Home   »   Hindi Questions For DSSSB Exam :...

Hindi Questions For DSSSB Exam : 6th April 2018 (Solutions)

Hindi Questions For DSSSB Exam : 6th April 2018 (Solutions)_30.1
निर्देश (1-5): नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में एक रिक्त स्थान छूटा हुआ है और उसके नीचे चार शब्द सुझाए गए हैं। इनमें से कोई एक उस रिक्त स्थान पर रख देने से वह वाक्य एक अर्थपूर्ण वाक्य बन जाता है। सही शब्द ज्ञात कर उसको उत्तर के रूप में अंकित कीजिए। दिए गए शब्दों में से सर्वाधिक उपयुक्त का चयन करना है।
Q1. श्रेष्ठ साहित्य, _____ के संपूर्ण बोध को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष, मूर्त-अमूर्त, संकेतों-प्रतीकों के माध्यम से रेखांकित करता है।
(a) लेखक
(b) देश
(c) समाज
(d) युग
S1 Ans. (d)
Sol. युग
Q2. हमें दुनिया के विकसित देशों से भी सबक सीखना चाहिए। विकसित देशों में _____ लगभग लुप्तप्राय हो गया है। लोगों ने अपना कार्य स्वयं करना सीख लिया है और अकसर तो वे अपने आवश्यक कार्य पूरे करने के लिए सरकार पर भी निर्भर नहीं रहते।
(a) सेवक वर्ग
(b) अपराधी वर्ग
(c) अधिकारी-वर्ग
(d) राजनेता वर्ग
S2 Ans. (a)
Sol. सेवक वर्ग

Q3. उपन्यासों और कहानियों के नाट्य रूपान्तरों ने आधुनिक हिन्दी रंगमंच को विकसित एवं _____ करने में आरंभ से ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
(a) संवृत
(b) समृद्ध
(c) संयोजित
(d) सुसंस्कृत
S3 Ans. (b)
Sol. समृद्ध
Q4. भ्रष्टाचार का मुख्य कारण है संपत्ति का असमान वितरण और आर्थिक विषमता की खाई। जहाँ एक व्यक्ति लाखों रुपया मासिक कमाता है, वहीं वह अपना घरेलू _____ करने वाले लोगों को न के बराबर वेतन देता है।
(a) सजावट
(b) लिखावट
(c) कामकाज
(d) पूजा
S4 Ans. (c)
Sol. कामकाज
Q5. ‘बेगम का तकिया’ में रंजीत कपूर यह _____ देने की कोशिश करते हैं कि वास्तविक जीवन में जहाँ धनलिप्सा व्यक्ति को महत्व दिलाती है वहीं उसे धीरे-धीरे स्वार्थी और हृदयहीन भी बना देती है।
(a) चेतावनी
(b) उपदेश
(c) निर्देश
(d) संदेश
S5 Ans. (d)
Sol. सन्देश
निर्देश(6-10) नीचे दिए गए गद्यांश के आधार पर पांच प्रश्न दिए गए है. गद्यांश का अध्ययन कीजिये और प्रश्न का उत्तर दीजिये.
प्रकृति पर आदमी के नियंत्रण में जो वृद्धि होती है उसका परिणाम या तो भला होता है या बुरा. हाल में जो वैज्ञानिक प्रगति हुई है उससे आर्थिक सम्पन्नता मिली है और साथ ही आणविक शक्ति भी. आज अगली पीढ़ी में सारी दुनिया की भौतिक समृद्धि के बढ़ने की संभावना इतनी बढ़ गई है जितनी अभी तक कल्पना भी नहीं की गई थी. इसका कारण है अविष्कार और नयी-नयी खोजें. अगर हम समझदार हैं तो दुनिया से गरीबी और भूख को निकाल बाहर कर सकते हैं; यहाँ तक कि महाविनाश तक आ सकता है. इस अणु युग में जीवित रहने के लिए सहिष्णुता, धैर्य, दया और साहस का विकास करने की आवश्यकता है.
Q6. वैज्ञानिक प्रगति ने हमें प्रदान की है
(a) वैभव सम्पन्नता
(b) सम्पन्नता एवं अणुशक्ति
(c) गरीबी और भूख
(d) प्रगति और प्रतिष्ठा
S6. Ans. (b) सम्पन्नता एवं अणुशक्ति
Q7. भावी पीढ़ी में सम्भावनाएँ बढ़ी हैं
(a) विश्वशान्ति की
(b) स्वास्थ्य और स्वच्छता की
(c) भौतिक सम्पन्नता की
(d) विवेक और समझदारी की
S7. Ans. (c) भौतिक सम्पन्नता की
Q8. दुनिया से भूख और गरीबी मिटाने का एकमात्र उपाय है
(a) वैज्ञानिक आविष्कारों में वृद्धि
(b) युवकों का परिश्रमी होना
(c) वैज्ञानिक अविष्कारों का विवेकपूर्ण उपयोग
(d) धैर्य और साहस से काम लेना
S8. Ans. (c) वैज्ञानिक अविष्कारों का विवेकपूर्ण उपयोग
Q9. अणु युग में महाविनाश को बचाने के लिए अत्यन्त आवश्यक है
(a) युद्ध-विराम
(b) सहनशीलता, धैर्य, साहस आदि का विकास
(c) अणुशक्ति का संग्रह करना
(d) संगठन और एकता
S9. Ans. (b) सहनशीलता, धैर्य, साहस आदि का विकास
Q10. इस अनुच्छेद का सर्वाधिक उपयुक्त शीर्षक हो सकता है
(a) अणु युग
(b) मानवीय मूल्यों का संरक्षण
(c) अणु युग और प्रगति की दिशाएँ
(d) आणविक शक्ति : सीमाएँ और सम्भावनाएँ
S10. Ans. (c) अणु युग और प्रगति की दिशाएँ