Latest Teaching jobs   »   Hindi Quiz for KVS and NVS...

Hindi Quiz for KVS and NVS Exam

Hindi Quiz for KVS and NVS Exam_30.1
Directions (1-5): नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में एक रिक्त स्थान छूटा हुआ है और उसके नीचे पांच शब्द सुझाए गए है। इनमें से कोई एक उस रिक्त स्थान पर रख देने से वह वाक्य एक अर्थपूर्ण वाक्य बन जाता हैं। सही शब्द ज्ञातकर उसके क्रमांक को उत्तर के रूप में अंकित कीजिए, दिए गए शब्दों में से सर्वाधिक उपयुक्त शब्द का चयन करना है।

Q1. एक वर्ग ऐसा है जो इतिहास बनाता है और दूसरा वर्ग इतिहास को ________ है।
(a) सुनाता
(b) देखता
(c) भोगता
(d) रचता 
(e) इनमें से कोई नहीं

Q2. बचपन किसी का रहता नहीं है, वह चला जाता है, इसलिए उसके प्रति हमारा _____ इतना अधिक है।
(a) भावना
(b) करूणा
(c) जलन
(d) आकर्षण
(e) इनमें से कोई नहीं

Q3. आत्मा के लिए हम कितना ही _________ क्यों न करें, आगे के दुरूह पथ में जाकर वह कहाँ जा छिपता है, इसका पता तक हमें नहीं मिलता।
(a) प्रलाप
(b) विलाप
(c) आलाप
(d) संताप्त
(e) इनमें से कोई नहीं

Q4. हमारे मित्रों में अनेक ________ अब भी ऐसे हैं जिनके लिए कहा जाता है कि उनका बचपन अर्थात् उनकी मूर्खता अब तक गई नहीं।
(a) युवा
(b) युवक
(c) युवती
(d) तरूण 
(e) इनमें से कोई नहीं

Q5. पराधीनता _______ का जन्म देती है।
(a) कर्मण्यता
(b) अकर्मण्यता
(c) वीरता
(d) साहसी
(e) इनमें से कोई नहीं

Directions (6-10): नीचे दिए गए परिच्छेद में कुछ रिक्त स्थान छोड़ दिए गए हैं तथा उन्हें प्रश्न संख्या में दर्शाया गया है। ये संख्याएँ परिच्छेद के नीचे मुद्रित हैं, प्रत्येक के सामने (a), (b), (c), (d) और (e) विकल्प दिए गए हैं। इन पांचों में से कोई एक इस रिक्त स्थान को पूरे परिच्छेद के संदर्भ में उपयुक्त ढंग से पूरा कर देता है। आपको वह विकल्प ज्ञात करना है, और उसका क्रमांक ही उत्तर के रूप में दर्शाना है। दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त विकल्प का चयन करना है।

मनुष्य स्वभावतः एकाकीपन पसन्द नहीं करता। परिवार अथवा समाज में रहते हुए भी हमें एक ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता अनुभव होती है, जिससे हम हृदय की बात निस्संकोच रूप से कह सकें। पारिवारिक मर्यादाओं के कारण पारिवारिक सदस्यों के सम्मुख हम अपने (6) वास्तविक रूप में नहीं रख पाते। परन्तु हृदय तो अभिव्यक्ति के लिए सदा आकुल रहता है। हमारा अन्तःकरण जिससे (7) नहीं रखता, जिसके सम्मुख खुल सकता है, वही हमारा सुहृद है। ऐसे मित्र प्रयन्तपूर्वक बनाए नहीं जाते, (8) ही मिल जाते है। हमारा मित्र हमारा ही प्रतिरूप होता है। विपरीत विचारों वाले मित्र भी (9) रूप में मिलते हैं। परन्तु विचारों और स्थिति की समानता घनिष्ठ मित्रता के लिए अत्यन्त आवश्यक है। सामान्यतः दो (10) विचारों की टकराहट अशान्ति को ही जन्म देती है। जान-पहचान बढ़ाने वाले तो रास्ते चलते भी मिलेंगे पर वे स्वार्थपरायण होंगे और उनका सरोकार अपनी सुख-सुविधा एवं विलासिता तक सीमित होगा। उपयुक्त मित्र मिलना जीवन की सार्थकता है।  

Q6.
(a) संकल्प
(b) विकल्प
(c) स्वप्न
(d) मनोभाव 
(e) इनमें से कोई नहीं

Q7.
(a) अनुराग
(b) विराग
(c) दुराव
(d) भुलाव
(e) इनमें से कोई नहीं

Q8.
(a) सायास
(b) अनायास 
(c) बहुप्रयास 
(d) विपर्यास
(e) इनमें से कोई नहीं

Q9.
(a) निर्विवाद
(b) प्रतिवाद 
(c) संवाद
(d) अपवाद
(e) इनमें से कोई नहीं

Q10.
(a) अकूल
(b) अनूकूल
(c) प्रतिकूल
(d) असंगत 
(e) इनमें से कोई नहीं

Solutions:
S1 Ans. (c)
S2 Ans. (d)
S3 Ans. (b)
S4 Ans. (d)
S5 Ans. (b)
S6 Ans. (d)
S7 Ans. (c)
S8 Ans. (b)
S9 Ans. (d)
S10 Ans. (c)