UPSC Exam   »   Polity & Governance   »   PARAKH -A new regulator for ‘uniformity’...

परख- सभी बोर्ड परीक्षाओं में ‘एकरूपता’ के लिए एक नया नियामक 

परख – सभी बोर्ड परीक्षाओं में एकरूपताके लिए एक नया नियामक- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • सामान्य अध्ययन II- शिक्षा।

परख- सभी बोर्ड परीक्षाओं में 'एकरूपता' के लिए एक नया नियामक _40.1

परख चर्चा में क्यों है

  • केंद्र राज्य एवं केंद्रीय बोर्डों में “एकरूपता” लाने के लिए माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक स्तर पर छात्रों का मूल्यांकन करने हेतु एक मानक ढांचा ‘परख’ तैयार करने की योजना बना रहा है।

 

परख क्या है?

  • परख (PARAKH)  से तात्पर्य समग्र विकास के लिए ज्ञान के प्रदर्शन मूल्यांकन, समीक्षा एवं विश्लेषण (परफॉर्मेंस असेसमेंट,रिव्यू एंड एनालिसिस ऑफ नॉलेज फॉर हिस्टोरिक डेवलपमेंट) है।
  • प्रस्तावित नियामक एनसीईआरटी की एक घटक इकाई के रूप में कार्य करेगा।
  • इसे राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (नेशनल अचीवमेंट सर्वे/एनएएस) एवं राज्य उपलब्धि सर्वेक्षण जैसे आवधिक शिक्षण परिणाम परीक्षण आयोजित करने का भी कार्य सौंपा जाएगा।
  • मानक मूल्यांकन ढांचा राष्ट्रीय शिक्षा नीति (नेशनल एजुकेशन पॉलिसी/एनईपी) 2020 द्वारा परिकल्पित रट  कर अध्ययन करने पर बल देने को समाप्त करने का प्रयत्न करेगा।
  • प्रस्तावित कार्यान्वयन एजेंसी परख भी राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रस्ताव का हिस्सा है।

 

राज्यों से प्रतिक्रिया

  • अधिकांश राज्यों ने वर्ष में दो बार बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के प्रस्ताव का समर्थन किया, जिसमें छात्रों को उनके प्राप्तांक में सुधार करने में सहायता करने हेतु एक परीक्षा भी शामिल है।
  • गणित विषय के दो प्रकार के पेपर प्रारंभ करने के प्रस्ताव के संबंध में राज्य तैयार हैं – एक मानक परीक्षा,  एवं दूसरा उच्च स्तर की योग्यता का परीक्षण करने हेतु।
  • यह छात्रों के मध्य गणित के विषय को लेकर डर को कम करने तथा सीखने को प्रोत्साहित करने में सहायता करेगा।

 

परख (PARAKH) 

  • परख (PARAKH) केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन/सीबीएसई)  विद्यालयों में अपने  सहपाठियों की तुलना में महाविद्यालय में प्रवेश के दौरान कुछ राज्य बोर्डों के छात्रों के नुकसान की समस्या से निपटने में सहायता करेगा।
  • यह विद्यालयी शिक्षा के सभी स्तरों पर परीक्षणों के “डिजाइन, संचालन, विश्लेषण एवं रिपोर्टिंग के लिए तकनीकी मानकों” को विकसित तथा कार्यान्वित करेगा।
  • परख (PARAKH) अंततः सभी मूल्यांकन संबंधी सूचनाओं एवं विशेषज्ञता के लिए राष्ट्रीय एकल-बिंदु स्रोत बन जाएगा, जिसमें राष्ट्रीय स्तर पर और जहां लागू हो, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी रूपों में अधिगम (सीखने) के मूल्यांकन का समर्थन करने हेतु अधिदेशित होगा।

 

एक जड़ी बूटी, एक मानक: पीसीआईएम एवं एच तथा आईपीसी के मध्य समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर संपादकीय विश्लेषण- फ्लड्स एंड फोज उद्यमों एवं सेवाओं का विकास केंद्र (DESH) विधेयक, 2022 अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट (IDP)
डिजिटल कॉमर्स के लिए ओपन नेटवर्क (ओएनडीसी) के साथ एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) पहल का एकीकरण  पीएम जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) – पिछले आठ वर्षों की उपलब्धियां वज्र प्रहार युद्धाभ्यास 2022 संपादकीय विश्लेषण- सोप्स फॉर वोट
हरित वित्त (ग्रीन फाइनेंस) निजता का अधिकार लम्पी स्किन डिजीज (एलएसडी) मनुस्मृति

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.