UPSC Exam   »   उज्जवला 2.0

उज्जवला 2.0

प्रासंगिकता

  • जीएस 2: स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधन से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास एवं प्रबंधन से संबंधित मुद्दे।

संदर्भ

  • हाल ही में, उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई),  अथवा उज्जवला का द्वितीय चरण प्रारंभ किया गया था।

उज्जवला 2.0_40.1

Get free video for UPSC CSE preparation and make your dream of becoming an IAS/IPS/IRS a reality

मुख्य बिंदु

  • इस चरण में प्रवासी श्रमिक स्व-घोषणा के आधार पर निशुल्क गैस कनेक्शन प्राप्त कर सकेंगे।
    • उन्हें पते के प्रमाण के रूप में अतिरिक्त दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं है।
    • यह उनके लिए सहायक सिद्ध होगा क्योंकि उन्हें अन्य राज्यों में कार्य करते समय निवास का प्रमाण पत्र जमा करने में कठिनाई होती है।
    • भारत में एलपीजी आच्छादन शत-प्रतिशत होने केअत्यंत समीप है।
    • सरकार ने 50 जिलों के 21 लाख घरों में पाइप से गैस पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।
    • जमा(पेशगी)-मुक्त एलपीजी कनेक्शन के साथ, उज्ज्वला  लाभार्थियों को प्रथम पुनर्भरक (रिफिल) एवं एक चूल्हा (हॉटप्लेट) निशुल्क उपलब्ध कराएगी।

https://www.adda247.com/upsc-exam/list-of-borrowed-features-of-the-indian-constitution-and-their-source-countrieshindi/

उज्ज्वला योजना क्या है?

  • इसे मई 2016 में निर्धन परिवारों को एलपीजी (तरलीकृत पेट्रोलियम गैस) कनेक्शन प्रदान करने हेतु प्रारंभ किया गया था।
  • इस योजना के अंतर्गत पात्र परिवार को 1600 रुपये प्रति कनेक्शन की वित्तीय सहायता के साथ जमा मुक्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान किया जाता है।
  • सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना (एसईसीसी) सूची के माध्यम से योग्य परिवारों का अभिनिर्धारण किया जाता है।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत इस योजना का विस्तार करते हुए 50 मिलियन परिवारों के पूर्व निर्धारित लक्ष्य की तुलना में 80 मिलियन निर्धन परिवारों को सम्मिलित किया गया था।
  • इस योजना के लिए पात्र होने हेतु, महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए तथा वह बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवार से संबंधित होनी चाहिए।

https://www.adda247.com/upsc-exam/ipcc-reports-sixth-assessment-reporthindi/

उद्देश्य

  • विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में निर्धन परिवारों को भोजन पकाने के स्वच्छ ईंधन समाधान प्रदान करना।
  • भोजन पकाने के ईंधन के पारंपरिक स्रोतों के उपयोग से जुड़े स्वास्थ्य संबंधी खतरों को दूर करने हेतु।
  • महिलाओं को सशक्तिकृत करने एवं उनके स्वास्थ्य की रक्षा करना।
  • जनसंख्या को गंभीर श्वसन रोगों से बचाने हेतु।

 

उपलब्धियां

  • एलपीजी आच्छादन 55% से बढ़कर 97.4% हो गया है,  एवं इस योजना ने देश में महिलाओं की स्थिति में सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन के सर्वाधिक बृहद उत्प्रेरकों में से एक के रूप में  कार्य किया है।
  • इस योजना ने अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी से प्रशंसा अर्जित की, जिसने कहा कि यह महिलाओं के स्वास्थ्य एवं पर्यावरण में सुधार लाने में एक ” व्यापक उपलब्धि” है।
  • डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उज्ज्वला योजना ने निर्धनता रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली 37 मिलियन महिलाओं को निशुल्क एलपीजी कनेक्शन प्रदान किया है ताकि वे स्वच्छ घरेलू ऊर्जा के उपयोग पर परिवर्तन (स्विच) कर सकें।

https://www.adda247.com/upsc-exam/phasing-out-of-libor-hindi/

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.