Home   »   How to prepare for UPSC CSE...   »   नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का...

नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस- यूपीएससी परीक्षा  हेतु प्रासंगिकता

  • जीएस पेपर 3: पर्यावरण- संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण एवं अवक्रमण।

नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस- संदर्भ

  • हाल ही में, ‘नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस‘ को चिह्नित करने हेतु एक सार्वजनिक समारोह में बोलते हुए, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने कहा है कि “बेहतर वायु गुणवत्ता” वाले शहरों की संख्या 2020 में 86 से बढ़कर 104 हो गई थी।
    • उन्होंने इसके लिए सरकार की नीतियों को श्रेय दिया।
  • नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस‘ के अवसर पर मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने राज्य के सभी क्षेत्रीय अधिकारियों को जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए।

नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस -_3.1

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी हेतु निशुल्क वीडियो प्राप्त कीजिए एवं आईएएस/ आईपीएस/ आईआरएस बनने के अपने सपने को साकार कीजिए

नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस- प्रमुख बिंदु

  • नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के बारे में: ‘नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस’ संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र में 2019 में संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव द्वारा स्थापित किया गया था।
    • नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु का अंतर्राष्ट्रीय दिवस जागरूकता बढ़ाता है एवं वायु गुणवत्ता में सुधार हेतु कार्रवाईयों की सुविधा प्रदान करता है।
  • प्रथम नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस’: “सभी के लिए स्वच्छ वायु” विषय के साथ प्रथम कार्यक्रम 7 सितंबर, 2020 को आयोजित किया गया था।
  • द्वितीयनीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस’: नीले आकाश हेतु स्वच्छ वायु के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के लिए 2021 की विषय-वस्तु (थीम) हेल्दी एयर, हेल्दी प्लैनेट है जो, विशेष रूप से कोविड-19 महामारी को देखते हुए वायु प्रदूषण के स्वास्थ्य पहलुओं पर बल प्रदान करती है।
    • केंद्र-बिंदु: सभी के लिए स्वस्थ वायु की आवश्यकता को प्राथमिकता देने पर, वार्ता को इतना व्यापक रखते हुए कि जलवायु परिवर्तन, मानव एवं ग्रह के स्वास्थ्य के साथ-साथ सतत विकास लक्ष्यों जैसे अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों को सम्मिलित किया जा सके।

एशिया एवं प्रशांत क्षेत्र में रेत तथा धूल के तूफान के जोखिम का आकलन

स्वच्छ  वायु एवं सतत विकास- संयुक्त राष्ट्र द्वारा उठाए गए कदम

  • सतत विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन: सतत विकास नीतियों को बढ़ावा देने हेतु प्रतिबद्ध देश जो धारणीय शहरों एवं मानव बस्तियों के संदर्भ में स्वस्थ वायु गुणवत्ता का समर्थन करते हैं।
  • सतत विकास के लिए कार्य सूची 2030: सभी के लिए सतत विकास, पर्यावरण संरक्षण एवं समृद्धि प्राप्त करने के लिए एक दिशा-निर्देश (रोडमैप) की रूपरेखा तैयार करता है।
    • यह मानता है कि सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु वायु प्रदूषण में कमी महत्वपूर्ण है।

वैश्विक हरित हाइड्रोजन केंद्र

Sharing is caring!

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *