Home   »   Arth Ganga Model   »   Whitepaper on ‘Urban Wastewater Scenario in...

आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस 2022- ‘भारत में शहरी अपशिष्ट जल परिदृश्य’ पर श्वेतपत्र

आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 2: अंतर्राष्ट्रीय संबंध- भारत के हितों पर विकसित एवं विकासशील देशों की नीतियों तथा राजनीति का प्रभाव।

आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस 2022- 'भारत में शहरी अपशिष्ट जल परिदृश्य' पर श्वेतपत्र -_3.1

आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस चर्चा में क्यों है

  • जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, उनके डेनमार्क समकक्ष ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल के साथ अंतर्राष्ट्रीय जल संघ (इंटरनेशनल वाटर एसोसिएशन/आईडब्ल्यूए) विश्व जल कांग्रेस एवं प्रदर्शनी 2022 में ‘भारत में शहरी अपशिष्ट जल परिदृश्य’ पर एक श्वेतपत्र का विमोचन किया।

 

भारत में शहरी अपशिष्ट जल परिदृश्यपर श्वेत पत्र

  • श्वेतपत्र भारत-डेनमार्क द्विपक्षीय हरित रणनीतिक साझेदारी का परिणाम है, जो हरित हाइड्रोजन, नवीकरणीय ऊर्जा  एवं अपशिष्ट जल प्रबंधन पर केंद्रित है।
  • ‘भारत में शहरी अपशिष्ट जल परिदृश्य’ पर श्वेत पत्र का उद्देश्य भारत में अपशिष्ट जल उपचारण की वर्तमान स्थिति को समग्र रूप से प्रग्रहित करना है।
  • ‘भारत में शहरी अपशिष्ट जल परिदृश्य’ पर श्वेत पत्र का उद्देश्य भविष्य के उपचारण संरचनाओं, सह-निर्माण एवं सहयोग हेतु संभावित मार्ग निर्मित करना है।

 

आईडब्ल्यूए वर्ल्ड वाटर कांग्रेस 2022

  • आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस के बारे में: आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस एवं प्रदर्शनी जल पेशेवरों के लिए पूर्ण जल चक्र को समाहित करने वाला वैश्विक कार्यक्रम है। कांग्रेस  स्वाभाविक रूप से चर्चा हेतु एक वैश्विक मंच है।
  • अवस्थिति: आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस एवं प्रदर्शनी 2022 का आयोजन 12 सितंबर, 2022 को कोपेनहेगन, डेनमार्क में किया गया था।
  • आयोजन प्राधिकरण: आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस एवं प्रदर्शनी अंतर्राष्ट्रीय जल संघ द्वारा आहूत की गई है।
  • अधिदेश: आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस 2022 सतत विकास लक्ष्यों (सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स/SDGs) पर जल क्षेत्र की प्रगति पर रिपोर्ट करेगा।
    • जल एवं स्वच्छता के लिए समर्पित सतत विकास लक्ष्य 6 पर बल देने के साथ, कांग्रेस सभी 17 वैश्विक लक्ष्यों के साथ जल के परस्पर संबंध को भी उजागर करेगी तथा उसका आकलन करेगी।
  • भागीदारी: विश्व जल कांग्रेस एवं प्रदर्शनी को जल पेशेवरों को एक साथ लाने  तथा जल का उपभोग करने वाले उद्योग, कृषि, वास्तुकारों एवं शहरी योजनाकारों, जलविज्ञानियों तथा मृदा एवं भूजल विशेषज्ञों,  समाज सेवकों इत्यादि को भी सम्मिलित करने हेतु डिज़ाइन किया गया है।
    • 10,000 से अधिक प्रमुख जल पेशेवरों एवं कंपनियों ने आईडब्ल्यूए विश्व जल कांग्रेस एवं प्रदर्शनी 2022 में भाग लिया।
    • 6 दिनों के दौरान, वैचारिक- नेतृत्वकर्ता, निर्णय निर्माता, प्रमुख शोधकर्ता एवं जल क्षेत्र के भीतर तथा बाहर के व्यापारिक प्रतिनिधि हमारे जल भविष्य को आकार देने के लिए जल समाधान पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

 

अंतर्राष्ट्रीय जल संघ (आईडब्ल्यूए)

  • पृष्ठभूमि: 1999 में, अंतर्राष्ट्रीय जल सेवा संघ एवं जल गुणवत्ता के अंतर्राष्ट्रीय संघ ने जल प्रबंधन के विज्ञान  तथा अभ्यास को एक साथ लाते हुए, अंतर्राष्ट्रीय जल संघ (इंटरनेशनल वाटर एसोसिएशन/आईडब्ल्यूए) के निर्माण हेतु शक्तियों में में शामिल हो गए।
    • अंतर्राष्ट्रीय जल संघ (आईडब्ल्यूए) के बारे में: अंतर्राष्ट्रीय जल संघ (आईडब्ल्यूए) जल क्षेत्र के लिए एक गैर-लाभकारी संगठन एवं ज्ञान केंद्र है जो जल पेशेवरों तथा भागीदारों के एक अंतःविषय नेटवर्क के साथ  कार्य करता है ताकि जल प्रज्ञ विश्व निर्मित किया जा सके।
  • अधिदेश: आईडब्ल्यूए विशेषज्ञ जल संसाधनों को कम करने, पुन: उपयोग करने  एवं पुनर्भरण करने में हमारी  सहायता करने हेतु संपूर्ण जल चक्र में व्यावहारिक ज्ञान का प्रसार करने के लिए अपने ज्ञान का सहयोग  तथा संयोजन करते हैं।
  • प्रमुख कार्य: अंतर्राष्ट्रीय जल संघ (आईडब्ल्यूए) के महत्वपूर्ण कार्य नीचे सूचीबद्ध हैं-
    • आईडब्ल्यूए कार्यक्रम जल एवं अपशिष्ट जल प्रबंधन के समाधान पर केंद्रित अनुसंधान तथा परियोजनाओं का विकास करते हैं;
    • आईडब्ल्यूए विश्व स्तरीय कार्यक्रमों का आयोजन करता है जो व्यापक स्तर पर जल क्षेत्र में नवीनतम विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं सर्वोत्तम अभ्यास लाते हैं;
    • आईडब्ल्यूए वैश्विक राजनीतिक एजेंडे पर जल को लाने एवं विनियमन तथा नीति निर्माण में सर्वोत्तम अभ्यास को प्रभावित करने हेतु कार्य करता है।

 

आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची (एनएलईएम) एनीमिया एवं आयरन फोर्टिफिकेशन पेटेंट प्रणाली-समावेशी समृद्धि के लिए एक बाधा? भारतीय नौसेना ने ऑस्ट्रेलिया द्वारा आयोजित अभ्यास काकाडू में भाग लिया
फीफा अंडर 17 महिला विश्व कप 2022 संपादकीय विश्लेषण- इंगेज विद कॉशन शून्य अभियान राष्ट्रीय स्वास्थ्य लेखा (एनएचए) अनुमान (2018-19)
भारत में क्रूड एवं तेल कंपनियों पर विंडफॉल टैक्स क्या है बहु संरेखण की भारत की वर्तमान नीति अरत्तुपुझा वेलायुधा पनिकर सामाजिक कार्यकर्ता-लेखक अन्नाभाऊ साठे

Sharing is caring!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *