UPSC Exam   »   Bullet Trains: Does India Need Them?   »   Indian Railway Management Service (IRMS)

संपादकीय विश्लेषण: भारतीय रेलवे के बेहतर प्रबंधन हेतु विलय

भारतीय रेलवे के बेहतर प्रबंधन हेतु एक विलय – यूपीएससी परीक्षा  के लिए प्रासंगिकता

  • जी एस पेपर 2- शासन, प्रशासन एवं चुनौतियां- विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकार की नीतियां  एवं अंतः क्षेप  तथा उनकी अभिकल्पना एवं कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे।

संपादकीय विश्लेषण: भारतीय रेलवे के बेहतर प्रबंधन हेतु विलय_40.1

भारतीय रेलवे के बेहतर प्रबंधन हेतु एक विलय

  • भारतीय रेलवे प्रबंधन सेवा (इंडियन रेलवे मैनेजमेंट सर्विसेज/IRMS) के गठन के संबंध में हाल ही में एक राजपत्र अधिसूचना विश्व के सर्वाधिक वृहद रेल नेटवर्क में से एक के प्रबंधन में एक आमूल परिवर्तन का प्रतीक है।

भारतीय रेलवे पर सीएजी की रिपोर्ट

इंडियन रेलवे प्रबंधन सेवा (इंडियन रेलवे मैनेजमेंट सर्विस/IRMS)

  • भारतीय रेलवे प्रबंधन सेवा (आईआरएमएस) का गठन: आईआरएमएस  के गठन के लिए 10 ग्रुप-ए भारतीय रेलवे सेवाओं में से आठ  का विलय कर दिया गया है।
  • आईआरएमएस में विलय की गई आठ सेवाएं: 
    • भारतीय रेल यातायात सेवा (इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस/आईआरटीएस),
    • भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा ( इंडियन रेलवे परसौनल सर्विस/आईआरपीएस),
    • भारतीय रेलवे लेखा सेवा (इंडियन रेलवे अकाउंट सर्विस/आईआरएएस),
    • भारतीय रेलवे इलेक्ट्रिकल इंजीनियर्स सेवा (इंडियन रेलवे सर्विसेज जॉब फॉर इलेक्ट्रिकल इंजीनियर्स/आईआरएसईई),
    • भारतीय रेलवे सिग्नल इंजीनियर्स सेवा (इंडियन रेलवे सर्विस ऑफ सिग्नल इंजीनियर्स/IRSS),
    • भारतीय रेलवे मैकेनिकल इंजीनियर्स सेवा (इंडियन रेलवे सर्विस ऑफ मैकेनिकल इंजीनियर्स/IRSME),
    • भारतीय रेलवे सिविल इंजीनियर्स सेवा (इंडियन रेलवे सर्विस ऑफ सिविल इंजीनियर्स/आईआरएसई) तथा
    • भारतीय रेलवे स्टोर सेवा (इंडियन रेलवे स्टोर सर्विस/IRSS)।
  • आवेदन तथा आईआरएमएस परीक्षा आयोजित करना: लगभग चार लाख आवेदक संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के माध्यम से आईआरएमएस के लिए आवेदन करेंगे।
    • यूपीएससी को IRMS के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित करने का उत्तरदायित्व सौंपा गया है।
  • आईआरएमएस के प्रमुख लाभ 
    • सिलोस हटाना: पूर्ववर्ती आठ सेवाओं के लगभग 8,000 सुदृढ़ संवर्ग को अब एक (आईआरएमएस) में मिला दिया गया है।
    • रेलवे नौकरशाही को युक्तिसंगत बनाना: इस पुनर्गठन का उद्देश्य भारतीय रेलवे की शीर्ष नौकरशाही को युक्तिसंगत बनाना भी है।

भारतीय रेलवे की कवच ​​प्रणाली

भारतीय रेलवे के बेहतर प्रबंधन हेतु एक विलय- आगे की राह 

  • वर्तमान रेलवे पदाधिकारियों को प्रशिक्षण: आईआरएमएस के गठन के पश्चात भी, लगभग 8000  वर्तमान रेलवे अधिकारी आने वाले दशकों तक संगठन में कार्यरत रहेंगे।
    • यह अधिकारियों के मौजूदा कैडर के प्रशिक्षण के महत्व पर प्रकाश डालता है क्योंकि उन्हें महत्वाकांक्षी गति-शक्ति परियोजनाओं  के प्रति अपना योगदान देना होगा।
  • प्रशिक्षण का महत्व: भारतीय रेलवे 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की भारत की आकांक्षा को  पूर्ण करने में अत्यधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।
    • समर्पित फ्रेट कॉरिडोर, हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर, स्टेशन पुनर्विकास परियोजनाओं, वंदे भारत ट्रेनों को  सम्मिलित करने इत्यादि जैसी प्रतिष्ठित रेलवे परियोजनाएं इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।
    • इन सबके लिए भारतीय रेलवे के क्षमता-निर्माण पारिस्थितिकी तंत्र में व्यापम पैमाने पर सुधार की आवश्यकता होगी।
  • नवीन भर्ती किए गए IRMS अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण मॉड्यूल में सुधार: सेवाओं का विलय नए भर्ती किए गए IRMS अधिकारियों को भविष्य के लिए तैयार करने  हेतु प्रशिक्षण को नया स्वरूप प्रदान करने का अवसर प्रदान करता है।
  • कैरियर के मध्य के प्रशिक्षण कार्यक्रमों के साथ प्रारंभिक प्रशिक्षण को पुनः अभिमुख किया जा सकता है।
  • संचालन एवं व्यवसाय विकास, आधारिक अवसंरचना के विकास तथा रखरखाव, कर्षण एवं रोलिंग स्टॉक तथा वित्त एवं मानव संसाधन प्रबंधन के कार्यक्षेत्रों को प्रबंधित करने की क्षमता निर्मित करने पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए।
  • आईआरएमएस प्रशिक्षण को विभिन्न नेतृत्व भूमिकाओं के लिए आवश्यक दक्षताओं के आधार पर डिजाइन करने की आवश्यकता है।
  • भारत सरकार के मिशन कर्मयोगी में अधिकारियों की योग्यता आधारित पदस्थापना का प्रावधान है।
  • भारत सरकार का एकीकृत सरकारी ऑनलाइन प्रशिक्षण (इंटीग्रेटेड गवर्नमेंट ऑनलाइन ट्रेनिंग/आईजीओटी) कार्यक्रम आईआरएमएस अधिकारियों के करियर की प्रगति को आकार देने में सहायक होगा।

राष्ट्रीय रेल योजना विजन 2030

संपादकीय विश्लेषण: भारतीय रेलवे के बेहतर प्रबंधन हेतु विलय_50.1

निष्कर्ष

  • युवा स्नातक जो सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से आईआरएमएस के लिए प्रयास करेंगे, उन्हें आकांक्षी  एवं स्फूर्तिमान शिक्षार्थी होना चाहिए।
  • उनके पास न केवल देश की जीवन रेखा की सेवा करने का अवसर है बल्कि अर्थव्यवस्था के इंजन को टर्बोचार्ज करने का भी अवसर है।

 

‘माइक्रोस्विमर्स’ द्वारा ड्रग डिलीवरी स्कोच शिखर सम्मेलन 2022 | NMDC ने 80वें SKOCH 2022 में दो पुरस्कार जीते राज्य ऊर्जा एवं जलवायु सूचकांक (एसईसीआई) 2022 62वीं राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी 
एक्सपेंडिंग हीट रेसिलिएंस रिपोर्ट संपादकीय विश्लेषण: महामारी के आघात में, एमएसएमई के लिए महत्वपूर्ण सबक नेशनल टाइम रिलीज स्टडी (TRS) 2022 भारत-अमेरिका 2+ 2 संवाद 2022
माधवपुर मेला सॉलिड फ्यूल डक्टेड रैमजेट टेक्नोलॉजी वैश्विक पवन रिपोर्ट 2022 अवसर योजना

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published.