UPSC Exam   »   GS Paper 2 UPSC Mains 2021...   »   GS Paper 3 UPSC 2021 (Mains)|...

सामान्य अध्ययन पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा)| यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) जीएस पेपर 3 विश्लेषण | जीएस पेपर 3 प्रश्न पत्र डाउनलोड करें

Table of Contents

यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2021: सामान्य अध्ययन पेपर –3

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) प्रत्येक वर्ष तीन चरणों- प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा एवं साक्षात्कार में सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है। यूपीएससी मुख्य परीक्षा में सामान्य अध्ययन के पेपर -3 में 250 अंक (1750 में से) होते हैं।  यूपीएससी मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन के पेपर-3 के पाठ्यक्रम में अर्थव्यवस्था, कृषि, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पर्यावरण तथा संबंधित मुद्दों, आपदा प्रबंधन एवं सुरक्षा चुनौतियां जैसे विषय शामिल हैं। पाठ्यक्रम के स्थैतिक भाग की अच्छी समझ रखने वाले उम्मीदवार जीएस पेपर -3 के साथ सहज होते हैं एवं यूपीएससी मुख्य परीक्षा के जीएस पेपर -3 परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करते हैं।

सामान्य अध्ययन पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा)| यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) जीएस पेपर 3 विश्लेषण | जीएस पेपर 3 प्रश्न पत्र डाउनलोड करें_40.1

यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2021- जीएस पेपर 3 प्रश्न पत्र डाउनलोड करें

यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 का जीएस पेपर -3, 09 जनवरी 2022 को प्रथम पाली (09-12 बजे) में आयोजित किया गया था। नीचे, हम संपूर्ण जीएस पेपर -3 प्रश्न पत्र (लिखित रूप) टेक्स्ट फॉर्म एवं  (प्रतिकृति रूप)  इमेज फॉर्म में भी उपलब्ध करा रहे हैं।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 | यूपीएससी मुख्य परीक्षा निबंध पेपर 2021 का विश्लेषण | यूपीएससी निबंध प्रश्न पत्र

प्रश्न 1. भारत की सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी के वर्ष 2015 से पूर्व तथा वर्ष 2015 के पश्चात परिकलन विधि में अंतर की व्याख्या कीजिए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 2.  पूंजी बजट तथा राजस्व बजट के मध्य अंतर स्पष्ट कीजिए। इन दोनों बजटों के संघटकों को समझाइए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 3.  देश के कुछ भागों में भूमि सुधारों ने सीमांत और लघु किसानों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए किस प्रकार सहायता की है? (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 4.  भारत के जल संकट के समाधान में,सूक्ष्म सिंचाई  कैसे और किस सीमा तक सहायक होगी? (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 5. S-400 हवाई रक्षा प्रणाली, विश्व में इस समय उपलब्ध अन्य किसी प्रणाली की तुलना में किस प्रकार से तकनीकी रूप से श्रेष्ठ है? (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 6. नवंबर, 2021 में ग्लासगो में  विश्व के नेताओं के शिखर सम्मेलन में सी. ओ. पी. 26 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में, आरंभ की गई हरित ग्रिड पहल का प्रयोजन स्पष्ट कीजिए। अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन आईएसए में यह विचार पहली बार कब दिया गया था? (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 7. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यू. एच. ओ.) द्वारा हाल ही में जारी किए गए संशोधित वैश्विक वायु गुणवत्ता दिशा निर्देशों (ए. क्यू. जी.) के मुख्य बिंदुओं का वर्णन  कीजिए।  विगत 2005 के अद्यतन से, ये किस प्रकार भिन्न हैं? इन संशोधित मानकों को प्राप्त करने के लिए, भारत के राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम में किन परिवर्तनों की आवश्यकता है? (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 8.  भूकंप से संबंधित संकटों के लिए भारत की  भेद्यता की विवेचना कीजिए। पिछले तीन दशकों में, भारत के विभिन्न भागों में भूकंप द्वारा उत्पन्न बड़ी आपदाओं के उदाहरण प्रमुख विशेषताओं के साथ दीजिए । (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 9.   चर्चा कीजिए कि किस प्रकार उभरती प्रौद्योगिकियां और वैश्वीकरण मनी लांड्रिंग में योगदान करते हैं। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दोनों स्तरों पर मनी लांड्रिंग की समस्या से निपटने के लिए किए जाने वाले उपायों को विस्तार से समझाइए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 10. भारत की आंतरिक सुरक्षा को ध्यान में रखते, सीमा पार से होने वाले साइबर हमलों के प्रभाव का विश्लेषण कीजिए। साथ ही, इन परिष्कृत हमलों के विरुद्ध रक्षात्मक उपायों की चर्चा कीजिए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 11. क्या आप सहमत हैं कि भारतीय अर्थव्यवस्था ने हाल ही में V-आकार के पुनरुत्थान का अनुभव किया है?  कारण सहित अपने उत्तर की पुष्टि कीजिए। (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 12. “तीव्रतर एवं समावेशी आर्थिक संवृद्धि के लिए आधारिक-अवसंरचना में निवेश आवश्यक है”।  भारतीय अनुभव के परिप्रेक्ष्य में विवेचना कीजिए। (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 13. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 की मुख्य विशेषताएं क्या हैं? खाद्य सुरक्षा विधेयक ने भारत में भूख  तथा कुपोषण को  दूर करने में किस प्रकार सहायता की है? (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 14. फसल विविधता के समक्ष मौजूद चुनौतियों क्या हैं? उभरती प्रौद्योगिकियां फसल  विविधता के लिए किस प्रकार अवसर प्रदान करती हैं? (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 15. अनुप्रयुक्त जैव प्रौद्योगिकी में  शोध तथा विकास संबंधी उपलब्धियां क्या हैं? ये उपलब्धियां समाज के  निर्धन  वर्गों के उत्थान में किस प्रकार सहायक होंगी? (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 16.  वर्ष 2014 में भौतिक विज्ञान में नोबेल पुरस्कार संयुक्त रूप से आकासाकी, अमानो तथा नाकामुरा को  1990 के दशक में नीली एल. ई. डी. के आविष्कार के लिए प्रदान किया गया था। इस आविष्कार ने  मानव जाति के दैनंदिन जीवन को किस प्रकार प्रभावित किया है? (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 17.  संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क सम्मेलन (यू. एन. एफ. सी. सी. सी.) के  सी. ओ. पी. के 26 वें सत्र के प्रमुख परिणामों का वर्णन कीजिए। इस सम्मेलन में भारत द्वारा की गई वचनबद्धताएं क्या हैं? (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 18. भू-स्खलन के विभिन्न कारणों  और प्रभावों का वर्णन कीजिए। राष्ट्रीय भू-स्खलन जोखिम प्रबंधन रणनीति के महत्वपूर्ण घटकों का उल्लेख कीजिए। (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 19. भारत की आंतरिक सुरक्षा के लिए बाह्य राज्य और गैर-राज्य कारकों द्वारा प्रस्तुत बहुआयामी चुनौतियों का विश्लेषण  कीजिए। इन  संकटों का मुकाबला करने के लिए आवश्यक उपायों की भी चर्चा कीजिए। (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

प्रश्न 20. आतंकवाद की जटिलता और तीव्रता, इसके कारणों, संबंधों  तथा अप्रिय गठजोड़ का विश्लेषण  कीजिए। आतंकवाद के खतरे  के उन्मूलन के लिए उठाए जाने वाले उपायों का भी सुझाव दीजिए। (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)

 

सामान्य अध्ययन पेपर 2 यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2021 | यूपीएससी (मुख्य परीक्षा) जीएस पेपर 2 विश्लेषण | जीएस पेपर 2 प्रश्न पत्र डाउनलोड

सामान्य अध्ययन पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा): यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) जीएस पेपर 3 विश्लेषण

 

जीएस पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) – भारतीय अर्थव्यवस्था

यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 के  सामान्य अध्ययन के पेपर 3 में इस खंड से अवधारणात्मक प्रश्न पूछे गए थे। विभिन्न आर्थिक अवधारणाओं की अच्छी समझ रखने वाले उम्मीदवार इस खंड से अच्छे उत्तर लिखेंगे। उदाहरण के लिए, यूपीएससी ( मुख्य परीक्षा) जीएस पेपर 3 में जीडीपी गणना पद्धति, पूंजी एवं राजस्व बजट के मध्य अंतर पर प्रश्न पूछे गए थे।

जीएस पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) – भारतीय कृषि

इस खंड के प्रश्न अपेक्षित तर्ज पर थे। उदाहरण के लिए, भूमि सुधार एवं सीमांत कृषकों पर इसके प्रभाव, सूक्ष्म सिंचाई एवं भारत के जल संकट तथा फसल  विविधता पर यूपीएससी (मुख्य परीक्षा) जीएस पेपर 3 में प्रश्न पूछे गए थे।  जिन उम्मीदवारों को भारतीय कृषि के समक्ष उत्पन्न होने वाले विभिन्न मुद्दों की अच्छी समझ है, वे इस खंड में अच्छे उत्तर लिखने में सक्षम होंगे।

जीएस पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) – विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

यद्यपि इस खंड से मात्र दो प्रश्न पूछे गए थे, वे प्रकृति में दिलचस्प थे। उदाहरण के लिए, यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 के जीएस पेपर 3 में अनुप्रयुक्त जैव प्रौद्योगिकी (एप्लाइड बायोटेक्नोलॉजी) एवं भौतिकी में नोबेल पुरस्कार में  शोध तथा विकासात्मक उपलब्धियों पर प्रश्न पूछे गए थे। प्रश्न में प्रमुख अवधारणाओं की विशिष्ट समझ रखने वाले उम्मीदवार अच्छे उत्तर लिखने में सक्षम होंगे।

यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021| यूपीएससी मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर- I का विश्लेषण | यूपीएससी  सामान्य अध्ययन पेपर- I प्रश्न पत्र डाउनलोड करें

जीएस पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) – पर्यावरण एवं संबद्ध मुद्दे

इस खंड के प्रश्न अपेक्षित तर्ज पर थे एवं इस क्षेत्र में वर्तमान में हुए प्रगति से संबंधित प्रश्नों का प्रभुत्व था। उदाहरण के लिए, हरित ग्रिड पहल, यू. एन. एफ. सी. सी. सी. के सी. ओ. पी. 26 एवं  वैश्विक वायु गुणवत्ता दिशा निर्देश (ग्लोबल एयर क्वालिटी गाइडलाइन्स) पर प्रश्न यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 के जीएस पेपर 3 में पूछे गए थे। पर्यावरण क्षेत्र में वर्तमान घटनाओं की अच्छी समझ रखने वाले उम्मीदवार सरलता से अच्छे उत्तर लिख सकेंगे।

जीएस पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) – आपदा प्रबंधन

इस खंड में, यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 के जीएस पेपर 3 में भूकंप एवं भूस्खलन जैसे पारंपरिक विषयों से प्रश्न पूछे गए थे। वैचारिक स्पष्टता एवं महत्वपूर्ण टॉपिक की व्यापक समझ रखने वाले उम्मीदवार यूपीएससी  मुख्य परीक्षा में इन प्रश्नों को सरलता से हर करने में सक्षम होंगे।

जीएस पेपर 3 यूपीएससी 2021 (मुख्य परीक्षा) – आंतरिक सुरक्षा एवं चुनौतियां

यूपीएससी मुख्य परीक्षा के जीएस पेपर 3 में उनके सामान्य भारांश की तुलना में इस वर्ष इस खंड के प्रश्नों की संख्या अधिक थी। मनी लॉन्ड्रिंग, भारत की आंतरिक सुरक्षा, आतंकवाद, राज्य एवं गैर-राज्य कारकों द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियां, सीमा पार से साइबर हमले इत्यादि पर प्रश्न यूपीएससी मुख्य परीक्षा 2021 के जीएस पेपर 3 में पूछे गए थे। भारत की आंतरिक सुरक्षा के विभिन्न आयामों की उचित समझ रखने वाले उम्मीदवारों ने इन प्रश्नों को सरलता से हल किया होगा।

 

यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2021 के आगामी पेपर्स के लिए उम्मीदवारों को शुभकामनाएं।

 

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *