UPSC Exam   »   India-Gabon Relations

भारत-गैबॉन संबंध

भारत-गैबॉन संबंध- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 2: अंतर्राष्ट्रीय संबंध- द्विपक्षीय, क्षेत्रीय एवं वैश्विक समूह तथा भारत से जुड़े एवं/या भारत के हितों को प्रभावित करने वाले समझौते।

भारत-गैबॉन संबंध_40.1

भारत-गैबॉन संबंध समाचारों में

  • हाल ही में, उपराष्ट्रपति, श्री एम. वेंकैया नायडू ने राजधानी शहर लिब्रेविल में उच्च स्तरीय बैठकों की एक श्रृंखला के साथ किसी उच्च रैंकिंग वाले भारतीय गणमान्य व्यक्ति द्वारा प्रथम बार गैबोन गणराज्य की यात्रा  प्रारंभ की।
  • प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के दौरान, दो समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए, अर्थात्-
    • भारत सरकार तथा गैबॉन के  मध्य एक संयुक्त आयोग की स्थापना, एवं
    • राजनयिकों के प्रशिक्षण संस्थानों, सुषमा स्वराज इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेन सर्विसेज तथा गैबोन के विदेश मंत्रालय (गैबोनीज मिनिस्ट्री ऑफ फॉरेन अफेयर्स)के मध्य एक समझौता ज्ञापन।

 

भारत-गैबॉन संबंध

  • भारत-गैबॉन संबंध के बारे में: भारत एवं गैबॉन ने गैबॉन के स्वतंत्रता- पूर्व युग से पहले से उत्साह पूर्ण एवं मैत्रीपूर्ण संबंधों का आनंद लिया है।
  • भारत-गैबॉन व्यापार संबंध: भारत-गैबॉन द्विपक्षीय व्यापार महामारी के बावजूद 2021-22 में 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर का आंकड़ा पार कर गया है।
    • भारत अब गैबोन से होने वाले निर्यात के लिए दूसरा सर्वाधिक वृहद गंतव्य है।
    • विशेष रूप से गैबॉन विशेष आर्थिक क्षेत्र (जीएसईजेड) में तेल तथा गैस, खनन, औषधि उद्योग (फार्मास्यूटिकल्स), काष्ठ प्रसंस्करण इत्यादि जैसे विविध क्षेत्रों में अनेक भारतीय कंपनियों की उपस्थिति।
  • भारत-गैबॉन ऊर्जा सहयोग: गैबॉन भारत की ऊर्जा सुरक्षा आवश्यकता के लिए एक महत्वपूर्ण भागीदार है।
    • भारत ने 2021-22 में गैबॉन से लगभग 670 मिलियन अमेरिकी डॉलर मूल्य के कच्चे तेल का आयात किया।
    • अधोप्रवाह (अपस्ट्रीम) एवं  ऊर्ध्वप्रवाह (डाउनस्ट्रीम) दोनों क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाकर तेल तथा गैस क्षेत्र में भारत-गैबॉन जुड़ाव में विविधता लाने की पर्याप्त संभावना है।
  • अंतरराष्ट्रीय मंचों पर सहयोग: गैबॉन ने विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत की उम्मीदवारी का समर्थन किया है।
  • भारत ने गैबॉन को 2022-23 की अवधि के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में चुने जाने पर बधाई दी।
  • भारत तथा गैबॉन दोनों गुटनिरपेक्ष आंदोलन (नॉन एलाइनमेंट मूवमेंट/NAM) के सदस्य हैं। NAM विकासशील विश्व के लिए प्रासंगिकता के मुख्यधारा के समकालीन मुद्दों पर केंद्रित है।
  • अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (इंटरनेशनल सोलर अलायंस/आईएसए): गैबॉन अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन समझौते पर हस्ताक्षर करने तथा इसका अनुसमर्थन करने वाले प्रथम देशों में से एक था।
    • गैबॉन ने 2030 तक 100% स्वच्छ ऊर्जा प्राप्त करने की योजना बनाई है।
    • भारत ने गैबॉन को उसके नवीकरणीय ऊर्जा लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए हर संभव सहायता देने से अवगत कराया।
  • लोगों के बीच संबंध: भारतीय प्रवासी गैबॉन में विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं।
    • गैबॉन में भारतीय समुदाय ने भारतीय संस्कृति को जीवित रखा है एवं प्रमुख भारतीय त्योहार पूरे समुदाय द्वारा एक साथ मनाए जाते हैं।

भारत-गैबॉन संबंध_50.1

भारत-गैबॉन संबंध-आगे की राह 

  • सहयोग का विविधीकरण: अन्य क्षेत्रों के साथ हरित ऊर्जा, सेवाओं, स्वास्थ्य एवं कृषि में भारत-गैबॉन सहयोग की खोज करना समय की आवश्यकता है।
    • भारत तथा गैबॉन को अपनी आर्थिक साझेदारी का विस्तार करना चाहिए एवं निवेश आकर्षित करने के लिए अपनी अर्थव्यवस्था में पूरकता का उपयोग करना चाहिए।
  • कृषि सहयोग: भारत से गैबॉन तक कृषि क्षेत्र में कृषि सहयोग एवं ज्ञान के हस्तांतरण की अपार संभावनाएं थीं।
  • क्षेत्रीय एवं वैश्विक मंचों पर सहयोग: भारत तथा गैबॉन दोनों को अंतरराष्ट्रीय शासन को अधिक न्यायसंगत बनाने के लिए सुदृढ़ भारत-अफ्रीका सहयोग के लिए कार्य करना चाहिए।
    • उन्हें एक विस्तारित और समावेशी संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की दिशा में भी साथ मिलकर कार्य करना चाहिए।

 

एनटीपीसी ने जैव विविधता नीति 2022 जारी की भारत-अमेरिका व्यापार संबंध- अमेरिका भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार बना ई-श्रम पोर्टल: भारत में अनौपचारिक क्षेत्र के बारे में चिंताजनक तथ्य संपादकीय विश्लेषण- कॉशन फर्स्ट
राष्ट्रीय कोल गैसीकरण मिशन: भारत ने 2030 तक 100 मीट्रिक टन कोल गैसीकरण का लक्ष्य रखा है पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन- बच्चों के लिए पीएम केयर्स स्कॉलरशिप अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 की थीम घोषित- आईडीवाई 2022 संपादकीय विश्लेषण- गहन रणनीतिक प्रतिबद्धता
भारत ड्रोन महोत्सव 2022- भारत का सबसे बड़ा ड्रोन महोत्सव हरित हाइड्रोजन- परिभाषा, भारत का वर्तमान उत्पादन एवं प्रमुख लाभ गीतांजलि ने ‘रेत समाधि’ के लिए अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीता आईएनएस खंडेरी- स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.