Home   »   Asia Cup Winner List   »   Asia Cup Winner List

एशिया कप के विजेताओं की सूची

एशिया कप के विजेताओं की सूची

एशिया कप क्रिकेट में एकमात्र महाद्वीपीय चैम्पियनशिप है एवं जीतने वाली टीम एशिया की चैंपियन बन जाती है।

एशिया कप के विजेताओं की सूची -_3.1

एशिया कप- ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

एशियाई क्रिकेट परिषद (एशियन क्रिकेट काउंसिल) एशिया कप पुरुषों का एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय एवं ट्वेंटी 20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टूर्नामेंट है। 1983 में स्थापित होने के पश्चात एशिया क्रिकेट परिषद ने एशियाई देशों के मध्य सद्भावना को प्रोत्साहित करने के उपाय के रूप में 1984 से एशिया कप की मेजबानी प्रारंभ की। यह मूल रूप से  प्रत्येक दो वर्ष में आयोजित होने वाला था।

2009 के पश्चात से एशिया कप एशियाई क्रिकेट परिषद के दायरे में द्विवार्षिक रूप से आयोजित किया जाना था एवं सभी मैचों को एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय माना जाना था।

यद्यपि 2015 में एशियाई क्रिकेट परिषद का आकार छोटा कर दिया गया था एवं आईसीसी द्वारा यह घोषणा की गई थी कि 2016 से एशिया कप की घटनाओं को आगामी विश्व आयोजनों के प्रारूप के आधार पर एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय तथा ट्वेंटी 20 अंतर्राष्ट्रीय प्रारूप के मध्य रोटेशन के आधार पर खेला जाएगा। परिणाम स्वरूप, 2016 टी20 प्रारूप में खेला जाने वाला पहला संस्करण था एवं 2016 आईसीसी विश्व ट्वेंटी 20 से  पूर्व एक प्रारंभिक टूर्नामेंट के रूप में कार्य किया।

यद्यपि पाकिस्तान 2020 में एशिया कप का मूल मेजबान था, जिसे कोविड के प्रकोप के कारण 2022 तक के लिए स्थगित कर दिया गया था, भारत एवं पाकिस्तान के मध्य भू-राजनीतिक मोर्चे पर तनावपूर्ण स्थिति के कारण श्रीलंका को मेजबानी की जिम्मेदारी दी गई थी, जिसने संभवतः भारत को  प्रतियोगिता से बाहर होने के लिए बाध्य कर दिया था।

इस स्थिति को टालने के लिए एशियन क्रिकेट काउंसिल ने श्रीलंका को मेजबानी के अधिकार सौंपने का निर्णय लिया, किंतु चूंकि श्रीलंका देश में गहरे संकट का सामना कर रहा था, अतः टूर्नामेंट का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात (यूनाइटेड अरब एमिरेट्स/यूएई) में श्रीलंका के आधिकारिक मेजबान होने के बैनर तले किया गया था।

एशिया कप का 15वां संस्करण श्रीलंका ने फाइनल में पाकिस्तान को पराजित कर टूर्नामेंट के आरंभिक मैच में अफगानिस्तान से पराजित होने के पर शानदार वापसी करते हुए जीता था। अक्टूबर से ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप में सीधे प्रवेश से वंचित होने के बाद श्रीलंका ने टूर्नामेंट में एक सुखद वृद्धि देखी एवं शीर्ष पर पहुंचने के लिए लगातार 5 टी 20 जीते।

 

एशिया कप के विजेताओं की सूची (1984-2022)

भारत टूर्नामेंट में सात खिताब (छह वनडे एवं एक टी 20 अंतरराष्ट्रीय) के साथ सर्वाधिक सफल टीम है। श्रीलंका दूसरी सर्वाधिक सफल टीम है, जिसमें छह नवीनतम एशिया कप 2022 हैं। श्रीलंका ने सर्वाधिक एशिया कप (14) खेले हैं, उसके बाद भारत, पाकिस्तान एवं बांग्लादेश ने 13-13 मैच खेले हैं। बांग्लादेश ने आज तक कभी कोई एशिया कप नहीं जीता है किंतु वह 3 बार फाइनल में खेल चुका है।

वर्ष विजेता उपविजेता मेजबान
1984 भारत श्रीलंका यूएई
1986 श्रीलंका पाकिस्तान श्रीलंका
1988 भारत श्रीलंका बांग्लादेश
1991 भारत श्रीलंका बांग्लादेश
1995 भारत श्रीलंका यूएई
1997 श्रीलंका भारत श्रीलंका
2000 पाकिस्तान श्रीलंका बांग्लादेश
2004 श्रीलंका भारत श्रीलंका
2008 श्रीलंका भारत पाकिस्तान
2010 भारत श्रीलंका श्रीलंका
2012 पाकिस्तान बांग्लादेश बांग्लादेश
2014 श्रीलंका पाकिस्तान बांग्लादेश
2016 भारत बांग्लादेश बांग्लादेश
2018 भारत बांग्लादेश यूएई
2022 श्रीलंका पाकिस्तान यूएई

 

 

एशिया कप  से संबंधित प्रायः पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. किस टीम ने सबसे अधिक एशिया कप जीता है?

उत्तर. भारत ने सर्वाधिक एशिया कप जीते हैं।

  1. एशिया कप का उद्घाटन संस्करण किस टीम ने जीता?

उत्तर. भारत ने 1984 में एशिया कप का उद्घाटन संस्करण जीता।

  1. किस देश ने एशिया कप 15 वां संस्करण जीता?

उत्तर. श्रीलंका ने यूएई में एशिया कप का 15 वां संस्करण जीता।

  1. कौन सा देशएशिया कप के 15 वें संस्करण का आधिकारिक मेजबान था?

उत्तर. श्रीलंका एशिया कप के 15 वें संस्करण का आधिकारिक मेजबान था।

 

आईपीईएफ का व्यापार स्तंभ नए दत्तक नियम नागरिकता संशोधन अधिनियम कश्मीरी पंडित
कुशियारा नदी संधि भारत में शराब कानून दारा शिकोह प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान का शुभारंभ
सतत एवं हरित पर्यटन (सस्टेनेबल एंड ग्रीन टूरिज्म भारत-जापान 2+2 मंत्रिस्तरीय संवाद यूएस स्टार्टअप सेतु – परिवर्तन एवं कौशल उन्नयन कार्यक्रम में उद्यमियों का समर्थन स्वच्छ वायु दिवस- नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

Sharing is caring!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *