UPSC Exam   »   अशोध्य बैंक: महत्व एवं आलोचना

अशोध्य बैंक: महत्व एवं आलोचना

अशोध्य बैंक: महत्व एवं आलोचना

अशोध्य बैंक: महत्व एवं आलोचना_40.1

 

http://bit.ly/2MNvT1m

 

प्रासंगिकता

  • जीएस 3: भारतीय अर्थव्यवस्था और योजना, संसाधनों का एकत्रण, वृद्धि, विकास और रोजगार से संबंधित मुद्दे।

 

प्रसंग

  • हाल ही में, वित्त मंत्रालय ने बैंक खातों को परिशोधित  करने के उपाय के रूप में प्रतिबलित परिसंपत्तियों के लिए एक अशोध्य बैंक प्रारंभ किया है।

 

एक अशोध्य बैंक क्या है?

  • यह एक परिसंपत्ति पुनर्निर्माण कंपनी (एआरसी) के समान स्थान है जहां एक संघर्षरत वित्तीय संस्थान उन  परिसंपत्तियों को रख सकता है जो अंततः बेचने या खोलने के लिए अपने स्वयं की खातों को बंद करना चाहते हैं।
  • बैड बैंक तत्पश्चात इस प्रकार के अशोध्य ऋण ग्रहण करता है, उनका प्रबंधन करता है और अंत में धन की वसूली करता है।
  • वाणिज्यिक बैंकों के विपरीत, बैड बैंक ऋण प्रदान करने और जमाएं लेने में सम्मिलित नहीं होते हैं।
  • कई वैश्विक ऋणदाताओं ने 2008 के वित्तीय संकट के पश्चात इस प्रकार के संभाग स्थापित किए ।

 

 

https://www.adda247.com/upsc-exam/financial-action-task-force-fatf-composition-functions-and-its-fight-against-terror-financing-2-hindi/

इतिहास

  • 1988 में अमेरिका स्थित मेलन बैंक ने पहला बैड बैंक स्थापित किया जिसके पश्चात इस अवधारणा को अन्य कई विकसित और विकासशील देशों में प्रतिकृत किया गया।
  • विगत वर्ष, चीन ने महामारी के दुष्परिणामों से उबरने के लिए एक नया सरकारी स्वामित्व वाला अशोध्य ऋण  प्रबंधक नियुक्त किया था।
  • यहां तक कि भारत में भी यह कोई नवीन अवधारणा नहीं है
  • सरफेसी अधिनियम, 2002 के अंतर्गत, बैंकों से अशोध्य ऋण क्रय करने और बकायेदार ऋण ग्राहियों से नकदी की वसूली के लिए एआरसी  निर्मित किए गए थे।

 

यह किस प्रकार कार्य करेगा?

  • बैंक पहले उन परिसंपत्तियों को उक्त अशोध्य बैंक को अपनी बही में 100% प्रावधान के साथ हस्तांतरित करेंगे एवं तत्पश्चात, अपने अनुभव के आधार पर, वे बाद की तिथि  में 100 प्रतिशत से कम प्रावधानन वाली परिसंपत्ति को स्थानांतरित करने का निर्णय लेंगे।
  • यह परिकल्पना की जा रही है कि वसूल की गई कुल राशि में से एक निश्चित प्रतिशत प्रतिभूति जमाओं के रूप में होगा।.
  • हालांकि ये प्राप्तियां बैंक के तुलन पत्रों में रहेंगी, वे शून्य-जोखिम भार वहन करेंगी, तथा एक निर्दिष्ट अवधि के लिए पूर्ण सरकारी प्रतिभूतियां प्राप्त करेंगी।

 

लाभ

  • यह प्रस्तावित सौदे के लिए सहमत होने वाले  ऋण ग्राहियों की संख्या को कम करके ऋण पुनर्गठन की प्रक्रिया में गति लाने में सहायता करता है।
  • यह विदेशी निधियों को एक ही विक्रेता के साथ मोल भाव करने की अनुमति देकर एक व्यापारिक कंपनी के ऋण  पर  नियंत्रण की स्थिति  निर्मित करना सुलभ बनाता है।
  • गैर-प्रमुख परिसंपत्तियों को एक अलग संभाग में रखने से पुनर्गठन की प्रक्रिया को अधिक कुशल और पारदर्शी बनने में सहायता प्राप्त हो सकती है क्योंकि यह निवेशकों को वित्तीय प्रकटीकरण प्रदान करेगा ताकि ऋणदाता के कायापलट की प्रगति का बेहतर ढंग से अनुपथन किया जा सके और प्रबंधन को उत्तरदायी ठहराया जा सके।
  • परिसंपत्तियों को बैड बैंक में डालने से पूंजी मुक्त हो जाती है जिसका उपयोग किसी व्यापारिक कंपनी की वित्तीय  क्षमता के आवर्धन के लिए किया जा सकता है या अधिक लाभदायक व्यवसायों के लिए पुन: नियोजित किया जा सकता है।
  • यदि यह एक पृथक इकाई है, तो यह बैंक को अपने तुलन पत्र को परिशोधित करने, हानि को रोकने और अपने जमाकर्ताओं की रक्षा करने की अनुमति भी प्रदान कर सकता है।

आलोचना

  • एक अशोध्य बैंक का निर्माण समस्या को हल करने के बजाय उसे स्थानांतरित करने जैसा है। बैंकिंग क्षेत्र में  प्रचालनिक सुधारों के बिना अशोध्य बैंक निर्मित करने से वांछित परिणाम प्राप्त नहीं होंगे।
  • सरकार, समय-समय पर, बट्टे खाते में डाले जाने की भरपाई के लिए बैंक पूंजीकरण के माध्यम से धन का संचार करती है। ऐसी स्थिति में बैड बैंक  के निर्माण का औचित्य असंगत है।
  • जिस कीमत पर बैड बैंक अशोध्य ऋणों  का क्रय करेंगे, वह बाजार द्वारा निर्धारित नहीं होगा। यह मूल्य प्रकटीकरण को बाधित करेगा।
  • बैंक एनपीए को कम करने की प्रतिबद्धता के बिना अविचारित ऋण देने की प्रथा को जारी रखेंगे। यह अर्थव्यवस्था में नैतिक संकट उत्पन्न कर सकता है।

https://www.adda247.com/upsc-exam/important-prelims-articles-20-july-2021-hindi/

आगे की राह

  • बैड बैंक का निर्माण बैंकिंग क्षेत्र में सुधार के लिए एक आवश्यक किंतु पर्याप्त उपाय नहीं है। बैंकिंग क्षेत्र को अर्थव्यवस्था में अधिक योगदान करने में  सहायता करने के लिए इसे अन्य प्रचालन उपायों द्वारा समर्थित होना चाहिए।

 

Sharing is caring!

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *