Hindi Quiz for KVS and NVS Exam_00.1
Latest Teaching jobs   »   Hindi Quiz for KVS and NVS...

Hindi Quiz for KVS and NVS Exam

Hindi Quiz for KVS and NVS Exam_40.1

Direction (1-15) : नीचे दिए गए गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और उस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए।

आजकल समाचार पत्रों समेत विभिन्न मंचों पर आए दिन यह मांग उठती रहती है कि सरकार को सरकारी बैंकों में अपनी हिस्सेदारी कम करनी चाहिए। इसके पीछे मूल दलील यह है कि सरकारी बैंक सरकार की गांरटी के चलते प्रतिस्पर्धी नहीं बन पाये हैं। इसके अलावा सरकारी बैंकों की कामकाजी शैली के कारण कुल गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) का 86 प्रतिशत हिस्सा इन्हीं बैंकों के पास है जब कि सभी बैकों की कुल संपत्ति में उनकी हिस्सेदारी 75 प्रतिशत हैं।
पिछले 10 सालों की बात की जाए तो आर्थिक सहयोग एवं विकास संगठन (ओईसीडी) के देशों में निजी बैंकों और कंपनियों को सरकारी सहायता दिए जाने के कई मामले सामने आए हैं। इनमें दिग्गज अमेरिकी वाहन कंपनियां तक शमिल हैं। भारत की बात की जाए तो ग्लोबल ट्रस्ट बैंक और सत्यम की गड़बड़ियाँ ध्यान में आती हैं। जनता की स्मृति कई मामलों में बहुत कमजोर होती है। वर्ष 1992 में सामने आए घोटाले में भारतीय और विदेशी निजी बैंक शमिल थे जिन्हें शेयरों की खरीद फरोख्त में अवैध रूप से पैसा लगाने का दोषी पाया गया था। यह बात मानने लायक नहीं है कि उस वक्त सरकारी और निजी बैंकों अथवा करोबारी समुदाय के लोगों को यह अंदाजा नहीं रहा होगा कि शेयर कीमतों में उछाल गलत तरीक से लाई गई है और इसलिए उसमें स्थायित्व की उम्मीद करना बेमानी है।
अर्थशास्त्रियों कारमेन रेनहार्ट और केनेथ रोजॉफ की किताब ‘द टाइम इज डिफरेंट’ में वित्तीय क्षेत्रों की गड़बड़ियों में निजी बैंको की भागीदारी की बात का उल्लेख किया गया है।
भारत में वित्तीय संस्थानों (एफआई) और सरकारी वित्तीय संस्थानों (पीएफआई) का गठन संसद के अधिनियम के तहत किया गया था ताकि औद्योगिक और बुनियादी ढांचा क्षेत्र की परियोजनाओं में निवेश किया जा सके। आजादी के बाद के कई दशकों के दौरान एफआई और पीएफआई को आरबीआई और सरकार की ओर से रियायती दर पर धनराशि प्राप्त हुई। समय बीतने के साथ रियायती फंडिंग समाप्त हो गई और ये संस्थान बॉन्ड से मिलने वाली फंडिंग पर अधिक निर्भर होते गए।
धीरेधीरे इन दोनों श्रेणियों का भेद खत्म हो गया और उन्हें एक साथ मिलाकर डेवलपमेंट फाइनैंस इंस्टिट्यूशंस (डीएफआई) का नाम दिया गया। डीएफआई के लिए बांड फंडिंग हासिल करना कठिन बना रहा क्योंकि हमारे देश में लंबी अवधि के ऋण बाजार विकसित नहीं हैं। डीएफआई और बैंकों के बीच का अंतर भी कम हुआ। आईसीआईसीआई बैंक पहले डीएफआई था और बाद में वह निजी बैंक बन गया। भारतीय औद्योगिक विकास बैंक (आईडीबीआई) के साथ भी यही बात है।
जहाँ तक वित्तीय क्षेत्र की अन्य श्रेणियों की बात है तो अतीत में सहकारी बैंकों की विफलता भी दृष्टिगोचर रही है। माधवपुरम मर्केंटाइल कोऑपरेटिव बैंक घोटाला हमारे सामने है। हालांकि आरबीआई ने ऐसे बैंकों के सहकारी समिति के रूप में पंजीकरण की निगरानी सख्त की है लेकिन फिर भी इनमें जवाबदेही का अभाव होता है। राष्ट्रीय आवास बैंक (एनएचबी) इसका एक अन्य उदाहरण है जिसकी स्थापना वर्ष 1987 में एक अधिनियम के तहत की गई थी। यह बात स्पष्ट नहीं है कि एनएचबी ने हाउसिंग फाइनैंस पर क्या असर डाला अथवा क्यों। इसका स्वामित्व आरबीआई के पास है और उसका मुख्यालय देश की व्यावसायिक राजधानी मुंबई के बजाय दिल्ली को बनाया गया है।
देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक में सरकार की हिस्सेदारी तकरीबन 62 प्रतिशत है जबकि तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) में इसकी हिस्सेदारी 69 प्रतिशत है। आईडीबीआई में सरकार की हिस्सेदारी 72 प्रतिशत, आईएफसीआई में 56 प्रतिशतबीएचईएल में 67 प्रतिशतएनटीपीसी में 75 प्रतिशत और कोल इंडिया में 90 प्रतिशत हिस्सेदारी है। भारतीय जीवन बीमा निगमडीएफआईराज्य वित्त निगम और राज्य औद्योगिक विकास निगम आदि कुछ ऐसे संस्थान हैं जिनमें निजी क्षेत्र और सरकारी बैंक दोनों की हिस्सेदारी है। एलआईसी के निवेश पोर्टफोलियो में दीर्घावधि की सरकारी प्रतिभूतियाँ शमिल हैं। चूंकि एलआईसी सरकारी स्वामित्व वाली संस्था है इसलिए उसका सरकारी संस्थानेां में निवेश करना उचित ही है।
सरकारी बैंकोंवित्तीय संस्थानों और अन्य सरकारी उद्यमों की आपसी भागीदारी की स्थिति जहाँ अस्पष्ट है वहीं सरकार यदि सार्वजनिक पहुंच वाली वेबसाइटों पर इनमें अपनी प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष हिस्सेदारी का ब्योरा देती है तो बेहतर होगा। इसके अलावा सुधार के लिए पहले आसान लक्ष्यों पर काम किया जाना चाहिए। उदाहरण के लिए एसबीआई तथा अन्य सरकारी बैंकों में सरकारी हिस्सेदारी कम करने की जहाँ तक बात है तो संबंधित अधिनियम में संशोधन किए बिना इस हिस्सेदारी को घटाकर 50 प्रतिशत से कम नहीं किया जा सकता है। सरकार के पास आगामी आम चुनाव के पहले चार महीने का समय ही बचा है और इस दौरान उसे अपनी प्राथमिकताएँ तय करनी होंगी।
खबरों के मुताबिक वित्त मंत्रालय ने आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति को हाल में ही बताया कि 62 कोयला ब्लाक का आवंटन रद्द करने से एनपीए में एक लाख करोड़ रुपये का इजाफा होगा। यह सब ऐसे समय में हो रहा है जबकि पिछले एक साल के दौरान एनपीए में बहुत तेज गति से इजाफा हुआ है। सरकारी बैंकों पर इसका काफी असर होगा। इसके अलावा ऐसी खबरें भी थीं कि सरकार ने सरकारी बैंकों में पूंजी डालने के लिए सरकारी उद्यमों का विनिवेश करने का फैसला भी किया है। यह सही नहीं है। बेहतर होता अगर सरकारी उद्यमों को बेहतर बनाने में निवेश किया जाता और सरकार उनके मुख्य कार्याधिकारियों के चयन की प्रक्रिया को अधिक पारदर्शी बनाती। इससे भी अधिक महत्त्वपूर्ण बात यह है कि सरकार को कोल इंडिया और एलआईसी में अपनी हिस्सेदारी कम करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। यह खबर तो सबको है ही कि आरबीआई निजी क्षेत्र के लिए नए बैंकिंग लाइसेंस जारी करने जा रहा है। ऐसे में इन नए बैंकों को चलाने और प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जाना चाहिए। यकीनन नए निजी बैंकों के आगमन से सरकारी और निजी बैंकों के बीच का अंतर तो खत्म नहीं होगा और सरकारी बैंकों को सरकार का सहारा पहले की तरह ही मिलता रहेगा। इसके अलावा सरकारी बैंकों में अपर्याप्त प्रशिक्षण वाले कर्मचायिों की भी भरमार है जिनको निकाला नहीं जा सकता है।

Q1. आजकल समाचार पत्रों समेत विभिन्न मंचों पर आए दिन यह मांग उठती रहती है कि सरकार को सरकारी बैंकों में अपनी हिस्सेदारी कम करनी चाहिए” – इस वाक्य में प्रयुक्त मांग’ शब्द का प्रयोग नहीं करना हो तो कौन-सा शब्द उसकी जगह सटीक बैठता है?
(a) दावा
(b) याचना
(c) आलोचना
(d) विरोध
(e) आवाज

Q2. “सभी बैंकों की कुल संपत्ति में उनकी हिस्सेदारी 75 फीसदी है – इस वाक्य में प्रयुक्त उनकी शब्द का प्रयोग किसके लिए किया गया है ?
(a) सरकार
(b) सरकारी बैंक
(c) निजी बैंक
(d) विदेशी बैंक
(e) आर बी आई

Q3. उपरोक्त गद्यांश को किसके अंतर्गत रखा जा सकता है ?
(a) संस्मरण
(b) आलेख
(c) निबंध
(d) वृत्तचित्र
(e) कहानी

Q4. गद्यांश में प्रयुक्त जनता की स्मृति कई मामलों में बहुत कमजोर होती है वाक्यांश को किस संदर्भ में प्रयोग किया गया है स्मृति इसलिए कमजोर होती है क्योंकि:
(a) अच्छे-अच्छे विद्वान भी भूल जाते हैं
(b) लोगों को पोषण आहार युक्त भोजन नहीं मिलता है
(c) देश में याददाश्त तेज करने की दवा नहीं मिलती है
(d) लोग पिछली घटनाओं से कोई सबक नहीं लेते हैं
(e) देश में लोगों को याददशत तेज करने का प्रशिक्षण नहीं दिया जाता है

Q5. वाक्य- स्थायित्व की उम्मीद करना बेमानी है – से किस भाव की अभिव्यक्ति होती है ?
(a) हानि
(b) असुरक्षा
(c) बिखराव
(d) जोखिम
(e) लाभ

Q6. “रियायती दर पर धनराशि प्राप्त हुई – इस वाक्य में प्रयुक्त रियायत शब्द का स्थान कौन-सा शब्द नहीं ले सकता है ?
(a) किफायती
(b) बैंक
(c) सस्ते
(d) कम
(e) पर्याप्त

Q7. कौन-सा बैंक पहले डेवलपमेंट फाइनेंस इंस्टिट्यूशंस (डी एफ आई) था और बाद में वह निजी बैंक बन गया ?
(a) आईसीआईसीआई बैंक
(b) केनरा बैंक
(c) सिंडिकेट बैंक
(d) देना बैंक
(e) पंजाब एंड सिंध बैंक

Q8. आरबीआई निजी क्षेत्र के लिए नए बैंकिंग लाइसेंस जारी करने जा रहा है” । वाक्य में प्रयुक्त-लाइसेंस -अंग्रेजी का शब्द है। इसका हिन्दी में क्या अर्थ है?
(a) प्रशस्ति
(a) ख्याति
(a) अनुज्ञप्ति
(a) आभूषण 
(a) प्रदीप्ति

Q9. गद्यांश में प्रयुक्त- ब्योरा – शब्द का विलोम शब्द बताइए?
(a) विस्तृत
(b) वर्णित
(c) स्पष्टीकरण
(d) संक्षिप्त
(e) सूचित

Q10. एलआईसी के निवेश पोर्टफोलियो में दीर्घावधि की सरकारी प्रतिभूतियाँ शामिल हैं” – वाक्य में प्रयुक्त – प्रतिभूतियाँ शब्द का पर्यायवाची शब्द क्या है?
(a) स्वबन्ध
(b) जमानत
(c) जोखिम
(d) निवेश
(e) भागीदार
Solutions:

S1 Ans. (e)                             
S2 Ans. (a)
S3 Ans. (b)
S4 Ans. (d)
S5 Ans. (b)
S6 Ans. (b)
S7 Ans. (a)
S8 Ans. (c)
S9 Ans. (d)
S10 Ans. (b)



Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Login

OR

Forgot Password?

Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Sign Up

OR
Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Forgot Password

Enter the email address associated with your account, and we'll email you an OTP to verify it's you.


Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Enter OTP

Please enter the OTP sent to
/6


Did not recive OTP?

Resend in 60s

Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Change Password



Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Almost there

Please enter your phone no. to proceed
+91

Join India's largest learning destination

What You Will get ?

  • Job Alerts
  • Daily Quizzes
  • Subject-Wise Quizzes
  • Current Affairs
  • Previous year question papers
  • Doubt Solving session

Enter OTP

Please enter the OTP sent to Edit Number


Did not recive OTP?

Resend 60

By skipping this step you will not recieve any free content avalaible on adda247, also you will miss onto notification and job alerts

Are you sure you want to skip this step?

By skipping this step you will not recieve any free content avalaible on adda247, also you will miss onto notification and job alerts

Are you sure you want to skip this step?