UPSC Exam   »   National Time Release Study (TRS)

नेशनल टाइम रिलीज स्टडी (TRS) 2022

नेशनल टाइम रिलीज स्टडी- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 2: शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकार की नीतियां एवं  अंतः क्षेप तथा उनकी अभिकल्पना एवं कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे।

नेशनल टाइम रिलीज स्टडी (TRS) 2022_40.1

समाचारों में नेशनल टाइम रिलीज स्टडी 2022

  • हाल ही में, केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर तथा सीमा शुल्क बोर्ड ( सेंट्रल बोर्ड आफ इनडायरेक्ट टैक्सेस/CBIC) ने विभाग द्वारा आयोजित टाइम रिलीज स्टडीज (TRS) का एक समुच्चय प्रस्तुत किया।

 

नेशनल टीआरएस क्या है?

  • नेशनल टाइम रिलीज स्टडी के बारे में: टाइम रिलीज स्टडी (टीआरएस) अनिवार्य रूप से अंतरराष्ट्रीय व्यापार की कार्गो निकासी प्रक्रिया का आकलन करने हेतु एक प्रदर्शन माप उपकरण है।
  • विश्व व्यापार संगठन (वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन/डब्ल्यूटीओ) द्वारा व्यापार सुविधा समझौते ( ट्रेड फैसिलिटेशन एग्रीमेंट/टीएफए) एवं विश्व सीमा शुल्क संगठन (वर्ल्ड कस्टम्स ऑर्गेनाइजेशन/डब्ल्यूसीओ) के तहत टाइम रिलीज स्टडी (टीआरएस) की सिफारिश की जाती है।
  • टीआरएस तंत्र: यह औसत कार्गो रिलीज समय को अपनाता है, अर्थात सीमा शुल्क स्टेशन पर कार्गो के आगमन से लेकर आयात या निर्यात के लिए इसकी अंतिम रिलीज तक, जैसा भी मामला हो।

 

नेशनल टीआरएस 2022

  • नेशनल टाइम रिलीज स्टडी (एनटीआरएस) 2022 में चार बंदरगाह श्रेणियों सहित 15 प्रमुख सीमा शुल्क संरचनाओं को सम्मिलित किया गया है –
    • बंदरगाह,
    • एयर कार्गो कॉम्प्लेक्स (एसीसी),
    • अंतर्देशीय कंटेनर डिपो (ICDs)  तथा
    • एकीकृत चेक पोस्ट (इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट/आईसीपी)
  • ये चार बंदरगाह श्रेणियां लगभग 80 प्रतिशत प्रवेश बिल (आयात दस्तावेज) एवं 70 प्रतिशत शिपिंग बिल (निर्यात दस्तावेज) का प्रबंधन करते हैं।
  • एनटीआरएस 2022 एवं कस्टम हाउस स्तर के टाइम रिलीज स्टडीज ने चार गुना ‘पाथ टू प्रॉम्प्टनेस’ के लिए   सुदृढ़ पुष्टि पाई है, अर्थात्:
  • आगमन पूर्व प्रसंस्करण को सक्षम करने वाले आयात दस्तावेजों की अग्रिम फाइलिंग,
  • कार्गो की जोखिम आधारित सुविधा,
  • विश्वसनीय ग्राहक कार्यक्रम के लाभ – अधिकृत आर्थिक ऑपरेटर एवं डायरेक्ट पोर्ट डिलीवरी (डीपीडी) सुविधा।

नेशनल टाइम रिलीज स्टडी (TRS) 2022_50.1

नेशनल टीआरएस 2022 के प्रमुख निष्कर्ष

  • एनटीआरएस 2022 ने विगत वर्ष की समान अवधि की तुलना में 2022 में सभी चार बंदरगाह श्रेणियों के लिए औसत कार्गो रिलीज समय में और सुधार की सूचना दी है-
    • आईसीपी के लिए 2 प्रतिशत से एसीसी के लिए सारगर्भित रूप से अधिक 16 प्रतिशत।
  • बंदरगाह या अंतर्देशीय कंटेनर डिपो की औसत अवमुक्ति के माध्यम से निपटाए गए समुद्री कार्गो के लिए, समय में 12 प्रतिशत का सुधार हुआ है।
  • इस सुधार के साथ, आईसीपी ने राष्ट्रीय व्यापार सुविधा कार्य योजना ( नेशनल ट्रेड फैसिलिटेशन एक्शन प्लान/एनटीएफएपी) लक्षित रिलीज समय को 2023 तक प्राप्त कर लिया है।
  • निर्यात के मामले में, अध्ययन में पाया गया कि निर्यात खेपों की दस्तावेजी स्वीकृति को उल्लेखनीय रूप से कम कर दिया गया है, जो एसीसी के मामले में 4:04 घंटे से लेकर आईसीडी के मामले में 47:41 घंटे तक है।
  • निर्यात खेपों की दस्तावेजी स्वीकृति, सीमा शुल्क स्टेशन पर माल के आगमन से लेट एक्सपोर्ट ऑर्डर देने में लगने वाले समय से मापा जाता है।
  • एनटीआरएस 2022 एवं स्थानीय टीआरएस ने एनटीएफएपी में निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने एवं देश में व्यापार सुविधा पारिस्थितिकी तंत्र में सुधार के लिए औसत रिलीज समय लक्ष्य को और कम करने के लिए कुछ सिफारिशें की हैं।

 

भारत-अमेरिका 2+ 2 संवाद 2022 माधवपुर मेला सॉलिड फ्यूल डक्टेड रैमजेट टेक्नोलॉजी वैश्विक पवन रिपोर्ट 2022
अवसर योजना संपादकीय विश्लेषण- वास्तुकला हेतु सबसे उचित अवसर आरबीआई ने डिजिटल बैंकिंग इकाइयों की स्थापना के लिए दिशानिर्देश जारी किए लक्ष्य जीरो डंपसाइट | एसबीएम-शहरी 2.0
बिरसा मुंडा | बिरसा मुंडा-जनजातीय नायक पुस्तक का विमोचन कैबिनेट ने प्रबलीकृत चावल के वितरण को स्वीकृति प्रदान की संपादकीय विश्लेषण: रूस के लिए एक संदेश जलवायु परिवर्तन में वनों की आग का नियंत्रण 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.