झारखण्ड में नया मुख्य मंत्री कौन बनेगा या सोरेन ही रहेंगे?

हेमंत के अयोग्य होने पर पत्नी कल्पना संभालेंगी झारखंड की कमान?

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधानसभा की सदस्यता जाने पर सूबे में सियासी समीकरण बदल सकता है। 

बंद लिफाफे में चुनाव आयोग ने जो राय भेजी है उसने हेमंत सरकार के लिए खतरे की घंटी बजा दी है.

चुनाव आयोग की  सिफारिश को लेकर राज्यपाल रमेश बैस आज कोई ब़ड़ा फैसला कर सकते हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक हेमंत सोरेन को जनप्रतिनिधि कानून 1951 की धारा 9ए उल्लंघन का दोषी माना गया गया है.

बीजेपी डेलिगेशन ने फरवरी 2022 में आरोप लगाया कि सोरेन ने रांची के अनगड़ा में अपने नाम से खनन पट्टा लिया है

81 सदस्यीय विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल भाजपा के कुल 26 विधायक हैं

चुनाव आयोग की  सिफारिश को लेकर राज्यपाल रमेश बैस आज कोई ब़ड़ा फैसला कर सकते हैं.