UPSC Exam   »   Ramsar Convention on Wetlands   »   Pantanal Wetland

पैंटानल आर्द्रभूमि के विनष्ट होने का खतरा है, वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी 

पैंटानल आर्द्रभूमि यूपीएससी: प्रासंगिकता

  • जीएस 3: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण एवं क्षरण, पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन।

पैंटानल आर्द्रभूमि के विनष्ट होने का खतरा है, वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी _40.1

पैंटानल आर्द्रभूमि: संदर्भ

  • हाल ही में, वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि विश्व की सर्वाधिक वृहद आर्द्रभूमि, दक्षिण अमेरिका में पैंटानल, स्थानीय तथा प्रतीत होने वाले गौण निर्णयों एक श्रृंखला के कारण विनष्ट होने का खतरा है।

 

पैंटानल आर्द्रभूमि के बारे में

  • पैंटानल आर्द्रभूमि ब्राजील, पराग्वे तथा बोलीविया में 1.80 लाख वर्ग किमी में विस्तृत है एवं दक्षिण अमेरिका में वनस्पतियों तथा जीवों के उच्चतम संकेंद्रण में से एक है।
  • इसकी अधिकांश भूमि का स्थानीय समुदायों एवं शिकारी मछुआरों द्वारा पारंपरिक पशुपालन तथा मछली पकड़ने के लिए, इसके पारिस्थितिक तंत्र पर अपेक्षाकृत कम प्रभाव के साथ उपयोग किया जाता है।
  • इसे ब्राजील के संविधान द्वारा एक राष्ट्रीय विरासत एवं एक प्रतिबंधित उपयोग क्षेत्र के रूप में नाम निर्देशित किया गया है जिसका उपयोग पारिस्थितिक रूप से सतत होना चाहिए।
  • पैंटानल एक पारिस्थितिकी तंत्र है जहां मौसमी बाढ़ का विस्तार तथा अवधि जैव विविधता, पारंपरिक पशुपालन एवं स्थानीय समुदायों द्वारा उपयोग किए जाने वाले संसाधनों को अनुरक्षित रखने हेतु महत्वपूर्ण है।

पैंटानल आर्द्रभूमि के विनष्ट होने का खतरा है, वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी _50.1

पैंटानल आर्द्रभूमि में मुद्दे

  • वैज्ञानिकों ने विगत दो दशकों में स्थानीय रूप से निर्मित तथा विधिक भूमि-उपयोग के निर्णयों तथा आर्द्रभूमि को अधिक गहन उपयोगों के लिए खोलने के प्रस्तावों में एक खतरनाक वृद्धि का हवाला दिया है जो सामूहिक रूप से पैंटानल के दीर्घकालिक अस्तित्व के प्रति खतरा है।
  • वैज्ञानिकों ने इस बात पर भी बल दिया है कि सतत पशुपालन, मछली पकड़ने, पारिस्थितिक पर्यटन, पारंपरिक समुदायों, जैव विविधता एवं पारिस्थितिकी तंत्र सेवाओं के भविष्य से समझौता करने वाले दोषपूर्ण निर्णयों से पैंटानल के सतत उपयोग को चुनौती नहीं दी जानी चाहिए।
  • रिपोर्ट ने चेतावनी दी कि व्यक्तिगत एवं स्थानीय हित पैंटानल के संरक्षण के सामूहिक हितों के लिए हानिकारक थे, स्थिति की तुलनाआम लोगों की त्रासदीअथवा गौण निर्णयों के अत्याचारसे करते हैं।
  • नदी घाटियों में पैंटानल आर्द्रभूमि निर्मित करने वाले जलविद्युत संयंत्रों की बढ़ती संख्या के कारण वैज्ञानिक चिंतित थे, जिससे पारिस्थितिक तंत्र में जल विज्ञान एवं पोषक तत्वों के अंतर्ग्रहण में महत्वपूर्ण परिवर्तन हो सकते हैं।
  • पारिस्थितिक तंत्र के जल विज्ञान संबंधी (हाइड्रोलॉजिकल) चिह्न को नकारात्मक रूप से प्रभावित करने की क्षमता के कारण जलमार्ग पैंटानल के लिए एक बड़ा खतरा उत्पन्न कर सकता है
  • वैश्विक स्तर पर जलवायु परिवर्तन, अमेज़ॅन वर्षावन में वनोन्मूलन एवं गंभीर सूखे तथा व्यापक पैमाने पर आग से पैंटानल को भी खतरा है
  • इसके अतिरिक्त, अनुमान है कि 2020 में ब्राजील के एक चौथाई हिस्से को जलाने वाले जंगल की आग से 17 मिलियन से अधिक कशेरुकी तुरंत मारे गए थे।

 

श्रीलंका में संकट- श्रीलंकाई प्रधानमंत्री ने त्यागपत्र दिया भारत में जूट उद्योग: इतिहास, मुद्दे तथा सरकार द्वारा उठाए गए कदम खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2021 प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक 2022
राष्ट्रीय युवा नीति प्रारूप संपादकीय विश्लेषण- वॉच द गैप इंटरनेट के भविष्य पर वैश्विक घोषणा  नॉर्थ ईस्ट फेस्टिवल 2022
राष्ट्रीय फिल्म विरासत मिशन एनएफएचएस-5 रिपोर्ट जारी ग्रीन इंडिया मिशन (जीआईएम) स्वदेश दर्शन योजना- हेरिटेज सर्किट थीम के अंतर्गत स्वीकृत नवीन परियोजनाएं

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.