Latest Teaching jobs   »   Hindi Questions For CTET/KVS/HTET Exam :8th...

Hindi Questions For CTET/KVS/HTET Exam :8th December 2018(Solutions)

Hindi Questions For CTET/KVS/HTET Exam :8th December 2018(Solutions)_30.1
हिंदी भाषा CTET परीक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है इस भाग को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है .बस आपको जरुरत है तो बस एकाग्रता की. ये खंड न सिर्फ CTET Exam (परीक्षा) में एहम भूमिका निभाता है अपितु दूसरी परीक्षाओं जैसे UPTET, KVS,NVS DSSSB आदि में भी रहता है, तो इस खंड में आपकी पकड़, आपकी सफलता में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकती है.TEACHERS ADDA आपके इस चुनौतीपूर्ण सफ़र में हर कदम पर आपके साथ है।
Q1. वाक्य में पदक्रम के नियम के अनुसार होता है-
(a) कर्ता, कर्म, क्रिया
(b) कर्म, कर्ता, क्रिया
(c) क्रिया, कर्ता, कर्म
(d) कर्म, क्रिया, कर्ता
Q2. ‘‘आग की लपटें इतनी तेज थी कि उन्हें बुझा पाना कठिन था।’’ में कौन-सा वाक्य है?
(a) सरल वाक्य
(b) मिश्र वाक्य
(c) संयुक्त वाक्य
(d) इनमें से कोई नहीं
Q3. ‘‘मोहन को हिन्दी पढ़ना है, इसलिए वह शास्त्री जी के यहाँ गया है।’’ किस प्रकार का वाक्य है?
(a) संयुक्त
(b) सरल
(c) मिश्र
(d) गुणवाचक
Q4. शुद्ध वाक्य चुनिए-
(a) वेदों के छः अंग माने जाते हैं।
(b) वेदों में छः अंग माने जाते हैं।
(c) वेदों से छः अंग माने जाते हैं।
(d) वेदों पर छः अंग माने जाते हैं।
Q5. ‘अलभ्य’ का अर्थ है-
(a) जिसे कभी प्राप्त ही न किया जा सके।
(b) जिससे लाभ प्राप्त न किया जा सके।
(c) जिसे कठिनाई से प्राप्त किया जा सके।
(d) जिस हमेशा प्राप्त न किया जा सके।
निर्देंश(6-9) – प्रश्नगत शब्दों में प्रयुक्त संधि हेतु उचित विकल्प का चयन कीजिए।
Q6. अत्यल्प
(a) गुण संधि
(b) यण् संधि
(c) अयादि संधि
(d) वृद्धि संधि
Q7. सच्चरित्र
(a) व्यंजन संधि
(b) गुण संधि
(c) वृद्धि संधि
(d) दीर्घ संधि
Q8. गंगोदक
(a) गंगा + उदक
(b) गंग + ओदक
(c) गंगा + ओदक
(d) गंगा + ऊदक
Q9. युधिष्ठिर
(a) युद्धि + स्थिर
(b) युद्ध + इष्ठिर
(c) युद्ध + इस्थिर
(d) इनमें से कोई नहीं
Q10. ‘तपोधन’ शब्द जिस संधि नियम से बना है उसी नियम से बना इन शब्दों में से कौन-सा शब्द नहीं है?
(a) यशोधन
(b) मनोयोग
(c) गोधन
(d) तपोवन
उत्तरतालिका
S1. Ans.(a)
Sol. व्याख्या- वाक्य में पहले कर्ता, फिर कर्म और अंत में क्रिया रखते हैं, जिससे अर्थ स्पष्ट होने के साथ वाक्य अशुद्ध भी नहीं होता है।
S2. Ans.(b)
Sol. व्याख्या- उपर्युक्त वाक्य मिश्र वाक्य है क्योंकि एक प्रधान उपवाक्य के साथ एक आश्रित उपवाक्य का प्रयोग हुआ है।
S3. Ans.(c)
Sol. व्याख्या- उपर्युक्त वाक्य मिश्र वाक्य है क्योंकि एक प्रधान उपवाक्य के साथ एक आश्रित उपवाक्य का प्रयोग हुआ है।
S4. Ans.(a)
Sol. व्याख्या- ‘‘वेदों के छः अंग माने जाते हैं’’, शुद्ध वाक्य है।
S5. Ans.(a)
Sol. व्याख्या- ‘अलभ्य’ का अर्थ होता है- जिसे कभी प्राप्त ही न किया जा सके। 
S6. Ans.(b)
Sol. व्याख्या- अत्यल्प = अति + अल्प; यण संधि के अनुसार हृस्व अथवा दीर्घ इ, उ, ़ऋ के बाद यदि कोई असवर्ण स्वर आता है तो इ अथवा ई के बदले य् उ अथवा ऊ के बदले व्, ऋ के बदले र् हो जाता है।
S7. Ans.(a)
Sol. व्याख्या- सच्चरित्र में व्यंजन संधि होगी। नियमानुसार ‘त्’ या ‘द्’ के बाद च अथवा छ हो, तो त् या द् के स्थान पर च् हो जाता है।
S8. Ans.(a)
Sol. व्याख्या- गंगोदक का सही विग्रह गंगा + उदक होगा। गुण संधि के नियमानुसार यदि प्रथम शब्द के अंत में हृस्व या दीर्घ अ हो और दूसरे शब्द के आदि में उ हो तो आ + उ का ओ हो जाता है।
S9. Ans.(d)
Sol. व्याख्या- युधिष्ठिर शब्द का संधि विच्छेद ‘युद्ध + स्थिर’ होता है।
S10. Ans.(c)
Sol. यशोधन, मनोयोग तथा तपोवन में विसर्ग संधि है। यहाँ पर अ और विसर्ग का ओ हो जाता है। गोधन इसके अंतर्गत नहीं आता है।
You may also like to read
Hindi Questions For CTET/KVS/HTET Exam :8th December 2018(Solutions)_40.1Hindi Questions For CTET/KVS/HTET Exam :8th December 2018(Solutions)_50.1
Hindi Questions For CTET/KVS/HTET Exam :8th December 2018(Solutions)_60.1