Latest Teaching jobs   »   Hindi Quiz For CTET & KVS/NVS...

Hindi Quiz For CTET & KVS/NVS Exams 2017

Hindi Quiz For CTET & KVS/NVS Exams 2017_30.1



Directions (01-10): नीचे दिए गए परिच्छेद में कुछ रिक्त स्थान छोड़ दिए गए हैं तथा उन्हें प्रश्न संख्या से दर्शाया गया है। ये संख्याएं परिच्छेद के नीचे मुद्रित हैऔर प्रत्येक के सामने (a), (b), (c) और (d) विकल्प दिए गए हैं। इन पांचों में से कोई एक इस रिक्त स्थान को पूरे परिच्छेद के संदर्भ में उपयुक्त ढंग से पूरा कर देता है। आपको वह विकल्प ज्ञात करना हैऔर उसका क्रमांक ही उत्तर के रूप में दर्शाना है। आपको दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त विकल्प का चयन करना है।


मेरे हिसाब से सफलता का एक ही (1) है: कठिन मेहनत। मैंने हमेशा खुद पर भरोसा किया। करियर के दौरान तमाम बार कठिन दौर आएपर मैंने हार नहीं मानी। मैंने कोशिश नहीं छोड़ी। खुद पर भरोसा किया और जब कभी निराशा बहुत बढ़ गईतब मैंने हमेशा अपने कोच और परिवार के लोगों की बात सुनीजिन्हें मेरी (2) पर पूरा भरोसा था। मैं सचमुच खुशनसीब हूँ कि मुझे कर्नल ढिल्लन जैसे कोच मिले जिन्होंने बड़ी शिद्दत से मुझे जीत के लिए तैयार किया। 

उन दिनों शहर में बड़े शापिंग माल नहीं हुआ करते थे। आजकल तो बच्चे स्कूल के बहाने माल में समय बिताने चले जाते हैंहमारे दिनों में ऐसा नहीं था। स्कूल से लौटने के बाद मुझे (3) करना पड़ता था। माँ मेरी दिनचर्या का पूरा ख्याल रखती थीं। उन दिनों लोग निशानेबाजी के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते थे। सबका ध्यान क्रिकेट पर था। तब मेरी उम्र 13 वर्ष की थी। 1996 के अटलांटा ओलंपिक के दौरान मैंने अपनी बहन से कहामैं एक दिन गोल्ड मेडल जीतूंगा। उसके बाद मैं निशानेबाजी को लेकर बेहद गंभीर हो गया। मैं निशानेबाजी पर ज्यादा से ज्यादा समय बिताने लगामुझे इसमें (4) आने लगा। मेरा प्रदर्शन लगातार सुधर रहा थामेरे मन में एक बड़ी जीत की ललक पनपने लगी थी। जीत की ललक ने ही मुझे (5) तक पहुँचने में मदद की।

उन दिनों अपने देश में निशानेबाजी को प्रोत्साहित करने के लिए बहुत अच्छा (6) नहीं था। प्रशिक्षण की ऐसी व्यवस्था नहीं थी कि खिलाड़ियों को विश्व स्तरीय प्रतियोगिता के लिए तैयार किया जा सके। आप (7) हैं कि आज हमारे देश में बेहतर सुविधाएँ हैंबेहतर खेल संस्थाएँ हैंजो खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने और उनकी मदद के लिए हर संभव कोशिश कर रही हैं। हमारे दिनों मे यह सब नहीं था। खेल में जीतने के लिए सिर्फ इतना काफी नहीं है कि आप बहुत (8) हैं या फिर आपने बहुत अभ्यास किया है, इससे भी ज्यादा अहम बात यह है कि आप (9) रूप से बहुत मजबूत होंताकि अपने सामने बड़े से बढ़े खिलाड़ी को देखकर भी आपको घबराहट न हो। कई बार (10) होना ही आपकी हार का कारण बन जाता है।

Q1.
(a) परिपाटी
(b) रूप
(c) मंत्र
(d) सूत्र

Q2.
(a) तबियत
(b) स्वास्थ्य
(c) सम्मान
(d) योग्यता

Q3.
(a) गृहकार्य
(b) व्यायाम
(c) अभ्यास
(d) स्नान

Q4.
(a) आनन्द
(b) कुशल
(c) सजा
(d) प्रसन्नता

Q5.
(a) पुरस्कार
(b) पदक
(c) पथ
(d) मंजिल

Q6.
(a) प्रशिक्षक
(b) मैदान
(c) प्रोत्साहन
(d) माहौल

Q7.
(a) होनहार
(b) सज्जन
(c) भाग्यशाली
(d) परिश्रमी

Q8.
(a) प्रयत्न
(b) परिश्रमी
(c) श्रम
(d) व्यय

Q9.
(a) शारीरिक
(b) मनसिक
(c) बौद्धिक
(d) हार्दिक

Q10.
(a) उत्साही
(b) घमंडी
(c) हतोत्साही
(d) डर
समाधान

S1Ans.(d)

S2Ans.(d)

S3Ans.(c)

S4Ans.(a)

S5Ans.(d)

S6Ans.(d)

S7Ans.(c)

S8Ans.(b)

S9Ans.(b)

S10Ans.(c)