UPSC Exam   »   आईएमईएक्स 22: आईओएनएस सामुद्रिक अभ्यास 2022

आईएमईएक्स 22: आईओएनएस सामुद्रिक अभ्यास 2022

आईएमईएक्स 22: प्रासंगिकता

  • जीएस 2: द्विपक्षीय, क्षेत्रीय एवं वैश्विक समूह  तथा भारत से जुड़े एवं/या भारत के हितों को प्रभावित करने वाले समझौते।

आईएमईएक्स 22: आईओएनएस सामुद्रिक अभ्यास 2022_40.1

आईएमईएक्स 22: प्रसंग

  • हाल ही में, हिंद महासागर नौसेना संगोष्ठी (IONS) सामुद्रिक अभ्यास 2022 (IMEX-22) का प्रथम संस्करण गोवा एवं अरब सागर में आयोजित किया गया था।

 

आईएमईएक्स 22: प्रमुख बिंदु

  • इस अभ्यास में आईओएनएस के 25 सदस्य देशों में से 15 ने भाग लिया। भागीदारी में बांग्लादेश, फ्रांस, भारत तथा ईरान की नौसेनाओं के युद्धपोत, समुद्री टोही विमान तथा हेलीकॉप्टर सम्मिलित थे।
  • प्रतिभागियों ने आईओएनएस एचएडीआर दिशानिर्देशों को मान्य किया एवं समुद्र से किनारे तक एचएडीआर प्रदान करने के साथ-साथ समुद्र में संकट के समय जहाजों  तथा नौकाओं को सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिक्रिया तंत्र विकसित किया।
  • इस अभ्यास को क्षेत्रीय नौसेनाओं के लिए क्षेत्र में प्राकृतिक आपदाओं के प्रति सामूहिक रूप से सहयोग करने तथा प्रतिक्रिया देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में देखा जाता है एवं क्षेत्रीय सहयोग को और सुदृढ़ करने का मार्ग प्रशस्त करता है।

 

आईओएनएस क्या है?

  • हिंद महासागर नौसेना संगोष्ठी (आईओएनएस), 2007 में स्थापित, हिंद महासागर क्षेत्र के तटीय राज्यों की नौसेनाओं के मध्य सहयोग तथा सहभागिता के लिए एक प्रमुख मंच है।
  • फोरम ने क्षेत्रीय समुद्री मुद्दों पर चर्चा को सक्षम बनाया है, मैत्रीपूर्ण संबंधों को बढ़ावा दिया है तथा हिंद महासागर क्षेत्र में सामुद्रिक सुरक्षा सहयोग में उल्लेखनीय सुधार किया है।
  • आईओएनएस एक स्वैच्छिक मंच है जो क्षेत्रीय रूप से प्रासंगिक सामुद्रिक मुद्दों पर चर्चा  हेतु एक मुक्त एवं समावेशी मंच प्रदान करके हिंद महासागर क्षेत्र के तटवर्ती राज्यों की नौसेनाओं के मध्य सामुद्रिक सहयोग बढ़ाने का प्रयास करता है।

आईएमईएक्स 22: आईओएनएस सामुद्रिक अभ्यास 2022_50.1

आईओएनएस के सदस्य

  • दक्षिण एशियाई तटवर्ती: बांग्लादेश, भारत, मालदीव, पाकिस्तान, सेशेल्स, श्रीलंका एवं यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटिश हिंद महासागर क्षेत्र)
  • पश्चिम एशियाई तटवर्ती: ईरान, ओमान, सऊदी अरब एवं संयुक्त अरब अमीरात
  • पूर्वी अफ्रीकी तटवर्ती: फ्रांस (रीयूनियन), केन्या, मॉरीशस, मोजाम्बिक, दक्षिण अफ्रीका तथा तंजानिया।
  • दक्षिण पूर्व एशियाई तथा ऑस्ट्रेलियाई समुद्र तट: ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, सिंगापुर, थाईलैंड एवं तिमोर-लेस्ते।

 

आईओएनएस के पर्यवेक्षक

  • चीन, जर्मनी, इटली, जापान, मेडागास्कर, नीदरलैंड, रूस एवं स्पेन।

 

जीनोम संपादन तथा क्रिस्पर-कैस9: परिभाषा | कार्यकरण |  लाभ | चुनौतियां संपादकीय विश्लेषण- सामंजस्य, सहयोग सर्वोच्च न्यायालय ने टीएन वन्नियार कोटा को निरस्त किया  आनुवंशिक रूप से संशोधित कुछ पौधों एवं जीवों के लिए नियमों में छूट
भारत के उपराष्ट्रपति की पदावधि एवं पदच्युति नेत्रा परियोजना तथा अंतरिक्ष मलबे ‘एमएसएमई प्रदर्शन को उन्नत एवं त्वरित करना’ योजना प्रधानमंत्री योग पुरस्कार 2022
5वां बिम्सटेक शिखर सम्मेलन पीएमजीदिशा योजना- ग्राम संपर्क सुनिश्चित करने हेतु उठाए गए कदम  आपराधिक अभिनिर्धारण प्रक्रिया विधेयक 2022 पीएम-किसान सम्मान निधि योजना का क्रियान्वयन 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.