UPSC Exam   »   Paschim Lehar Exercise 2022   »   India Sri Lanka Relations

अभ्यास स्लिनेक्स

अभ्यास स्लिनेक्स- यूपीएससी परीक्षा के लिए प्रासंगिकता 

  • जीएस पेपर 3: सुरक्षा- सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां एवं उनका प्रबंधन।

अभ्यास स्लिनेक्स_40.1

समाचारों में अभ्यास स्लिनेक्स

  • भारत – श्रीलंका द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास स्लिनेक्स (SLINEX Exercise) के नौवें संस्करण का आयोजन 07 मार्च से 10 मार्च 2022 तक विशाखापत्तनम में निर्धारित है।
  • स्लिनेक्स अभ्यास का आठवां संस्करण अक्टूबर 2020 में त्रिंकोमाली में आयोजित किया गया था।

 

स्लिनेक्स अभ्यास क्या है?

  • अभ्यास स्लिनेक्स के बारे में: अभ्यास स्लिनेक्स श्रीलंकाई नौसेना एवं भारतीय नौसेना के  मध्य आयोजित  किया जाने वाला एक नौसैनिक अभ्यास है। द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास की स्लिनेक्स श्रृंखला 2005 में  आरंभ की गई थी।
  • उद्देश्य: स्लिनेक्स  अभ्यास का उद्देश्य दोनों नौसेनाओं के मध्य बहुआयामी समुद्री संचालन के लिए अंतरसंचालनीयता को बढ़ाना, पारस्परिक समझ में सुधार करना तथा सर्वोत्तम प्रथाओं  एवं प्रक्रियाओं का आदान-प्रदान करना है।
  • महत्व:
    • स्लिनेक्स भारत एवं श्रीलंका के मध्य गहन समुद्री जुड़ाव का उदाहरण है एवं विगत कुछ वर्षों में आपसी सहयोग को मजबूत करने के लिए इसका दायरा बढ़ा है।
    • स्लिनेक्स भारत की ‘पड़ोसी प्रथम’ की नीति एवं ‘क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा तथा विकास ( सिक्योरिटी एंड ग्रोथ फॉर ऑल इन द रीजन/सागर)’ के माननीय प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप है।

अभ्यास स्लिनेक्स_50.1

स्लिनेक्स 2022 अभ्यास के दो चरण

  • चरण 1: अभ्यास स्लिनेक्स 2022 के बंदरगाह (हार्बर) चरण में व्यावसायिक, सांस्कृतिक, खेल एवं सामाजिक आदान-प्रदान सम्मिलित होंगे।
  • चरण 2: सामुद्रिक चरण के दौरान अभ्यास स्लिनेक्स 2022 में सतह एवं वायु-रोधी हथियार फायरिंग अभ्यास, नाविक कला विकास, क्रॉस डेक फ्लाइंग सहित विमानन संचालन, उन्नत सामरिक युद्धाभ्यास एवं समुद्र में विशेष बल संचालन सम्मिलित होंगे।
    • ये दोनों नौसेनाओं के मध्य पूर्व से मौजूद उच्च स्तर की अंतःक्रियाशीलता को और बढ़ाएंगे।
  • भागीदारी: अभ्यास स्लिनेक्स में, श्रीलंकाई नौसेना का प्रतिनिधित्व एसएलएनएस सयूराला, एक उन्नत अपतटीय गश्ती पोत एवं भारतीय नौसेना आईएनएस किर्च, एक निर्देशित मिसाइल कार्वेट द्वारा किया जाएगा।
    • भारतीय नौसेना के अन्य प्रतिभागियों में सम्मिलित हैं-
      • आईएनएस ज्योति, एक फ्लीट सपोर्ट टैंकर,
      • एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच),
      • सी-किंग तथा चेतक हेलीकॉप्टर एवं
      • डोर्नियर सामुद्रिक गश्ती विमान (मैरीटाइम पैट्रोल एयरक्राफ्ट)।

 

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के लिए, निर्यात सकल घरेलू उत्पाद के 20% तक बढ़ना चाहिए  अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस स्वयं सहायता समूह एवं ई-शक्ति संपादकीय विश्लेषण- विदेश में छात्रों के लिए सुरक्षा व्यवस्था 
भारतीय रेलवे की कवच ​​प्रणाली सहायक संधि व्यवस्था | प्रभाव एवं महत्व प्लास्टिक पुनर्चक्रण एवं अपशिष्ट प्रबंधन पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन  रूस यूक्रेन युद्ध पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद संकल्प 
सहायक संधि व्यवस्था | पृष्ठभूमि एवं प्रमुख विशेषताएं संपादकीय विश्लेषण- केयर इनफॉर्म्ड बाय डेटा प्रवासियों एवं देश-प्रत्यावर्तितों के राहत तथा पुनर्वास हेतु प्रछत्र योजना  बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.