Home   »   Fostering Effective Energy Transition 2022   »   Fostering Effective Energy Transition 2022

प्रभावी ऊर्जा संक्रमण 2022 को प्रोत्साहित करना

प्रभावी ऊर्जा संक्रमण को प्रोत्साहित करना: प्रासंगिकता

  • जीएस 3: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण एवं क्षरण, पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन।

प्रभावी ऊर्जा संक्रमण 2022 को प्रोत्साहित करना_40.1

विश्व आर्थिक मंच समाचारों में: प्रसंग

  • हाल ही में, विश्व आर्थिक मंच ने एक अशांत व्यापक आर्थिक एवं भू-राजनीतिक वातावरण के माध्यम से संक्रमण को किस प्रकार मार्ग निर्देशित किया जाए, इस पर वर्तमान चुनौतियों एवं सिफारिशों पर परिप्रेक्ष्य प्रदान करने के लिए फोस्टरिंग इफेक्टिव एनर्जी ट्रांजिशन 2022 शीर्षक से एक नई रिपोर्ट जारी की है।

 

प्रभावी ऊर्जा संक्रमण को बढ़ावा देना: प्रमुख बिंदु

  • वर्तमान ऊर्जा बाजार में अस्थिरता (उतार-चढ़ाव) एवं सुरक्षा बाधाएं स्वच्छ ऊर्जा निवेश में वृद्धि कर और उपभोक्ताओं की ऊर्जा उपभोग के व्यवहार को परिवर्तित कर संक्रमण को तेज करने का अवसर प्रदान करती हैं।
  • औद्योगिक गतिविधि 30% से अधिक मानव जनित उत्सर्जन उत्पन्न करती है, फिर भी अनेक उद्योगों को  विकार्बनीकृत (डेकार्बोनाइज) करने के लिए अत्यधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।
  • ऊर्जा संक्रमण को सुदृढ़ बनाना आवश्यक है क्योंकि जलवायु परिवर्तन के सर्वाधिक निकृष्ट परिणामों को रोकने के लिए अवसर तेजी से समाप्त हो रहे हैं।
  • ऊर्जा संक्रमण बढ़ती जलवायु तात्कालिकता के साथ सामंजस्य स्थापित नहीं रख रहा है तथा हाल ही में जटिल व्यवधानों ने संक्रमण को और भी दुष्कर बना दिया है।
  • एक वहन योग्य (किफायती) ऊर्जा आपूर्ति तक पहुंच की कमी न्यायोचित परिवर्तन के लिए एक प्रमुख खतरे के रूप में उभरी है।

प्रभावी ऊर्जा संक्रमण 2022 को प्रोत्साहित करना_50.1

प्रभावी ऊर्जा संक्रमण को बढ़ावा देना: प्रमुख सिफारिशें

  • निम्न कार्बन ऊर्जा स्रोतों की एक श्रृंखला के साथ ऊर्जा मिश्रण का विविधीकरण ऊर्जा सुरक्षा को सुदृढ़ करने में सहायता प्रदान कर सकता है।
  • एक समग्र दृष्टिकोण की आवश्यकता है जो त्वरित गति से तीन संक्रमण अनिवार्यताओं – ऊर्जा सामर्थ्य, उपलब्धता तथा सातत्य (धारणीयता) पर समवर्ती रूप से वितरित करता है।
  • उचित समर्थन उपायों के माध्यम से सर्वाधिक संवेदनशील (कमजोर) लोगों की सुरक्षा के लिए कार्रवाई आवश्यक है, जिससे कुशल उपभोग को प्रोत्साहित किया जा सके।
  • इसके अतिरिक्त, व्यवहारिक अंतःक्षेप एवं चौथी औद्योगिक क्रांति प्रौद्योगिकियां घरों एवं व्यवसायों दोनों की  सहायता कर सकती हैं।
  • अल्पावधि में आयात भागीदारों के पारिस्थितिकी तंत्र में विविधता लाने एवं दीर्घ अवधि में निम्न कार्बन विकल्पों के साथ घरेलू ऊर्जा के पोर्टफोलियो में विविधता लाने से महत्वपूर्ण लाभ मिल सकते हैं।
  • आपूर्ति पक्ष के अंतःक्षेपों को मांग पक्ष दक्षता के साथ बढ़ाने की आवश्यकता होगी।

 

जीनोम संपादित पौधों के सुरक्षा आकलन के लिए दिशानिर्देश 2022 संपादकीय विश्लेषण- व्हीट कन्फ्यूजन भारत में एससीओ-आरएटीएस बैठक विश्व के टैक्स हेवन देश: परिभाषा, लाभ एवं मुद्दे
केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए) | सीसीपीए ने ओला, उबर को नोटिस जारी किया जीएसटी परिषद- जीएसटी परिषद के निर्णय लेने की शक्ति पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय  सरकार ने भारत में बांस चारकोल में निर्यात प्रतिबंध हटाया 8वीं ब्रिक्स पर्यावरण मंत्रियों की बैठक
भारत में इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट प्रबंधन संपादकीय विश्लेषण- बाय द बुक विश्व शासन संकेतक यूएनओपीएस की टीबी पार्टनरशिप को समाप्त करना 
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.