UPSC Exam   »   UPSC Pattern and Syllabus   »   यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषय का...

यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषय का चयन

यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषय का चयन

यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषय का चयन_40.1

यूपीएससी परीक्षा में वैकल्पिक विषय का चयन एक फ्रेशर के लिए एक कठिन कार्य हो सकता है। यह अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि एक बार जब आप आईएएस परीक्षा के लिए अपने वैकल्पिक विषयों का चयन कर लेते हैं, तो इसे बदलना मुश्किल हो जाता है क्योंकि आप अपना वैकल्पिक विषय तैयार करने में अत्यधिक समय एवं ऊर्जा खर्च करते हैं। वैकल्पिक विषय का चयन करना अनेक कारणों से महत्वपूर्ण है। एक, यह महत्वपूर्ण है क्योंकि 1750 अंकों में से, वैकल्पिक विषय अधिक अंकों के होते हैं। दूसरा, वैकल्पिक में  प्राप्त अंक आपके अंतिम चयन को बना या बिगाड़ सकते हैं। तीसरा, यदि आप सफल उम्मीदवारों के प्राप्तांकों का विश्लेषण करते हैं, तो आप पाएंगे कि यह उनके वैकल्पिक विषयों के प्राप्तांक थे जिन्होंने वास्तव में उनके प्रयास को सफल बनाया।

इस लेख में, हम कुछ सर्वाधिक महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा कर रहे हैं, जिन पर आपको अपना वैकल्पिक विषय  निर्धारित करने से पूर्व विचार करना चाहिए।

विषय में रुचि:  यह यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा हेतु वैकल्पिक विषयों का चयन करने के लिए  सर्वाधिक महत्वपूर्ण मापदंड है। यदि आपकी किसी विषय में रुचि है, तो विषय की कठोरता शायद ही मायने रखती है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी इतिहास विषय में गहरी रुचि है, तो इसके पाठ्यक्रम की विशालता शायद ही कोई मायने रखे।

अध्ययन सामग्री की उपलब्धता: यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषयों के चयन हेतु यह भी सर्वाधिक महत्वपूर्ण मापदंडों में से एक है। यद्यपि आपकी रुचि महत्वपूर्ण है, किंतु विषय के लिए उचित अध्ययन सामग्री का उपलब्ध होना भी आवश्यक है। उदाहरण के लिए, यदि आपकी रुचि भूविज्ञान है, तो विषय के लिए उचित अध्ययन सामग्री एवं मार्गदर्शन के अभाव के कारण आपके लिए इसे अपने वैकल्पिक के रूप में चयन करना अभी भी कठिन कार्य होगा।

पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए आवश्यक समय: यह भी महत्वपूर्ण है कि यूपीएससी के लिए अपने वैकल्पिक विषयों का चयन करते समय आपको इस बिंदु पर विचार करना चाहिए। यदि आपका वैकल्पिक पाठ्यक्रम पूरा करने में कम समय ले रहा है, तो आपके पास इसे बार-बार पुनर्भ्यास करने हेतु पर्याप्त समय उपलब्ध है। उदाहरण के लिए, यदि यूपीएससी के लिए आपके मुख्य विषय समाजशास्त्र अथवा नृविज्ञान हैं, तो आपको उस व्यक्ति की तुलना में पेपर तैयार करने में कम समय लगेगा, जिसने गणित या इतिहास को वैकल्पिक विषय के रूप में चुना है।

सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों के साथ अभिसरण: आपको यह भी देखना चाहिए कि सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों के साथ यूपीएससी के लिए आपके वैकल्पिक विषय कितना अतिव्याप्त (ओवरलैप) करते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप लोक प्रशासन को अपने वैकल्पिक विषय के रूप में चुनते हैं, तो आप इसे अधिक अतिव्यापी पाएंगे, मान लीजिए, यदि आप रसायन विज्ञान का चयन अपने वैकल्पिक विषय के रूप में करते हैं।

मिथकों से दूर रहें: सभी मापदंडों में यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण  मापदंड है. आप लोगों को यूपीएससी में सबसे अधिक स्कोरिंग वैकल्पिक विषय के बारे में बात करते हुए पाएंगे, यूपीएससी के लिए सर्वश्रेष्ठ वैकल्पिक विषय, कुछ वैकल्पिक विषयों  के प्रति यूपीएससी का झुकाव, इत्यादि। आपको पता होना चाहिए कि आपको अच्छे उत्तरों के लिए अंक  प्राप्त होंगे, एवं आपको पेपर भरने के लिए अंक प्राप्त नहीं होंगे। भले ही इन मिथकों में कुछ सच्चाई हो, यह बहुत ही व्यक्तिपरक है एवं वास्तव में इसके बारे में सत्यता जानने के लिए कोई वस्तुनिष्ठ मानदंड नहीं हैं।

अपने वैकल्पिक विषय का चयन उचित प्रकार से करें, इससे आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में  अत्यधिक सहायता प्राप्त होगी। हालांकि, इसका अर्थ यह नहीं है कि आप अपने सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों में आत्मसंतुष्ट हो जाएंगे। आपको अपने सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र में अच्छी तरह से तैयार होना होगा, हालांकि, जब वैकल्पिक विषय की बात आती है, तो आपकी तैयारी और भी बेहतर होनी चाहिए!

यूपीएससी के लिए वैकल्पिक विषय का चयन_50.1

आईएएस की परीक्षा हेतु कितने वैकल्पिक विषय हैं

पूर्व के विपरीत, यूपीएससी सिविल सेवा वैकल्पिक विषयों का ऐसा कोई संयोजन नहीं है। आपको नीचे दिए गए विषयों में से किसी एक का चयन करना है।

  • कृषि
  • पशुपालन एवं पशु चिकित्सा विज्ञान
  • नृविज्ञान
  • वनस्पति विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • सिविल इंजीनियरिंग
  • वाणिज्य एवं लेखा
  • अर्थशास्त्र
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • भूगोल
  • भूविज्ञान
  • इतिहास
  • विधि
  • प्रबंधन
  • गणित
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • चिकित्सा विज्ञान
  • दर्शनशास्त्र
  • भौतिकी
  • राजनीति विज्ञान एवं अंतर्राष्ट्रीय संबंध
  • मनोविज्ञान
  • लोक प्रशासन
  • समाजशास्त्र
  • सांख्यिकी
  • प्राणीशास्त्र
  • निम्नलिखित भाषाओं में से किसी एक का साहित्य: असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी , मराठी, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, संथाली, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दू एवं अंग्रेजी।
 

सामान्य रूप  से पूछे जाने वाले प्रश्न

 

प्रश्न.  आईएएस की परीक्षा हेतु कितने वैकल्पिक विषय हैं?

उत्तर. वैकल्पिक विषयों में, चुनने के लिए कुल 48 विषय हैं।

 

प्रश्न. यूपीएससी में  सर्वाधिक स्कोर करने वाला वैकल्पिक विषय कौन सा है?

उत्तर. यूपीएससी में सर्वाधिक स्कोरिंग सब्जेक्ट जैसी कोई चीज नहीं होती है। आपको आपके उत्तर के अनुसार अंक दिए जाएंगे।

 

प्रश्न.  यूपीएससी के लिए सबसे अच्छा वैकल्पिक विषय कौन सा है?

उत्तर. हमें यकीन है कि आप इस लेख को पढ़ने के बाद अपना सर्वश्रेष्ठ विकल्प चुन सकते हैं।

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.
Was this page helpful?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *