैयारी  हेतु रणनीति- प्रारंभिक परीक्षा का प्रारूप

  • यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा तीन चरणों, पहले प्रारंभिक परीक्षा, फिर मुख्य परीक्षा और अंत में साक्षात्कार के दौर में आयोजित की जाति है। प्रारंभिक परीक्षा एक क्वालिफाइंग राउंड है  एवं यूपीएससी  अर्ह उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा एवं साक्षात्कार परीक्षाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर लघु सूचीबद्ध (शॉर्टलिस्ट) करता है।
  • प्रारंभिक परीक्षा में दो पेपर होते हैं  तथा प्रत्येक पेपर में वस्तुनिष्ठ प्रश्न (मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन) होते हैं।
    • सामान्य अध्ययन पेपर 1 (सामान्य जागरूकता)
    • सामान्य अध्ययन पेपर 2 (सीसैट)
  • सामान्य अध्ययन पेपर 1 (सामान्य जागरूकता): इसमें 100 प्रश्न होते हैं एवं प्रत्येक सही उत्तर उम्मीदवार को दो अंक  प्रदान करता है। यूपीएससी उम्मीदवारों को गलत उत्तर के लिए प्रत्येक प्रश्न के लिए आवंटित अंकों के समायोजन में 1/3 से भी दंडित करता है। उन प्रश्नों के लिए कोई ऋणात्मक अंक नहीं हैं जिन्हें उम्मीदवारों ने हल नहीं किया।
  • सामान्य अध्ययन पेपर 2 (सीसैट): इसमें 80 प्रश्न होते हैं एवं प्रत्येक सही उत्तर उम्मीदवार के लिए 2.5 अंक प्राप्त करता है। जीएस पेपर 1 की  भांति, यहां भी यूपीएससी प्रश्न के लिए आवंटित अंकों में से एक तिहाई अंक काटकर गलत उत्तरों को दंडित करता है। छोड़े गए प्रश्न से उम्मीदवार को कोई अंक प्राप्त नहीं होता है।
    • मूल्यांकन के उद्देश्य से एक उम्मीदवार को आईएएस प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपरों में उपस्थित होना अनिवार्य है।
  • प्रारंभिक परीक्षा के लिए कट-ऑफ: यह यूपीएससी द्वारा उस वर्ष में सीटों की संख्या  एवं जीएस पेपर -1 में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर तैयार किया जाता है, बशर्ते कि उसे न्यूनतम अर्हक अंक (कुल का 33%) प्राप्त हुए हों। जीएस पेपर 2. प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को फिर यूपीएससी द्वारा मुख्य परीक्षा के लिए आमंत्रित किया जाता है।

 

 यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा नव अभ्यर्थियों के लिए अध्ययन योजना: आईएएस प्रारंभिक परीक्षा  का विवरण

 

परीक्षा कुल अंक प्रश्नों की संख्या परीक्षा की अवधि ऋणात्मक अंकन प्रकृति योग्यता मानदंड 
जीएस पेपर 1 200 100 2 घंटे हां कट-ऑफ के निर्धारण हेतु प्राप्त अंकों की गणना की जाती है यूपीएससी अर्ह उम्मीदवारों के लिए कट ऑफ का निर्धारण करता है
जीएस पेपर 2 200 80 2 घंटे हां  अर्हता 33% (66 /200)

 

 

 

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 अध्ययन योजना- प्रारंभिक परीक्षा में सफलता हेतु मुख्य सुझाव

  • अपनी तैयारी की योजना बनाएं: सामान्य तौर पर, यूपीएससी के इच्छुक उम्मीदवार यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा से लगभग एक वर्ष पूर्व अपनी तैयारी प्रारंभ कर देते हैं। राज व्यवस्था, इतिहास, भूगोल इत्यादि जैसे स्थैतिक विषयों को व्यापक रूप से पूर्ण करने के साथ-साथ एक समाचार पत्र (हिंदू / इंडियन एक्सप्रेस / अन्य) को पढ़ना प्रारंभ करना चाहिए।
  • पाठ्यक्रम एवं परीक्षा पैटर्न से परिचित हों: इससे उम्मीदवारों को सदैव परीक्षा की मांग जानने  तथा उसके अनुरूप तैयारी करने में सहायता प्राप्त होती है। बुनियादी समझ के अभाव में, उम्मीदवार प्रायः पुस्तकों एवं अध्ययन सामग्री के समुद्र में खो जाते हैं जो यूपीएससी की तैयारी के लिए अत्यधिक मात्रा में उपलब्ध हैं।
    • पाठ्यक्रम को दिल से जानने से एक उम्मीदवार को विभिन्न अध्ययन सामग्री से महत्वपूर्ण जानकारी ग्रहण करने में सहायता प्राप्त होती है एवं पाठ्यक्रम के विभिन्न टॉपिक्स को आपस में जोड़ने में भी सहायता मिलती है, इसलिए, यह स्पष्ट अवधारणा एवं व्यापक ज्ञान सुनिश्चित करता है।
  • साप्ताहिक एवं मासिक अध्ययन योजना बनाएं: यह महत्वपूर्ण है, क्योंकि एक उचित योजना के बिना, एक उम्मीदवार एक विशाल पाठ्यक्रम तथा अनेक व्यक्तियों के विविध प्रकार के सुझावों के दबाव में खो जाता है।
  • समय आवंटन: तैयारी के आरंभिक महीनों में, उम्मीदवारों को प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा दोनों के दृष्टिकोण से अध्ययन करना चाहिए। प्रारंभिक परीक्षा से लगभग तीन माह पूर्व ही, प्रारंभिक परीक्षा हेतु समर्पित तैयारी प्रारंभ कर देनी चाहिए।
    • समर्पित प्रारंभिक तैयारी प्रारंभ करने से पूर्व एक अभ्यर्थी को वैकल्पिक विषयों को व्यापक रूप से कवर कर चुका होना चाहिए।
  • जानकारियों को रटने के स्थान पर अवधारणाओं को समझना चाहिए: विगत वर्षों के रुझानों का विश्लेषण करते हुए, हमने पाया है कि यूपीएससी वैचारिक प्रश्नों पर अधिक एवं तथ्यात्मक प्रश्नों पर कम ध्यान केंद्रित करता है। प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्नों को सफलतापूर्वक हल करने के लिए, उम्मीदवारों को विषय की व्यापक तथा वैचारिक समझ की आवश्यकता होती है। यदि आपके पास वैचारिक स्पष्टता है तो यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में भी तथ्यात्मक प्रश्नों को सफलतापूर्वक हल किया जा सकता है।
  • करंट अफेयर्स का महत्व: उम्मीदवारों को समसामयिकी (करंट अफेयर्स) के महत्व को समझना चाहिए क्योंकि पर्यावरण तथा पारिस्थितिकी, विज्ञान एवं अर्थव्यवस्था से कई प्रश्न प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से  विगत वर्ष की समसामयिक घटनाओं से जुड़े होते हैं। यहां तक ​​कि इतिहास,  राजव्यवस्था एवं भूगोल जैसे स्थैतिक विषयों के अनेक प्रश्न कुछ वर्तमान घटनाओं के संदर्भ में तैयार किए गए हैं।
    • जब आप करेंट अफेयर्स पढ़ रहे हों, तो आपको उस विशेष विषय के संबंधित स्थैतिक हिस्से को भी कवर करना चाहिए। उदाहरण के लिए, यदि किसी राज्य विधानसभा के अध्यक्ष द्वारा दल बदल विरोधी कानून के तहत सदन के सदस्यों को अनर्ह घोषित करने की खबर है। तब, आपको सदन के सदस्यों को अनर्ह घोषित करने हेतु अध्यक्ष के पद, दल बदल विरोधी कानून तथा अन्य तंत्रों का अध्ययन करना चाहिए।
  • मॉक पेपर्स को हल करने का अभ्यास करें: एक उम्मीदवार को शीघ्र से शीघ्र बहुविकल्पीय प्रश्नों (एमसीक्यू) को हल करना प्रारंभ कर देना चाहिए। प्रारंभ में एक अभ्यर्थी को विगत  वर्षों के यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा के पेपर के साथ अभ्यास करना चाहिए। करंट अफेयर्स के लिए, आप Adda247 ऐप पर हमारे दैनिक क्विज़ को हल कर सकते हैं जो इस विषय पर विस्तृत शोध के बाद व्यापक रूप से तैयार किया गया है। एक उम्मीदवार को प्रारंभिक परीक्षा से कम से कम तीन माह पूर्व मॉक प्रश्न पत्रों को प्राथमिकता के आधार पर हल करना प्रारंभ कर देना चाहिए। एमसीक्यू को हल करने से आपको निम्नलिखित तरीकों से सहायता प्राप्त होगी-
    • अभ्यास व्यक्ति को संपूर्ण बनाता है। मॉक पेपर को हल करने से परीक्षा के पैटर्न तथा उसकी मांग के बारे में आपकी समझ में वृद्धि होगी।
    • यह परीक्षा में आपके समय प्रबंधन में सुधार करेगा क्योंकि 200 प्रश्नों को हल करने के लिए मात्र 120 मिनट का समय दिया जाता है।
    • अपने कमजोर क्षेत्र की पहचान करने में आपकी सहायता करता है, जिस पर आप प्रयत्न कर सकते हैं  एवं सुधार कर सकते हैं।
  • सीसैट के पेपर की उपेक्षा न करें:  विगत कुछ वर्षों में, हम अनेक प्रतिभाशाली एवं जानकार उम्मीदवारों से मिलते रहे हैं, जो  प्रारंभिक परीक्षा को उत्तीर्ण नहीं कर सके क्योंकि वे सीसैट के पेपर में क्वालिफाइंग अंक प्राप्त करने में विफल रहे, भले ही वे सामान्य अध्ययन के पेपर 1 में अच्छे अंक प्राप्त कर रहे थे। भले ही आप विज्ञान की पृष्ठभूमि से रहे हों (प्रायः इस पेपर को अनदेखा करने के लिए उम्मीदवारों द्वारा उद्धृत)  आपको सीसैट की तैयारी करनी चाहिए। आप  विगत वर्षों के प्रश्नपत्रों को हल करना प्रारंभ कर सकते हैं।  तत्पश्चात कुछ मॉक टेस्ट पेपर हल करें। यह आपको समय प्रबंधन (प्रायः सीसैट पेपर में इसे एक मुद्दा पाया जाता है) तथा पाठ्यक्रम  एवं पेपर की मांग की बुनियादी समझ प्राप्त करने में सहायता करेगा।

  यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 अध्ययन योजना | शुरुआती / फ्रेशर्स के लिए परीक्षा रणनीति_40.1

यूपीएससी सिविल सेवा 2022 तैयारी- प्रारंभिक परीक्षा  का पाठ्यक्रम

  • जीएस पेपर 1 पाठ्यक्रम: इस पेपर में मोटे तौर पर निम्नलिखित विषय सम्मिलित हैं जैसा कि यूपीएससी के प्रारंभिक पाठ्यक्रम खंड में उल्लिखित है-
    • राष्ट्रीय  एवं अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाएं।
  • भारत का इतिहास तथा भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
  • भारतीय एवं विश्व भूगोल – भारत तथा विश्व का भौतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल।
  • भारतीय राजव्यवस्था एवं शासन – संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकार के मुद्दे, इत्यादि।
  • आर्थिक तथा सामाजिक विकास – सतत विकास, निर्धनता, समावेश, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल,  इत्यादि।
  • पारिस्थितिकी पर सामान्य मुद्दे, जैव-विविधता एवं जलवायु परिवर्तन – जिसके लिए विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है।
  • सामान्य विज्ञान।
  • जीएस पेपर 2 पाठ्यक्रम: यूपीएससी इस पेपर के लिए निम्नलिखित टॉपिक्स का उल्लेख करता है।
    • संचार कौशल सहित अंतरवैयक्तिक कौशल।
    • तार्किक तर्कणा एवं विश्लेषणात्मक क्षमता।
  • निर्णय निर्माण एवं समस्या का समाधान करना।
  • सामान्य मानसिक क्षमता।
  • मूलभूत संख्यात्मकता एवं आँकड़ा निर्वचन।

 

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करना एवं आईएएस बनना लाखों उम्मीदवारों का सपना होता है, किंतु एक लंबी परीक्षा प्रक्रिया (लगभग एक वर्ष) तथा विशाल पाठ्यक्रम (प्रायः यह कहा जाता है कि एक यूपीएससी उम्मीदवार को सब कुछ कहीं भी पढ़ना पड़ता है) प्राय अनेक व्यक्तियों के सपनों को कुचल देता है। किंतु आपको चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि Adda247 आपकी यूपीएससी की यात्रा को सफल बनाने के लिए सभी आवश्यक सहायता प्रदान करता है। हम प्रत्येक के लिए पृथक सदस्यता (वन-टू-वन मेंटरशिप) प्रदान करते हैं एवं प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा साक्षात्कार के लिए समर्पित पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट/ऐप (Adda247) पर जा सकते हैं।

हमारी वेबसाइट- Adda247/ऐप/यूट्यूब चैनल- यूपीएससी Adda247 पर यूपीएससी परीक्षा के लिए निशुल्क सामग्री जैसे लाइव/रिकॉर्डेड कक्षाएं, दैनिक क्विज़, संपादकीय विश्लेषण एवं मुख्य परीक्षा से संबंधित लेख देखें।

 

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 की तैयारी हेतु रणनीति: छह समर्पित चरण

यूपीएससी सिविल सेवा  परीक्षा 2022  विगत वर्षों के प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्न पत्रों का विश्लेषण

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022:  विगत वर्षों के प्रारंभिक परीक्षा के पेपर डाउनलोड

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 विगत वर्षों के कट ऑफ

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 पाठ्यक्रम:  यूपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम 2022

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022: सिविल सेवा के बारे में जानें

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 वेतन संरचना

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 पात्रता मानदंड

 

Sharing is caring!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *